1. home Hindi News
  2. state
  3. maharashtra
  4. toyota land cruiser prado found standing at waje house in thane nia seized two extra cars in mukesh ambani home exposive case vwt

अंबानी एंटीलिया विस्फोटक मामला : ठाणे में वाजे घर पर खड़ी मिली टोयोटा लैंड क्रूजर प्राडो, एनआईए ने जब्त की दो एक्स्ट्रा कार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
25 फरवरी को अंबानी के घर बाहर खड़ी मिली थी विस्फोटक भरी गाड़ी.
25 फरवरी को अंबानी के घर बाहर खड़ी मिली थी विस्फोटक भरी गाड़ी.
फाइल फोटो.
  • जब्त वाहनों को कुंबाला हिल स्थित एनआईए कार्यालय लाया गया

  • महाराष्ट्र सरकार ने पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह का किया तबादला

  • महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने सिंह के तबादले पर दी सफाई

मुंबई : उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर पर विस्फोटक मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने दो और लग्जरी कार जब्त कीं, जिन्हें मुंबई के निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे द्वारा कथित तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा था. एनआईए के एक अधिकारी ने बताया कि एक टोयोटा लैंड क्रूजर प्राडो कार ठाणे के साकेत क्षेत्र में वाजे के घर के बाहर खड़ी मिली. इसके अलावा एक मर्सिडीज कार भी जब्त की गई, लेकिन यह साफ नहीं किया गया है कि यह कहां से बरामद हुई है.

इस मामले में अब तक जब्त किए गए वाहनों की संख्या पांच हो गई है, जिनमें एक अन्य मर्सिडीज, एक स्कोर्पियो तथा एक इनोवा कार शामिल है. वाहनों को यहां कुंबाला हिल स्थित एनआईए कार्यालय लाया गया. सूत्रों ने बताया कि एनआईए ने गुरुवार को दो पुलिसकर्मियों को पूछताछ के लिए बुलाया, जिनमें वाजे का एक सहयोगी और एक वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक शामिल हैं.

उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर 25 फरवरी को जिलेटिन की छड़ों से भरी कार मिलने के मामले में एनआईए ने शनिवार रात वाजे को गिरफ्तार किया था. मामले को लेकर उठते सवालों के बीच महाराष्ट्र सरकार ने बुधवार को मुंबई के पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह का एक कम महत्वपूर्ण पद पर तबादला कर दिया था. उनकी जगह वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी हेमंत नगराले को मुंबई का नया पुलिस आयुक्त नियुक्त किया गया है.

एनआईए ने मामले की जांच के क्रम में मंगलवार को काले रंग की एक मर्सिडीज कार बरामद की थी और इससे विस्फोटक से लदी एसयूवी की वास्तविक नंबर प्लेट भी बरामद की थी. महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह का तबादला उनके कुछ सहकर्मियों द्वारा गंभीर और अक्षम्य गलतियां किए जाने के बाद किया गया.

सिंह के तबादले के बाद अपनी पहली सार्वजनिक टिप्पणी में देशमुख ने कहा कि मुंबई पुलिस आयुक्त का तबादला यह सुनिश्चित करने के लिए किया गया कि पुलिस अधिकारी सचिन वाजे से जुड़े प्रकरण की जांच उचित तरीके से और बिना किसी बाधा के हो. देशमुख ने कहा कि एनआईए और महाराष्ट्र एटीएस द्वारा प्रकरण की जांच पेशेवर तरीके से की जा रही है. उन्होंने कहा कि एनआईए और एटीएस से संबंधित जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

देशमुख ने कहा कि सिंह का तबादला कोई प्रशासनिक तबादला नहीं है. एनआईए और एटीएस द्वारा की गई जांच में कुछ चीजें सामने आई हैं. उन्होंने कहा कि मुंबई पुलिस प्रमुख (सिंह) के कुछ सहकर्मियों ने कुछ गंभीर गलतियां कीं. वे अक्षम्य गलतियां हैं. इसलिए उनका तबादला कर दिया गया. जांच रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

उधर, भाजपा और मनसे के इन आरोपों के बारे में पूछे जाने पर देशमुख ने कहा कि कि अधिकारियों के राजनीतिक आकाओं के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जा रही है, देशमुख ने कहा कि एनआईए और एटीएस पेशेवर तरीके से जांच कर रही हैं. जो भी दोषी है, वे निश्चित तौर पर पता लगा लेंगी.

अंबानी के घर के बाहर विस्फोटों से भरी एसयूवी मिलने के मामले में वाजे को 13 मार्च को गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया था. संबंधित एसयूवी के मालिक रहे कारोबारी मनसुख हिरेन की मौत के मामले में भी वाजे को संदिग्ध माना जा रहा है. हिरेन ठाणे जिले में पांच मार्च को मृत मिले थे.

हिरेन की हत्या के मामले की जांच एटीएस कर रही है और मामले में इसने अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी. कारोबारी की संदिग्ध मौत के मामले में उनकी पत्नी ने वाजे पर आरोप लगाया है.

Posted by : Vishwat Sen

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें