1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. simdega
  5. jharkhand news action on simdega police for missing some part of stolen jewelery from chhattisgarh 3 policemen sent to jail grj

छत्तीसगढ़ से चोरी जेवरात में से कुछ हिस्सा गायब करने के आरोप में झारखंड के 3 पुलिसकर्मियों को जेल

2 और 3 अक्टूबर की रात छत्तीसगढ़ के नवकार ज्वेलर्स में सेंधमारी कर 80 लाख रूपये के जेवर की चोरी की गयी थी. बांसजोर में जब्त किये गये छत्तीसगढ़ से की गयी चोरी के ही जेवर थे. किंतु छत्तीसगढ़ पुलिस ने बांसजोर पुलिस पर 55 लाख के चोरी के जेवर को गायब करने का आरोप लगाया था. इसके बाद मामले की जांच शुरू हुई

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand News : तीन पुलिसकर्मियों को जेल
Jharkhand News : तीन पुलिसकर्मियों को जेल
फाइल फोटो

Jharkhand News, सिमडेगा न्यूज (रविकांत साहू) : झारखंड के सिमडेगा जिले के बांसजोर के निलंबित ओपी प्रभारी सहित 3 पुलिस के जवानों को चोरी के जेवरात में से कुछ हिस्सा गायब करने के आरोप में रविवार को जेल भेज दिया गया. बासंजोर क्षेत्र में 6 अक्टूबर को चोरी के जेवरात समेत 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था. इस मामले में चोरी के जेवरात में से कुछ जेवरात को गायब करने के आरोप में बासंजोर के पूर्व निलंबित ओपी प्रभारी सहित 3 पुलिसकर्मियों को जेल भेज दिया गया. आपको बता दें कि 6 अक्टूबर को बांसजोर ओपी अंतर्गत वाहन जांच अभियान चलाया गया था. जांच अभियान के क्रम में एक स्कॉर्पियो को रोका गया था. स्कॉर्पियो रुकते के साथ ही कुछ लोग भागने लगे किंतु निवर्तमान ओपी प्रभारी आशीष कुमार और उनके सशस्त्र बलों ने खदेड़कर 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था.

स्कॉर्पियो में तलाशी के दौरान लगभग 39 किलो चांदी के जेवरात बरामद किए गए थे, लेकिन इस मामले में छत्तीसगढ़ पुलिस ने और जेवरात होने की बातें कहकर पुलिस पर जेवर चोरी के आरोप लगाए थे. इस आरोप के बाद झारखंड के डीआईजी पंकज कंपोज भी 10 अक्टूबर को बांसजोर ओपी प्रभारी आशीष कुमार सहित अन्य पुलिसकर्मियों से गहन पूछताछ की थी. सिमडेगा एसपी डॉ शम्स तबरेज ने छह पुलिसकर्मियों को निलंबित करते हुए जांच के लिए एसआईटी का गठन किया था. एसआईटी टीम में जिले के 11 वरीय पुलिस पदाधिकारियों को शामिल किया गया था.

पुलिस पदाधिकारियों ने जांच करना शुरू किया था. इस दौरान एसआईटी के द्वारा बांसजोर के लुड़गी नदी से चोरी के जेवरात में से गायब किए गये कुछ जेवरात को बरामद किया गया था. इसके बाद निलंबित पुलिस पदाधिकारियों पर और दबिश बढ़ गई. इतना ही नहीं पुलिस की दबिश को देखते हुए बांसजोर के ओपी निलंबित ओपी प्रभारी आशीष कुमार ने आत्महत्या करने का भी प्रयास किया, किंतु उसे समय रहते पुलिस के जवानों ने बचा लिया. इधर, एसपी डॉ शम्स तबरेज ने बताया कि चोरी के जेवरात को गायब करने के मामले में बांसजोर के निलंबित ओपी प्रभारी आशीष कुमार, एएसआई संदीप कुमार सहित चालक शाहिद रजा खान को जेल भेज दिया गया. एसपी ने बताया कि इस मामले में अभी भी जांच जारी है.

जानकारी के मुताबिक 2 और 3 अक्टूबर की रात छत्तीसगढ़ के नवकार ज्वेलर्स में सेंधमारी कर 80 लाख रूपये के जेवर की चोरी की गयी थी. बांसजोर में जब्त किये गये छत्तीसगढ़ से की गयी चोरी के ही जेवर थे. किंतु छत्तीसगढ़ पुलिस ने बांसजोर पुलिस पर 55 लाख के चोरी के जेवर को गायब करने का आरोप लगाया था. इसके बाद मामले की जांच शुरू हुई. डीआईजी पंकज कंबोज ने 10 अक्टूबर को बांसजोर आकर ओपी प्रभारी से पूछताछ की थी और मामले की जांच भी की थी. इसके बाद सिमडेगा एसपी ने बांसजोर में पदस्थापित 6 पुलिस के जवानों को निलंबित किया था. जिसमें ओपी प्रभारी आशीष कुमार, एएसआई- योगेंद्र शर्मा, विजेद्र कुमार, संदीप कमार, मुंशी अरशद, चालक मो साजिद रजा खान के नाम शामिल हैं. इधर, एसआईटी की जांच के बाद निलंबित आशीष कुमार, एएसआई संदीप कुमार तथा चालक मो साजिद खान को जेल भेज दिया गया.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें