1. home Home
  2. state
  3. up
  4. cm yogi said in mahant narendra giri death case evidence has been collected every incident will be exposed vwt

महंत नरेंद्र गिरि मामले में बोले सीएम योगी- इकट्ठा कर लिए गए हैं सबूत, उधर आनंद गिरफ्तार

इस दुखद घटना से हम सब व्यथित हैं. यह हमारे आध्यात्मिक और धार्मिक समाज की अपूरणीय क्षति है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
महंत नरेंद्र गिरि मौत मामला: आनंद गिरी गिरफ़्तार
महंत नरेंद्र गिरि मौत मामला: आनंद गिरी गिरफ़्तार
pti

प्रयागराज : अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की सोमवार को संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के बाद मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रशासिनक अधिकारियों को जांच के निर्देश दिए. इसके साथ ही, उन्होंने प्रयागराज के बाघंबरी मठ पहुंचकर महंत नरेंद्र गिरि को श्रद्धांजलि दी. इस मौके पर उन्होंने कहा कि इस दुखद घटना से हम सभी व्यथित हैं.

उधर, खबर यह भी है कि महंत नरेंद्र गिरि के प्रमुख शिष्य आनंद गिरि को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है. हालांकि, इस मामले में संत समाज समेत साध्वी प्रज्ञा ने सीबीआई जांच की मांग की है. वहीं, महंत धर्मदास ने कहा कि हत्या मठ के अंदर ही की गई है.

हालांकि, अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध मौत के बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी प्रयागराज के बाघंबरी मठ पहुंचकर पार्थिव शरीर के दर्शन किए. उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच हाईकोर्ट के सीटिंग जज से कराई जाएगी, तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा.

समाचार एजेंसी एएनआई को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि इस दुखद घटना से हम सब व्यथित हैं. यह हमारे आध्यात्मिक और धार्मिक समाज की अपूरणीय क्षति है. मान अपमान की चिंता के बगैर उन्होंने प्रयागराज कुंभ को भव्यता के साथ आयोजित करने में योगदान दिया था. समाज और देश के हित में किए जाने वाले हर निर्णय में उनका सहयोग प्राप्त होता था.

उन्होंने कहा कि कल की घटना को लेकर बहुत से साक्ष्य इकट्ठे किए गए हैं. पुलिस की एक टीम, यहां के एडीजी जोन, आईजी रेंज और डीआईजी प्रयागराज, मंडलायुक्त प्रयागराज सभी अधिकारी एकसाथ मिलकर इस काम को आगे बढ़ा रहे हैं. एक-एक घटना का पर्दाफाश होगा और दोषी को अवश्य सजा मिलेगी.

इसके साथ ही, उन्होंने इस हाई प्रोफाइल मामले में बयानबाजी को लेकर भी लोगों को आगाह किया है. उन्होंने कहा कि मेरी सभी लोगों से विनम्र अपील होगी कि वे इस संवेदनशील मामले में बयानबाजी से बचें. इस मामले में जांच चल रही है और इसका पर्दाफाश जरूर होगा. दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी.

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि उनके शिष्यों, अनुयायियों और अखाड़ा से जुड़े पदाधिकारियों की राय है कि आज जनता के दर्शन के लिए उनका पार्थिव शरीर बाघंबरी पीठ पर रहेगा. कल 5 सदस्यीय टीम पार्थिव शरीर के पोस्टमार्टम की कार्रवाई सम्पन्न करेगी. उसके बाद उनके भावनाओं के अनुरूप यहां समाधि का कार्यक्रम सम्पन्न होगा.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें