1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. azam khan return to rampur azam khan said i am standing alive in front of you this is a miracle amy

Azam Khan: रामपुर लौटकर आजम खान बोले, हम आपके सामने जिंदा खड़े हैं यह चमत्कार है

मो. आजम खान सीतापुर जेल से रिहा होन के बाद सड़क के रास्ते लगभग 7 घंटे में रामपुर पहुंचे थे. आजम खान के रामपुर पहुंचने की सूचना के बाद जिला प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए थे. जगह-जगह बैरिकेडिंग लगाई गई थी.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
आजम खान का रामपुर में हुआ भव्य स्वागत
आजम खान का रामपुर में हुआ भव्य स्वागत
सोशल मीडिया

Rampur News: 27 महीने की कैद काटकर शुक्रवार को रामपुर लौटे सपा नेता आजम खान अपनी पुरानी रौ में थे. समर्थकों की भीड़ ने उनके अंदर उत्साह भर दिया था. अपनी एसयूवी के गेट पर खड़े होकर उन्होंने सबका अभिवादन स्वीकार किया. इसके बाद कहा कि हम आपके सामने जिंदा खड़े हैं तो यह एक चमत्कार है. क्योंकि हमें जहां रखा गया था तो वहां पर अंग्रेजों के जमाने में उन कोठरियों में अगले दिन फांसी देने वालों को रखा जाता था. हमारे कमरे के पास में ही फांसी घर भी था.

आजम खान सीतापुर जेल से रिहा होने के बाद सड़क के रास्ते लगभग 7 घंटे में रामपुर पहुंचे थे. आजम खान के रामपुर पहुंचने की सूचना के बाद जिला प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए थे. जगह-जगह बैरिकेडिंग लगाई गई थी और कई जगह रामपुर में पहुंचने के बाद आजम खान के काफिले को पुलिस ने रोका भी. लेकिन सैकड़ों गाड़ियों के काफिले में वह सकुशल रामपुर पहुंच गये.

'इमरजेंसी में भी गया था पौने दो साल जेल'

अपने समर्थकों से दुआ-सलाम के बाद मो. आजम खान कहा कि बहुत छोटी उमर थी तब मुल्क में इमरजेंसी लगी थी. उस समय वह एएमयू यूनियन के सेक्रेटरी थे. इमरजेंसी में पौने दो साल बनारस जेल काटा था. अब फिर से वही दौर आया है. उन्होंने कहा कि आपका और हमारा 40 बरस का रिश्ता है. ज़ुल्म की मुद्दत बहुत लंबी नहीं होती और न जालिम की मुद्दत बहुत होती है. तारीख गवाह है कि जब जुल्म खत्म होता है तो जालिम भी खत्म होता है.

मो. आजम खान ने कहा कि हमने यह गलियां साढ़े तीन साल बाद देखी हैं. हम कुछ दिन की छुट्टी चाहेंगे अपने इलाज के लिए और आज शुक्रिया अदा करना चाहेंगे, उस इंसाफ करने वालों का, जिन्होंने यह साबित किया अभी इंसाफ का जमीर जिंदा है. उन्होंने कहा कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मैने जज साहब से कहा था कि ऊपर वाले ने आपको अपनी पॉवर को देकर स कुर्सी पर बैठाया है. लिहाजा इंसाफ हमारी कम और आपकी ज्यादा जरूरत है.

आजम खान ने इशारों-इशारों में कई लोगों पर हमला भी किया. उन्होंने कहा कि इस दरख्त की जड़ में जहर डालने वाले अपने हैं. उनके इस बयान को अखिलेश यादव की बेरुखी से जोड़ा जा रहा है. वहीं लोगों का यह भी कहना है कि उन पर एफआईआर करने वालों पर यह एक तंज था. क्योंकि मो. आजम खान पर अधिकतर मुकदमे मुस्लित समुदाय के लोगों ने ही कराये हैं.

फूलों की बारिश से हुआ स्वागत

आजम खान पर जगह-जगह फूलों की बारिश से समर्थकों ने स्वागत किया. उनकी कार फूलों से लदी हुई थी. समर्थकों ने कहा कि आज का दिन ईद से कम नहीं है. उनके भाई शरीफ खान ने भी इस मौके पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर तंज कसा. वहीं बहन निखत अखलाक ने कहा कि हमारे लिए आज ईद का दिन है. दुआओं में बड़ी ताकत है और अल्लाह ने हमारी दुआएं कबूल की हैं.

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें