1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. simdega
  5. markets did not open in simdega even on the second day of maoist bandh passenger buses did not run srn

माओवादी बंद के दूसरे दिन भी सिमडेगा में नहीं खुले बाजार, नहीं चलीं यात्री बसें

माओवादियों द्वारा आहूत बंद के दूसरे दिन भी सिमडेगा बंद रहा. यात्री वाहनों का परिचालन ठप रहा तथा दुकानें व प्रतिष्ठान बंद रहे. सरकारी दफ्तर खुले रहे किंतु लोगों की उपस्थिति कम रही.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
माओवादी बंद के दूसरे दिन भी सिमडेगा में नहीं खुले  बाजार
माओवादी बंद के दूसरे दिन भी सिमडेगा में नहीं खुले बाजार
Prabhat Khabar

माओवादियों द्वारा आहूत बंद के दूसरे दिन भी सिमडेगा बंद रहा. यात्री वाहनों का परिचालन ठप रहा तथा दुकानें व प्रतिष्ठान बंद रहे. सरकारी दफ्तर खुले रहे किंतु लोगों की उपस्थिति कम रही. स्कूल कॉलेज भी खुले रहे किंतु दूर दराज से आनेवाले विद्यार्थी अनुपस्थित रहे. न्यायालय का कार्य सुचारू रहा. बंद के कारण बस स्टैंड में सन्नाटा पसरा रहा. बसों का परिचालन ठप रहा. सड़कों पर छोटे वाहनों का आना-जाना देखा गया. बंद के कारण शहर में कम भीड़ भाड़ दिखी. बंद के कारण यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा. बंद को लेकर सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद दिखी. सड़क पर पुलिस बल को गश्ती करते हुए देखा गया.

कुरडेग में इक्के दुक्के छोटे वाहन ही चले :

कुरडेग प्रखंड में माओवादियों द्वारा बुलाये गये तीन दिवसीय बंद के दूसरे दिन सभी दुकानें बंद रही. मुख्य पथ पर इक्के-दुक्के छोटे वाहन ही चले. बसों का परिचालन पूरी तरह बंद रहा. बैंक ऑफ इंडिया और कोऑपरेटिव बैंक भी बंद रहे. प्रखंड कार्यालय परिसर में सन्नाटा पसरा रहा. वहीं कुरडेग पुलिस के द्वारा लगातार गश्ती अभियान चलाया जा रहा था. सहायक थाना प्रभारी अजीत प्रकाश दल बल के साथ गश्ती करते नजर आये. समाचार लिखे जाने तक कहीं से अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली.

कोलेबिरा में मिलाजुला असर रहा :

कोलेबिरा प्रखंड में भाकपा माओवादियों के द्वारा बुलाये गये तीन दिवसीय के दूसरे दिन मिलाजुला असर रहा. बंदी के कारण सड़क पर सन्नाटा पसरा रहा. यात्री वाहन का परिचालन पूरी तरह ठप रहा. छोटे वाहनों का परिचालन आम दिनों की तरह जारी रहा. व्यावसायिक संस्था पूरी तरह बंद रहे. केवल पान दुकान, फल दुकान, सब्जी की दुकान, ठेले वाले खुले रहे. कोलेबिरा प्रखंड मुख्यालय के सभी बैंक पूरी तरह बंद रहे. सरकारी कार्यालय खुले रहे. लेकिन लोगों की उपस्थिति काफी कम रही. स्कूल कॉलेज भी खुले रहे किंतु छात्र-छात्राओं की उपस्थिति काफी कम दिखी. बंद के कारण विशेष कर दिहाड़ी मजदूरों को परेशानी उठानी पड़ी.

बानो रेलवे स्टेशन में सन्नाटा :

बानो में माओवादियों द्वारा आहूत तीन दिवसीय बंद के दूसरे दिन असरदार रहा. दूसरे दिन भी यात्री वाहनों का परिचालन पूर्णत: ठप रहा. दुकानें बंद रही. सरकारी गैर सरकारी संस्थान बंद रहे. बानो रेलवे स्टेशन में दूसरे दिन भी सन्नाटा पसरा रहा. लोगों की आवाजाही कम देखी गयी. हालांकि एक्सप्रेस ट्रेन, पैसेंजर ट्रेन समय पर आयी और गयी. बंद को लेकर आरपीएफ पुलिस के द्वारा गश्त लगाते देखा गया.

वहीं बानो चौक चौराहा में थाना प्रभारी प्रभात कुमार के नेतृत्व में पुलिस बल तैनात किया गया. विभिन्न क्षेत्र में वाहन जांच अभियान भी चलाया गया. थाना प्रभारी अंशु कुमार के नेतृत्व में माओवादी बंद को लेकर सुरक्षा के दृष्टिकोण से हुरदा में सघन वाहन चेकिंग अभियान चलाया गया. इधर लचरागढ़ में भी बंद का असर देखा गया. यात्री बसों का परिचालन बंद रहा. दुकानें बंद रही. लचरागढ़ साप्ताहिक बाजार भी प्रभावित रहा.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें