29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

शहीद कुलदीप उरांव की प्रतिमा जल्द होगी स्थापित व बनेगा सड़क : डीसी

चाैथी पुण्यतिथि पर जैप 9 में मंगलवार को श्रद्धासुमन अर्पित की गयी. साहिबगंज में जैप के दीवार से सटे समाधि स्थल पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया.

साहिबगंज. जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में दो जुलाई 2020 को आतंकवादियों से मुठभेड़ के दौरान शहीद हुए साहिबगंज निवासी सीआरपीएफ के हेड कांस्टेबल कुलदीप उरांव की चाैथी पुण्यतिथि पर जैप 9 में मंगलवार को श्रद्धासुमन अर्पित की गयी. साहिबगंज में जैप के दीवार से सटे समाधि स्थल पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया. इस दौरान मौके पर डीसी हेमंत सती, एसडीपीओ किशोर तिर्की, नप प्रशासक सोमा खंडैत, राजमहल मॉडल कॉलेज के प्राचार्य डॉ रंजीत सिंह, शहीद के पिता घनश्याम उरांव, जिरवाबाडी थाना प्रभारी अनीश पांडे समेत कई लोगों ने शामिल होकर शहीद की समाधि पर माल्यार्पण करने के बाद पुष्प अर्पित किया. इस मौके पर शहीद के परिजनों ने डीसी के समक्ष साहिबगंज समाहरणालय के सामने पुलिया के समीप शहीद स्मारक बनाने व समाहरणालय से सुभाष चौक तक शहीद कुलदीप उरांव पथ का नामांकरण करने व शहीद स्मारक स्थल पर सड़क बनाने की मांग की. डीसी ने नप पदाधिकारी से सडक बनाने की बात कहीं. उनकी एक प्रतिमा स्थापित करने का आग्रह किया. इस पर डीसी ने कहा कि इस पर विचार किया जा रहा है. ज्ञात हो कि शहीद कुलदीप उरांव साहिबगंज जिले के आजाद नगर, जिरवाबाड़ी वार्ड नं 21 के निवासी थे. वे सीआरपीएफ के क्विक एक्शन टीम के सदस्य थे. आतंक विरोधी अभियान के दौरान दो जुलाई 2020 को श्रीनगर में आतंकवादियों से मुठभेड़ में शहीद हो गये थे. वर्ष 2022 में केंद्र सरकार की ओर से उन्हें शौर्य चक्र से भी सम्मानित किया गया था. मौके पर घनश्याम उरांव, शहीद कुलदीप कुमार उरांव के वंदना उरांव, पुत्र यश उरांव, वायसी, भाई प्रदीप कुमार उरांव, भाभी पार्वती उरांव, श्याम, अशोक,सोनु सहित कई लोग उपस्थित थे. वहीं जमशेदपुर से आयी सीआरपीएफ की टीम ने भी श्रंदाजली अर्पित की.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें