1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. sahibgunj
  5. barhait sho abusing and slapping young girl in viral video suspended cm hemant soren says what police did is shameful

युवती को थप्पड़ जड़ने वाले बरहेट के थानेदार का Video वायरल, एसपी ने किया सस्पेंड, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन बोले : शर्मनाक कृत्य

By Mithilesh Jha
Updated Date
Barhait News : युवती से थाना परिसर में हुए दुर्व्यवहार की एक-एक तस्वीर यहां देखिए.
Barhait News : युवती से थाना परिसर में हुए दुर्व्यवहार की एक-एक तस्वीर यहां देखिए.
Prabhat Khabar

बरहरवा/बरहेट : झारखंड में एक वायरल वीडियो ने थाना प्रभारी को सस्पेंड करवा दिया. थाना प्रभारी ने एक युवती को झन्नाटेदार चांटा जड़ा. उसके साथ मारपीट की. भद्दी-भद्दी गालियां भी दी. युवती का दावा है कि थाना प्रभारी की पिटाई से उसके नाक से खून निकलने लगा. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हुआ, तो एसपी ने थाना प्रभारी को सस्पेंड कर दिया. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने थानेदार की हरकत को सरासर गलत और शर्मनाक कृत्य करार दिया है. मामला साहिबगंज जिला के बरहेट का है, जो मुख्यमंत्री का निर्वाचन क्षेत्र है.

साहिबगंज जिला के बरहेट थाना परिसर में एक युवती की पिटाई का थाना प्रभारी हरीश कुमार पाठक का वीडियो वायरल है. इसमें वह युवती को मार-पीट रहे हैं और गंदी-गंदी गालियां दे रहे हैं. इस संबंध में पीड़िता ने साहिबगंज के पुलिस अधीक्षक को लिखित शिकायत की थी. वीडियो वायरल होने के बाद एसपी अनुरंजन किस्पोट्टा ने थाना प्रभारी हरीश पाठक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया.

एसपी को लिखे पत्र में युवती ने कहा है कि 22 जुलाई को बरहेट थाना प्रभारी ने उसे थाना बुलाया था. थाना जाने पर प्रभारी ने उससे कहा कि उसकी मां ने शिकायत की है कि उसने भागकर रामू मंडल नामक युवक से शादी कर ली है. इस पर युवती ने कहा कि वह और रामू दोनों बालिग हैं. एक-दूसरे प्यार करते हैं. इसलिए शादी कर ली. इतना सुनते ही थाना प्रभारी उसे गंदी-गंदी गालियां देने लगे और मारपीट करने लगे.

युवती ने अपनी शिकायत में कहा है कि थाना प्रभारी ने उसे इतना पीटा कि उसकी नाक से खून निकलने लगा. उसका भाई वहां से उठाकर बरहेट के एक प्राइवेट क्लिनिक ले गया, जहां उसका इलाज हुआ. उसने कहा है कि शादी के बाद से दोनों परिवार राजी-खुशी रह रहे हैं. थाना प्रभारी के इस बर्ताव से वह काफी डरी-सहमी है.

पीड़िता ने शिकायत की प्रतिलिपि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, डीआइजी व अन्य वरीय पुलिस अधिकारियों को भी भेजी है. इधर, मामले को लेकर बरहेट थाना प्रभारी हरीश पाठक का कहना है कि उनके ऊपर लगाये गये सभी आरोप बेबुनियाद और मनगढ़ंत हैं.

विवादित रहे हैं थाना अध्यक्ष हरीश पाठक

हरीश कुमार पाठक रीडर कैडर के सब इंस्पेक्टर हैं. झारखंड में इनका कार्यकाल काफी विवादित रहा है. पलामू के बकोरिया कांड एवं जामताड़ा थाना में मिन्हाज अंसारी की पुलिस हिरासत में मारपीट के बाद मौत हो जाने का मामला अभी चल ही रहा है. तब तक उनका साहिबगंज जिले में तबादला हो गया.

बरहेट में पदस्थापन के बाद 12 जुलाई को बरहेट थाना के डुगूबथान में अपराधी व पुलिस के बीच मुठभेड़ हो गयी. इसमें एएसआइ चंद्राय सोरेन को गोली लगी और बाद में इलाज के क्रम में रांची के मेडिका अस्पताल में उनकी मौत हो गयी. इस मुठभेड़ के दौरान अपराधियों पर पुलिस की ओर से गोली नहीं चलाने के मामले में भी जांच चल रही है.

बरहेट थाना प्रभारी निलंबित, एसडीपीओ करेंगे जांच : एसपी

बरहेट के थाना प्रभारी हरीश पाठक को एसपी अनुरंजन किस्पोट्टा ने तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए आगे कार्रवाई करने की बात कही है. एसपी ने बताया कि बरहेट थाना प्रभारी के खिलाफ एक महिला ने दो दिन पहले शिकायत दर्ज करायी थी. सोमवार को महिला के साथ बदसलूकी, गाली-गलौज व मारपीट का वीडियो वायरल होने के बाद प्रथम दृष्टया उसे लाइन क्लोज करते हुए निलंबित किया गया है. एसडीपीओ स्तर से जांच करायी जा रही है.

मुख्यमंत्री ने घटना को बताया शर्मनाक

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने ट्वीट कर घटना को अनुचित और शर्मनाक बताते हुए थाना प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश डीजीपी झारखंड को दिया है. ट्विटर पर ही डीजीपी ने मुख्यमंत्री को सूचित किया कि महिला के साथ मारपीट करने के आरोपी थाना प्रभारी को सस्पेंड कर दिया गया है और वरीय अधिकारी से मामले की जांच के आदेश दे दिये गये हैं.

थाना प्रभारी पर लगे आरोपों की हो सीबीआइ जांच : बाबूलाल

इधर, झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने थाना प्रभारी हरीश पाठक के व्यवहार की सीबीआइ जांच कराने की मांग की है. उन्होंने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है. इस संबंध में पीड़ित लड़की और लड़के की मां ने उन्हें भी आवेदन देकर थाना प्रभारी की करतूतों से अवगत कराया है.

श्री मरांडी ने कहा कि उन्होंने इस संबंध में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखकर ओरापित दारोगा को बर्खास्त कर जेल भेजने की मांग की है. साथ ही बरहेट मुठभेड़ में इनकी संदिग्ध भूमिका की सीबीआइ से जांच से कराने की मांग की है. इससे संगीन व जघन्य अपराध नहीं हो सकता है. एक दारोगा द्वारा किसी महिला को इस प्रकार सरेआम मारपीट व गाली-गलौज करना अक्षम्य अपराध है.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें