1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. priyanka gandhi said that bjp government should discuss on paper leak in uttar pradesh like pariksha pe charcha acy

Pariksha Pe Charcha की तरह BJP सरकार को उत्तर प्रदेश में पेपर लीक पर चर्चा करनी चाहिए- प्रियंका गांधी

प्रियंका गांधी ने कहा कि भाजपा सरकार को उत्तर प्रदेश में पेपर लीक पर चर्चा करनी चाहिए. पिछले साल 28 नवंबर को यूपी टीईटी पेपर लीक से लाखों युवाओं को आघात लगा था. जबकि एक्शन के नाम पर दिखावटी कदमों के अलावा कुछ नहीं हुआ.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Lucknow
Updated Date
कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी
कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी
फाइल फोटो

Pariksha Pe Charcha 2022: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को छात्रों, शिक्षकों के साथ दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में परीक्षा पे चर्चा की. उन्होंने छात्रों के साथ सीधे संवाद में परीक्षा के दौरान तनाव को दूर रखने के साथ ही जीवन में बेहतर करने का गुरु मंत्र दिया. वहीं, इस कार्यक्रम को लेकर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि यूपी सरकार को पेपर लीक पर चर्चा करनी चाहिए.

भाजपा सरकार को उत्तर प्रदेश में 'पेपर लीक पर चर्चा' करनी चाहिए- प्रियंका गांधी

प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा, भाजपा सरकार को उत्तर प्रदेश में 'पेपर लीक पर चर्चा' करनी चाहिए. पिछले साल 28 नवंबर को यूपी टीईटी पेपर लीक से लाखों युवाओं को आघात लगा था. एक्शन के नाम पर दिखावटी कदमों के अलावा कुछ नहीं हुआ. यूपी के युवा आजतक नहीं जान पाए कि यूपी सरकार के किस भ्रष्ट तंत्र ने पेपर लीक को अंजाम दिया? नतीजतन, एक और पेपर लीक.

पेपर लीक करने वाला तंत्र सरकार में पैठ जमाए बैठा है- प्रियंका गांधी

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि इस बार भी सरकार दिखावटी कदमों के अलावा कुछ और नहीं कर रही है. पेपर लीक की खबर लिखने वाले पत्रकार को जेल भेजा जा रहा है, लेकिन, पेपर लीक करने वाला तंत्र सरकार में पैठ जमाए बैठा है. उस पर न कोई बुलडोजर चलता है, न कोई बदलाव आता है.

चुनाव खत्म होते ही सरकार जनता की जेब पर डाका डालने लगती है- प्रियंका गांधी

बता दें, प्रियंका गांधी लगातार ट्विटर के जरिये सरकार पर निशाना साधती रहती हैं. इससे पहले बढ़ती महंगाई को लेकर किये गये अपने एक ट्वीट में उन्होंने कहा था, चुनाव के दौरान फोन कॉल/आपसी सहमति/आदेश से पेट्रोल-डीजल-रसोई गैस की कीमतें बढ़नी रुक जाती हैं. चुनाव खत्म होते ही सरकार जनता की जेब पर डाका डालने लगती है. भाजपा सरकार को जनता को बताना चाहिए कि वह कौन सी विधि है जिससे चुनाव के समय पेट्रोलियम पदार्थों के दाम नहीं बढ़ते और वही तरीका अपनाकर जनता को बढ़ती महंगाई से राहत देनी चाहिए?

Posted By: Achyut Kumar

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें