1. home Hindi News
  2. state
  3. sdm met family of shaurya chakra winner balwinder singh sandhu family ready for funeral ksl

शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह संधू के परिजनों से मिले SDM, अंतिम संस्कार के लिए तैयार हुआ परिवार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए जाते परिजन
अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए जाते परिजन
ANI

तरन तारन : पंजाब के तरन तारन में शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह के अंतिम संस्कार के लिए उनका परिवार शनिवार को राजी हो गया है. एसडीएम राजेश शर्मा ने शनिवार को परिजनों से मुलाकात कर दोषियों की जल्द गिरफ्तारी का आश्वासन दिया. इसके बाद परिजन अंतिम संस्कार के लिए राजी हो गये. अंतिम श्रद्धांजलि देने के लिए लोग मौके पर पहुंचे, जहां परिजन अंतिम संस्कार कर रहे हैं.

शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह की पत्नी जगदीश कौर ने कहा कि हमारे परिवार पर हमलों की 42 रजिस्टर्ड प्राथमिकी हैं. अनगिनत कई हमले हुए हैं, जो रिकॉर्ड में नहीं हैं. सरकार द्वारा सुरक्षा वापस लेने का फैसला गलत था. मालूम हो कि शौर्य चक्र से सम्मानित बलविंदर सिंह को उनके घर पर गोली मार दी गयी थी.

जगदीश कौर ने कहा कि घटना के लिए सरकार, प्रशासन और खुफिया एजेंसियां जिम्मेदार हैं. सुरक्षा हटाये जाने के बाद हमने फिर से सुरक्षा की मांग की, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. सुरक्षा कवच को स्टेटस सिंबल माननेवालों को प्रदान किया गया है. हमें वास्तव में इसकी आवश्यकता थी, लेकिन प्रदान नहीं की गयी.

वहीं, परिजनों से मुलाकात करनेवाले एसडीएम राजेश शर्मा ने कहा कि कोविड-19 संकट के दौरान बलविंदर सिंह की सुरक्षा वापस ले ली गयी. जब अचानक स्थिति पैदा हुई, तो सभी को प्रदान किये गये बंदूकधारी पुलिस विभाग द्वारा वापस बुलाये गये. दुर्भाग्य से, ऐसी घटना हुई. अब परिवार को तीन बंदूकधारी प्रदान किये गये हैं.

मालूम हो कि इससे पहले पंजाब में आतंकवाद से लड़नेवाले शौर्य चक्र से सम्मानित 62 वर्षीय बलविंदर सिंह संधू की तरन तारन में गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. इसके बाद परिजनों ने अज्ञात हमलावरों की गिरफ्तारी किये जाने तक अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया था.

कुछ महीने पहले ही सरकार ने बलविंदर सिंह संधू की सुरक्षा वापस ले ली थी. पंजाब में आतंकवाद के खिलाफ बलविंदर सिंह संधू कई वर्षों तक लड़े. पंजाब में खालिस्तानी आतंकवाद जब चरम पर था, तब उन पर कई आतंकी हमले किये गये.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें