1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. simdega mob lynching case wife of deceased met the governor said justice given only by cbi investigation smj

सिमडेगा मॉब लिंचिंग मामले में मृतक की पत्नी ने राज्यपाल से की मुलाकात, बोली- CBI जांच से ही मिलेगा न्याय

राज्यपाल रमेश बैस से सिमडेगा मॉब लिंचिंग मामले में मृतक संजू प्रधान की पत्नी ने मुलाकात की. इस दौरान CBI जांच की गुहार लगायी. साथ ही कहा कि बिना CBI जांच के न्याय नहीं मिल पायेगा.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Jharkhand news: राज्यपाल को CBI जांच संबंधी ज्ञापन सौंपती मृतक संजू प्रधान की पत्नी व अन्य.
Jharkhand news: राज्यपाल को CBI जांच संबंधी ज्ञापन सौंपती मृतक संजू प्रधान की पत्नी व अन्य.
सोशल मीडिया.

Jharkhand news: सिमडेगा मॉब लिंचिंग का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. मंगलवार को मृतक संजू प्रधान की पत्नी सपना देवी ने राज्यपाल रमेश बैस से भेंट कर इस मामले की CBI जांच की मांग की है. इससे पहले सोमवार को भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने भी राज्यपाल श्री बैस से भेंट कर CBI जांच की मांग समेत मृतक के परिजनों को 10 लाख रुपये, सरकारी नौकरी और सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की गयी थी. इधर, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सह राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश से मृतक संजू प्रधान के परिजनों ने मुलाकात की.

पत्रकारों से बात करते हुए मृतक संजू प्रधान की पत्नी सपना देवी ने इस मामले में लिप्त लोगों को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की. साथ ही चाचा ससुर को गिरफ्तार करने पर भी सवाल उठाये. कहा कि किस उद्देश्य से पुलिस ने चाचा ससुर को गिरफ्तार किया, वो समझ से परे है.

उन्होंने घटना के दिन पुलिस की कार्यशैली पर नाराजगी जाहिर की है. कहा कि घटना के दिन पुलिस ने सादे कागज में तीन हस्ताक्षर करा लिये, जबकि उस वक्त सवाल पूछने जैसी भी मेरी स्थिति नहीं थी. इस घटना ने मुझे पूरी तरह से झकझोर दिया है. कहा कि बिना CBI जांच के इस मामले में न्याय नहीं मिल पायेगा.

वहीं, भारतीय जनता पार्टी अनुसूचित जाति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष सह चंदनकियारी विधायक अमर कुमार बाउरी ने कहा कि मां और पत्नी के सामने संजू प्रधान की हत्या कर दी जाती है. वहीं, उसके गर्भ में पल रहे 2 महीने के बच्चे को भी नष्ट कर दिया जाता है और यह सब उस वक्त होता है जब पुलिस घटनास्थल पर मौजूद रहती है, लेकिन उनके तरफ से मृतक को बचाने की कोई कार्रवाई नहीं की जाती.

उन्होंने इस पूरे मामले में पुलिस समेत स्थानीय विधायक की भूमिका पर भी सवाल उठाया. कहा कि राजभवन इस पूरे घटनाक्रम में को गंभीरता से लेते हुए मामले पर उचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है. कहा कि हमें उम्मीद है कि राज्यपाल इस मामले पर हस्तक्षेप कर पूरे मामले की जांच CBI से करवाने की हमारी मांग को जरूर पूरा करेंगे.

इससे पहले सोमवार को भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी और पूर्व सीएम रघुवर दास के नेतृत्व में पार्टी नेताओं ने राज्यपाल रमेश बैस से मुलाकात कर CBI जांच समेत अन्य मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा. नेताओं ने मांगपत्र में सिमडेगा मॉब लिंचिंग मामले की CBI जांच कराने, दोषियों को दंडित करने, परिवार को मुआवजा के तौर पर 10 लाख रुपये देन, सरकारी नौकरी और परिवार को सुरक्षा मुहैया कराने की मांग रखी है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें