34.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Advertisement

Lakhimpur Kheri: लखीमपुर खीरी में फिर बेटी की हत्या, दुष्कर्म में असफल होने पर दो युवकों ने की थी पिटायी

लखीमपुर खीरी के भीरा थाना क्षेत्र के एक गांव से एक बार फिर दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है, यहां दुष्कर्म की मंशा से घर में घुसे दो युवक, जब गलत काम करने में असफल हो गए, तो उन्होंने किशोरी की पिटाई कर दी, पीड़िता की चौथे दिन इलाज के दौरान मौत हो गई.

Lakhimpur Kheri: लखीमपुर खीरी की पहचान अब अपराध और अपराधियों के नाम से होने लगी है. जिले के निघासन में दो बहनों के साथ दरिंदगी और हत्या की घटना के सदमे से परिवार पूरी तरह उभरा भी नहीं था कि जिले में एक और घटना ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान लगा दिए हैं. मामला भीरा थाना क्षेत्र के एक गांव का है, जहां दुष्कर्म की मंशा से घर में घुसे युवकों ने असफल होने पर किशोरी की पिटाई कर दी. पीड़िता की चौथे दिन इलाज के दौरान मौत हो गई.

दुष्कर्म करने का किया प्रयास, असफल होने पर की पिटाई

लखीमपुर खीरी के भीरा थाना क्षेत्र में किशोरी के गांव के ही रहने वाले सलीमुद्दीन और आसिफ उसके साथ अभद्रता करने लगे, फिर गलत मंशा के साथ किशोरी के घर में घुस गए,और फिर उसके साथ दुष्कर्म का प्रयास किया, और जब सफल नहीं हो सके तो किशोरी की बेरहमी से पिटाई कर दी, और मौके से फरार हो गए. घटना के बाद किशोरी को बिजुआ सीएचसी में इलाज के लिए भर्ती कराया गया, जहां चौथे दिन यानी 16 सितंबर की शाम किशोरी की मौत हो गई.

मृत किशोरी के भाई ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

मृत किशोरी के भाई का आरोप है कि पुलिस ने धाराओं में खेल करने के लिए दुष्कर्म के प्रयास का मामला ही केस से हटा दिया था. पीड़िता के भाई ने कहा कि, मुकदमा सिर्फ मारपीट का दर्ज किया था, जबकि मामला दुष्कर्म के प्रयास और मारपीट का था. पीड़ित परिवार जब थाने गया तो वहां दरोगा ने बात का घुमा फिराकर समझाने का प्रयास किया. दरोगा ने कहा कि मारपीट ज्यादा गंभीर अपराध है. शिकायत में यही लिखवाओ.

Also Read: Lakhimpur Kheri Case: ‘बेटियों को भेड़ियों की तरह घसीटकर ले गए दरिंदे’, मां ने बतायी खौफनाक कहानी
इलाज के दौरान किशोरी ने तोड़ा दम

मृत किशोरी के भाई ने आरोप लगाया कि, तहरीर लेखक के पास पहुंचे तो उसने सिर्फ वादिनी का नाम और आरोपियों के नाम लिखे, लेकिन घटना के बारे में कुछ भी नहीं पूछा, और फिर खुद से मारपीट की तहरीर लिख दी, जिसके आधार पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया. वहीं दूसरी ओर मारपीट में गंभीर रूप से घायल हुई किशोरी को बिजुआ सीएचसी में भर्ती कराया, जहां उसे कोई फायदा नहीं हुआ.

मामले में क्या हुई कार्रवाई

घटना को लेकर परिजनों का आरोप है कि उसे अंदरूनी चोटें आईं थी. किशोरी की जब शुक्रवार को फिर से तबीयत बिगड़ी तो परिजन एक बार फिर उसे लेकर बिजुआ सीएचसी पहुंचे, जहां उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई. बता दें कि किशोरी के पिता की पहले ही मौत हो चुकी है. इस पूरे घटनाक्रम को लेकर एसपी संजीव सुमन का कहना है कि, 12 सितम्बर को मारपीट हुई थी. परिजनों ने जो तहरीर दी थी, वह मुकदमा दर्ज किया गया था. सूचना मिली है कि युवती की मौत हो गई है. मुकदमे में धराएं बढ़ाई जा रही है. पूरे मामले में कार्रवाई होगी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें