19.1 C
Ranchi
Thursday, February 22, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeउत्तर प्रदेशआगराAgra News: इलाज के अभाव में PWD कर्मचारी की मौत, 5 महीने से नहीं मिला वेतन, जानें पूरा मामला

Agra News: इलाज के अभाव में PWD कर्मचारी की मौत, 5 महीने से नहीं मिला वेतन, जानें पूरा मामला

आगरा में लोक निर्माण विभाग का खाता कुर्क होने के चलते कई कर्मचारियों को 5 महीने से वेतन नहीं मिला है. ऐसे में उनके सामने अपने परिवार को चलाने का संकट खड़ा हो गया है. आर्थिक तंगी के चलते विभाग में तैनात एक चौकीदार की इलाज के अभाव में मौत हो गई.

आगरा में लोक निर्माण विभाग का खाता कुर्क होने के चलते यहां तैनात कर्मचारियों को 5 महीने से वेतन नहीं मिला है. ऐसे में उनके सामने अपने परिवार को चलाने का संकट खड़ा हो गया है. विभाग में तैनात एक चौकीदार की आर्थिक तंगी के चलते इलाज के अभाव में मौत हो गई. टेढ़ी बगिया निवासी 55 वर्षीय रामनाथ पीडब्ल्यूडी में चौकीदार के पद पर तैनात थे. रामनाथ के पुत्र मूलचंद द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक परिवार में नौ सदस्य हैं. पिता को करीब 40000 रुपए महीने वेतन मिलता था. बेटे ने बताया कि उसकी शादी हो चुकी है. उसके दो बच्चे भी हैं. जूता फैक्ट्री में वह 10000 रुपए की नौकरी करता है. उसके छोटे भाई और बहन हैं, जिनकी पढ़ाई का खर्चा पिता के वेतन से होता था. लेकिन करीब 6 महीने पहले उसके पिता सड़क दुर्घटना में घायल हो गए थे. जिसकी वजह से उनके इलाज पर बहुत पैसा खर्च हुआ था. कुछ समय बाद आर्थिक संकट से उबर पाए तो उसके पिता के लीवर व फेफड़ों में संक्रमण फैल गया. ऐसे में आगरा के एक निजी अस्पताल में 3 महीने से उनका इलाज चल रहा था.

Also Read: सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के विरोध में आगरा में प्रदर्शन, अशोक गहलोत-डीजीपी को गिरफ्तार करने की मांग
घर के जेवर रख दिए गिरवी

रामनाथ के बेटे ने बताया कि पैसे की कमी होने के चलते उन्होंने अपनी मां और पत्नी के जेवर गिरवी रख दिए. इसके बाद 200000 रुपए ब्याज पर मिला. लेकिन वह पैसा भी इलाज में खर्च हो गया. अब इलाज कराने के लिए उनके पास बिल्कुल भी पैसा नहीं था. किसी ने उन्हें कर्ज भी नहीं दिया. ऐसे में पैसा ना होने के चलते वह अपने पिता का इलाज नहीं करा पाए. जिसके कारण उसके पिता की मृत्यु हो गई. मृतक कर्मचारी रामनाथ की पत्नी बेबी ने बताया कि ऐसी सरकारी नौकरी से क्या फायदा 5 महीने से वेतन ही नहीं मिला. दिवाली के त्योहार पर भी घर में आर्थिक संकट था. जो पैसा था सब इलाज में खर्च हो गया. अब घर में भुखमरी के हालात है. वहीं कर्मचारी की मौत से पीडब्ल्यूडी कर्मियों में भी विरोध है.

कर्मचारी की मौत से पीडब्ल्यूडी कर्मियों में आक्रोश

पीडब्ल्यूडी कार्यालय पर कर्मचारी संगठनों ने गुरुवार को बैठक की, जिसमें कर्मचारी नेता ओमवीर शर्मा ने बताया कि आर्थिक संकट से जूझ रहे कर्मचारियों ने बेम्यादि कार्य बहिष्कार किया था. तब 10 से 12 दिन में वेतन मिलने का आश्वासन दिया गया था, लेकिन अभी तक एक भी रुपया नहीं मिला है. लोक निर्माण विभाग संयुक्त कर्मचारी वेलफेयर एसोसिएशन के क्षेत्रीय महामंत्री ओमवीर शर्मा ने बताया कि व्यावसायिक कोर्ट के आदेश पर पीडब्ल्यूडी का बैंक खाता जुलाई से कुर्क कर दिया गया है. इसकी वजह से वेतन, चिकित्सा प्रतिपूर्ति व अन्य भुगतान बंद है. ऐसे में कर्मचारियों के आश्रित वृद्ध माता-पिता, बच्चे व अन्य परिजन परेशान हैं. बच्चों की स्कूल की फीस जमा नहीं हो पा रही और कर्मचारी अपने बुजुर्ग माता-पिता का इलाज नहीं कर पा रहे हैं. अगर ऐसी ही स्थिति रही तो आगे और भी संकट आ सकता है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें