1. home Home
  2. state
  3. up
  4. agra
  5. agra breaking pinahat naya bans village bus accident amh

Agra Breaking : स्कूली बच्चों से भरी बस तालाब के किनारे पलटी, बड़ा हादसा होने से बचा

ग्रामीणों की सजगता की वजह से बड़ा हादसा टला गया. क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश देखा जा रहा है.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Agra
Updated Date
Agra Breaking news
Agra Breaking news
prabhat khabar

Agra Breaking : ताजनगरी आगरा के थाना पिनाहट क्षेत्र के अंतर्गत गांव नयावांस के पास मुख्य मार्ग पर बच्चों से भरी एक स्कूल की बस मार पर भरे तालाब पानी में अनियंत्रित होकर तालाब किनारे पलट गई तत्काल एकत्रित ग्रामीणों ने बस में सवार सभी बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाला. जिससे बड़ा हादसा होने से टल गया. वहीं ग्रामीणों ने मुख्य मार्ग को बनवाने एवं तालाब की सफाई की मांग की है.

कस्बा पिनाहट क्षेत्र के अंतर्गत शांति निकेतन पब्लिक स्कूल की एक बड़ी बस शुक्रवार को सुबह गांव गांव स्कूल बच्चों को लेने के लिए गई थी. बताया गया कि पिनाहट से गांव पड़ुआपुरा नयावांस होते हुए स्कूल की बस मनोना गांव स्कूली बच्चों को लेने जा रही थी. तभी गांव नयावांस के पास प्राथमिक विद्यालय के सामने मुख्य मार्ग पर भरे तालाब के पानी से गुजरते समय है बस चालक को मार्ग का अंदाजा नहीं हुआ और खड्डे में बस अनियंत्रित होकर अचानक तालाब किनारे पानी में पलट गई. बस में सवार करीब 40 बच्चों में चीख-पुकार मच गई.

आवाज सुनकर दर्जनों की संख्या में ग्रामीण एकत्रित हो गए. बचाव राहत कार्य करते हुए एकत्रित ग्रामीणों ने बस के शीशे तोड़कर एक-एक करके सभी बच्चों को तत्काल समय रहते पानी में पलटी हुई स्कूली बस से सभी को सुरक्षित बाहर निकाल लिया. जिससे बड़ा हादसा होने से टल गया. वही बस में सवार तीन स्कूली बच्चे हिमांशु उम्र करीब 12 वर्ष निवासी करकौली, कक्षा 6, एवं आर्यन उम्र करीब 9 वर्ष निवासी पडुआपुरा कक्षा 4, खुशी उम्र करीब 4 वर्ष निवासी पड़ुआपुरा पिनाहट, कक्षा यूकेजी चोट आने से घायल हो गई. जिनको नजदीकी अस्पताल में प्राथमिक उपचार कराया गया. बच्चों को प्राथमिक इलाज के बाद परिजनों के साथ भेज दिया गया.

वही बस पलटने की सूचना पर जिला पंचायत सदस्य कंन्हई तोमर, ग्राम प्रधान देव आनंद परिहार, थानाध्यक्ष पिनाहट प्रदीप कुमार चतुर्वेदी पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली. यहां ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि गांव के घरों से निकलने वाले जल निकासी का पानी तालाब में जाता है. जिस कारण तालाब का पानी मुख्य मार्ग पर भर जाता है. ओवरफ्लो पानी कई वर्षों से गांव के मुख्य मार्ग पर भरा हुआ है. जिसके चलते गहरे पानी में खड्डे हो गए हैं. मार्ग पर पानी भरने से गुजरने वाले वाहन चालकों को मार्ग का अंदाजा नहीं चलता कि मार्ग कहां है और तालाब कहां है जिसके कारण पूर्व में भी कई बड़े हादसे हो चुके हैं.

पिछले वर्ष इसी मार्ग पर बारातियों से भरी एक बस अचानक पानी में ही पलट गई थी जिस पर तत्काल ग्रामीणों ने बस में सवार सभी बारातियों को सुरक्षित बाहर निकाला था. जिसमें लोगों की जान जाते जाते बच गई थी. ग्रामीणों का कहना है कई बार क्षेत्रीय प्रतिनिधियों एवं जिला एवं तहसील प्रशासन से मार्ग बनवाने एवं तालाब की सफाई शिकायत की गई. मगर आज तक मार्ग सुधार के लिए कोई भी ठोस कदम नहीं उठाया गया है. जिसके कारण मुख्य मार्ग से गुजरने वाले लोगों एवं वाहनों के साथ हादसे हो रहे हैं. ग्रा।मीणों ने तत्काल मार्ग पर ऊंची पुलिया बनवाने की मांग की है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें