1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. sholay film veeru in up yogi government utter pradesh latest updates drama bollywood govt take action prt

योगी राज में अगर शोले के 'वीरू' बने तो खैर नहीं, सरकार उठा रही है ये बड़ा कदम

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
यूपी में अगर शोले के 'वीरू' बने तो खैर नहीं
यूपी में अगर शोले के 'वीरू' बने तो खैर नहीं
Social Media

उत्तर प्रदेश में पानी की टंकी पर चढ़कर सीन क्रिएट करने वालों पर शिकंजा कसने के लिए योगी सरकार ने प्रदेश में स्थापित सभी पानी टंकियों की सीढ़ियों को लॉक करने का आदेश दिया है. साथ ही जो पानी टंकी इस्तेमाल में नहीं है, उसकी सीढियों और टंकियों को भी तोड़ दिये जाने का ऑर्डर दिया गया है. यह फैसला ऐसे समय में लिया गया है, जब हाल ही में एक वकील अपने पूरे परिवार के साथ एक पानी की टंकी पर चढ़ गये और धमकी दी कि मांग पूरी न होने पर वे अपने पूरे परिवार के साथ सुसाइड कर लेगा. इसी तरह शाहजहांपुर में पांच किसान पानी की टंकी पर चढ़ गये थे. प्रदेश में ऐसी हरकत को देखते हुए योगी सरकार ने यह फैसला लिया है.

  • आये दिन पानी की टंकी पर चढ़ने की घटनाओं से सरकार परेशान

  • 60 घंटों तक चला था टंकी-सीन

वकील और उसका परिवार प्रयागराज में एक पानी की टंकी पर चढ़ गया था, जो 60 घंटों तक टंकी पर ही चढा रहा. वकील विजय प्रताप की मांग थी की कि उन पर लगाये गये झूठे आरोपों की सीबीआइ जांच हो. इस दौरान उन्होंने धमकी दी की अगर उनकी मांग पूरी नहीं हुई ती, तो वे अपने परिवार के साथ पेट्रोल डालकर आग लगा लेंगे. हालांकि एडीएम एके कनौजिया की बात मानकर वह नीचे उतर आये.

उपज नहीं बेच पाने पर पांच किसानों ने टंकी पर चढ़ दी धमकी पिछले सफ्ताह शाहजहांपुर में पांच किसान पानी की टंकी पर चढ़ गये. इनका कहना था कि वे खरीदी केंद्र पर अपनी उपज नहीं बेच पा रहे हैं. ऐसी घटनाओं को देखते हुए एक अधिकारी ने कहा कि शोले की ये वीरू जैसी घटनाएं आये दिन हो रही हैं. पानी की टंकियां पर चढ़कर धमकी देना प्रशासन को उनकी मांग को मानने के लिए मजबूर करती हैं.

इसलिए ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए यह कदम उठाया गया. कार्रवाई के बाद सरकार ने मांगी स्टैटस रिपोर्ट तीन दिनों तक पूरे प्रशासन की नाक में दम करके रखने वाली इस घटना पर ध्यान देते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव आरके तिवारी ने इस संबंध में सभी जिला मजिस्ट्रेटों को पत्र भेजा है. इसमें उन्हें यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि पानी की टंकियों की सीढ़ियों को बंद कर दिया जाये और जो इस्तेमाल नहीं हो रहीं हैं, उन्हें तोड़ दिया जाये. उन्होंने कार्रवाई के बाद रिपोर्ट भी मांगी है.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें