1. home Home
  2. state
  3. up
  4. sedition case against former up governor aziz qureshi for remarks against cm yogi adityanath led government in rampur acy

CM योगी के खिलाफ बयान देकर फंसे UP के पूर्व गवर्नर अजीज कुरैशी, राजद्रोह का केस दर्ज हुआ तो कही यह बात

यूपी के पूर्व गवर्नर अजीज कुरैशी पर राजद्रोह का केस दर्ज किया गया है. उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ अमर्यादित शब्दों का इस्तेमाल किया था.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Former UP Governor Aziz Qureshi
Former UP Governor Aziz Qureshi
fb

UP News: उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी (Former UP Governor Aziz Qureshi) विवादों में फंसते नजर आ रहे हैं. भाजपा नेता आकाश सक्सेना की शिकायत पर रामपुर पुलिस (Rampur Police) ने रविवार को उनके खिलाफ मामला दर्ज किया था. पूर्व राज्यपाल ने रामपुर में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के वरिष्ठ नेता और सांसद आजम खान (Azam Khan) और उनके परिवार से मुलाकात की थी, जिसके बाद उन्होंने प्रदेश सरकार के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया. .

भाजपा नेता आकाश सक्सेना ने कहा, पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी ने यूपी सरकार के खिलाफ अनुचित भाषा का इस्तेमाल किया है. उनके खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. अब आगे की जांच की जा रही है.

देशद्रोही टिप्पणी के लिए दर्ज हुआ मामला

रामपुर के एएसपी संसार सिंह (Rampur ASP Sansar Singh) ने बताया, सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ देशद्रोही टिप्पणी करने के लिए यूपी के पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी के खिलाफ सिविल लाइंस पीएस, रामपुर में मामला दर्ज किया गया है. उन पर समुदायों के बीच तनाव पैदा करने का आरोप है. पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी.

पूर्व गवर्नर ने दी सफाई

वहीं, मुकदमा दर्ज होने के बाद पूर्व गवर्नर ने सफाई दी है. उन्होंने कहा, मुझे राजनीतिक रूप से नुकसान पहुंचाने और जनता को गुमराह करने के लिए मेरे शब्दों को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है. मैंने कहा था कि पहले के दिनों में आज की तरह इतने अत्याचार नहीं हुए. मैंने किसी के खिलाफ कोई टिप्पणी नहीं की.

इन धाराओं में दर्ज हुआ मामला

बता दें, पूर्व गवर्नर अजीज कुरैशी पर राजद्रोह (124ए), धर्म, जातियों के बीच वैमनस्य को बढ़ाने के आरोप में धारा 153ए और राष्ट्रीय एकता व अखंडता के खिलाफ बयान देने को लेकर 153बी के तहत मामला दर्ज किया गया है. इसके अलावा, उन पर जनता के बीच भ्रम और दहशत फैलाने के आरोप में आईपीसी की धारा 505 (1) (बी) के तहत भी मामला दर्ज किया गया है.

क्या है मामला

भाजपा नेता आकाश सक्सेना की तरफ से करायी गई एफआईआर में कहा गया है कि पूर्व राज्यपाल आजम खां के घर पर उनकी पत्नी और विधायक तंजीम फातिमा से मिलने गए थे. यहां उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली सरकार की तुलना 'शैतान और खून चूसने वाले राक्षस' से की थी.

Posted by : Achyut Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें