1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. varanasi
  5. samajwadi party leader entry in azan and hanuman chalisa controversy in varanasi

काशी में अजान और हनुमान चालीसा विवाद में सपा नेता ने छेड़ा नया राग, लोगों को सुना रहे ये फिल्मी गाना

बनारस में अजान और हनुमान चालीस को लेकर विवाद उठने से सुर्खियों में है. इस विवाद में साधु-संतों और मुस्लिम धर्मगुरुओं के बाद अब सपा नेता की भी एंट्री हो गई है.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Varanasi
Updated Date
 लाउडस्पीकर
लाउडस्पीकर
सोशल मीडिया

Varanasi News: धर्म और संस्कृति के लिए दुनियाभर में पहचान रखने वाला बनारस शहर इस समय अजान और हनुमान चालीस को लेकर विवाद उठने से सुर्खियों में है. इस विवाद में साधु-संतों और मुस्लिम धर्मगुरुओं के बाद अब सपा नेता की भी एंट्री हो गई है. बनारस के लक्सा क्षेत्र निवासी सपा नेता रविकांत विश्वकर्मा ने अपनी छत पर लाउड स्पीकर लगवाए हैं, जिसके माध्यम से वह वह रोजाना सुबह और शाम के समय हनुमान चालीसा या अजान नहीं बल्कि एक फिल्मी गाना बजा रहे हैं.

सपा नेता रविकांत विश्वकर्मा ने अपनी छत पर लाउड स्पीकर से सुबह और शाम के समय 'महंगाई डायन खाए जात हौ...' बजा रहे हैं. वह इस गानें को क्षेत्र की जनता को सुनाकर महंगाई, बेरोजगारी और शिक्षा-स्वास्थ्य के क्षेत्र में सरकारी तंत्र की विफलता के प्रति आगाह कर रहे हैं. उनका कहना है कि हनुमान चालीसा लाउड स्पीकर के माध्यम से सुनाकर जनता को असली मुद्दों से गुमराह करने की कोशिश की जा रही हैं.

सपा नेता रविकांत का कहना है कि अजान और हनुमान चालीसा का मसला तो जानबूझकर इसलिए उछाला गया है ताकि बुनियादी समस्याओं की ओर जनता का ध्यान ही न जाए. तेज अजान का जवाब हनुमान चालीसा के लाउड स्पीकर द्वारा दिए जाने के पीछे बस एक ही कारण है कि जनता महंगाई - बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर भटक जाए. औऱ धर्म की राजनीति में उलझकर अपने अधिकारों के प्रति सजग न रह पाए. उन्होंने कहा कि सिर्फ सांसों का थम जाना ही मृत्यु नहीं है. वह व्यक्ति भी मरा हुआ है जिसमें गलत को गलत कहने की हिम्मत नहीं होती है.

आज देश में मुख्य मुद्दा महंगाई, बेरोजगारी, अच्छी शिक्षा, बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं और सुरक्षा है. लाउड स्पीकर से सुनाई देने वाली अजान और हनुमान चालीसा नहीं है. सपा नेता ने कहा कि मुद्दे हमेशा जिंदा रहेंगे क्योंकि मैं भी जिंदा हूं. हम समाज की ज्वलंत समस्याओं को उठाते रहेंगे और जनता को यह भी बताते रहेंगे कि क्या सही और गलत है. उन्हें इसके लिए भी आगाह करेंगे कि आपको वास्तविक मुद्दों से भटकना नहीं है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें