1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. saraikela kharsawan
  5. pradhan mantri van dhan yojana tribal communities get fair price of forest products by trifed grj

Jharkhand News: प्रधानमंत्री वन धन योजना से जनजातीय समुदायों की बदलेगी तस्वीर, मिलेगी वनोत्पादों की उचित कीमत

ट्राइफेड बहु उद्देश्यीय वन धन विकास केंद्र स्थापित करने में मदद करेगा. इससे गांव के लोगों को वनोत्पादों की सही कीमत मिलेगी.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand News : पीएम वन धन योजना की प्रगति की समीक्षा करते पदाधिकारी
Jharkhand News : पीएम वन धन योजना की प्रगति की समीक्षा करते पदाधिकारी
प्रभात खबर

Jharkhand News : झारखंड के सरायकेला खरसावां जिले के कुचाई प्रखंड कार्यालय सभागार में प्रधानमंत्री वन धन योजना (Pradhan Mantri Van Dhan Yojana) की प्रगति की समीक्षा की गयी. इस दौरान जानकारी दी गयी कि भारत सरकार के जनजातीय कार्य मंत्रालय की आनुषंगिक इकाई ट्राइफेड के जरिये वन धन योजना का संचालन किया जा रहा है. बैठक में जनजातीय समुदाय के लोगों की आजीविका को बढ़ावा देने पर जोर दिया गया. बताया गया कि ट्राइफेड बहु उद्देश्यीय वन धन विकास केंद्र स्थापित करने में मदद करेगा. इससे गांव के लोगों को वनोत्पाद का सही दाम मिलेगा.

इससे न सिर्फ आदिवासी इलाकों में आजीविका उपलब्ध हो सकेगी, बल्कि इमली, लाह, हल्दी, चिरौंजी, महुआ, कुसुम समेत अन्य वनोत्पाद के लिये प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित करने पर चर्चा की गयी. इसके लिए ट्राइफेड (trifed news) के जरिए केंद्र सरकार आर्थिक मदद करेगी. गांव के लोगों को वनोत्पाद का सही दाम मिलेगा. वन धन योजना के तहत वन धन विकास केंद्र के माध्यम से साथ ही स्वरोजगार भी उपलब्ध कराया जायेगा.

भारत सरकार के जनजातीय मामलों के मंत्रालय द्वारा जनजातीय समुदाय के लोंगो को लाभान्वित करने के लिए वन धन योजना (PM Van Dhan Yojana) की शुरुआत की गई है. इस योजना के तहत केंद्रीय जनजातीय मामलों के मंत्रालय की आनुषंगिक इकाई ट्राइफेड ( ट्राइबल को-ऑपरेटिव मार्केटिंग डेवलपमेंट फेडरेशन ऑफ़ इंडिया) गौण वनोत्पाद आधारित बहुद्देशीय वन-धन विकास केंद्र स्थापित करने में मदद कर रही है. इस योजना व केन्द्रों के जरिएये जनजातीय समाज के लोगों को वनोत्पाद के माध्यम से आजीविका के साधन उपलब्ध कराने की पहल की गयी है.

झारखंड में ट्राइफेड (trifed latest news) के तहत अब तक 39 वन धन विकास केंद्र हैं. इसके तहत 585 क्लस्टर वन धन विकास केंद्र एवं 11601 लाभुक शामिल हैं. इनमें से सरायकेला खरसावां जिले के कुचाई प्रखंड में वन धन विकास केंद्र कुचाई की शुरुआत 16 अक्टूबर 2019 को की गई. इसमें 31 समूहों के 306 सदस्य हैं, जिसमें 253 अनुसूचित जनजाति एवं 53 अन्य पिछड़ा वर्ग के लोग शामिल हैं. इस केंद्र के दायरे में कुल चार पंचायतें, 263 समूह एवं 25 ग्राम संगठन शामिल हैं.

इस मौके पर ट्राइफेड (trifed news latest) के दिनेश कुमार रंजन, जेएसएलपीएस की स्टेट टीम के अंतरिक्ष बारा, झामको लैंपस से प्रवीण कुमार, झामको से सिकंदर, जेएसएलपीएस के डीपीएम शैलेंद्र जारिका, आजीविका की जिला प्रबंधक सुषमा बारवा, जेएसएलपीएस के बीपीएम रमेश प्रसाद द्विवेदी, वन धन विकास केंद्र के अध्यक्ष मारथा गागराई, संकुल अध्यक्ष पार्वती गागराई समेत वन केंद्र केंद्र के सदस्य उपस्थित थे.

रिपोर्ट : शचिन्द्र कुमार दाश

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें