1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. martyrs najju and buland khan did not accept the slavery of the british in bareilly sht

Azadi Ka Amrit Mahotsav:जंग-ए-आजादी में शहीद नज्जू और बुलंद खां ने कबूल नहीं की थी अंग्रेजों की गुलामी...

अंग्रेजों की गुलामी के खिलाफ वर्ष 1857 की क्रांति से पहले ही बिगुल बज गया था, लेकिन रुहेला सरदार नज्जू खां और बुलंद खां ने फौज के साथ अंग्रेजों की सेना को 1857 से पहले ही धूल चटा दी. पढ़ें दोनों क्रांतिकारियों की वीर गाथा...

By Prabhat Khabar Digital Desk, Bareilly
Updated Date
दोनों क्रांतिकारियों के लिए बनाया गया शहीद स्थल
दोनों क्रांतिकारियों के लिए बनाया गया शहीद स्थल
Prabhat khabar

Prabhat Khabar App :

देश, दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, टेक & ऑटो, क्रिकेट और राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें