1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. seven doctors and four nurse positives of rims 42 doctors and nine nurses infected in 16 days

रिम्स के सात डॉक्टर व चार नर्स पॉजिटिव, 16 दिनों में 42 डॉक्टर और नौ नर्स संक्रमित

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
रिम्स के दो डॉक्टर और नर्स समेत नौ कोरोना पॉजिटिव
रिम्स के दो डॉक्टर और नर्स समेत नौ कोरोना पॉजिटिव

रांची : रिम्स में शुक्रवार को सात डॉक्टर व चार नर्स कोरोना संक्रमित मिलीं. इनमें स्त्री विभाग की चार सीनियर डॉक्टर, एनेस्थिसिया का एक पीजी स्टूडेंट, शिशु विभाग का एक पीजी स्टूडेंट, एक इंटर्न डाॅक्टर व रिम्स की चार स्टाफ नर्स शामिल हैं. वहीं, रिम्स इमरजेंसी में भर्ती मेडिसिन विभाग का एक जूनियर डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव मिला है. उसका इलाज एसओडी रूम में चल रहा था.

इलाज के दौरान ही शुक्रवार को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आयी. इसके बाद जूनियर डॉक्टर को रिम्स के कोविड-19 अस्पताल में शिफ्ट किया गया और इमरजेंसी को सैनिटाइज किया गया. विगत 16 दिनों में ही रिम्स के विभिन्न वार्ड व विभाग के करीब 42 डॉक्टर व नौ नर्स कोरोना पॉजिटिव हो गयी हैं. इधर, डॉक्टराें के लगातार संक्रमित होने से टास्क फोर्स इलाज को लेकर चिंतित हैं.

काेविड अस्पताल के दो स्टाफ ही संक्रमित : रिम्स के ट्रॉमा सेंटर में बने कोविड-19 अस्पताल को संचालित हुए करीब 116 दिन हो गये हैं. अब तक यहां एक नर्स आैर एक महिला वार्ड अटेंडेंट ही संक्रमित हुईं. कोविड अस्पताल में सुरक्षा के मानकों का पूरा ख्याल रखा जाता है, इसलिए संक्रमितों के बीच रहने के बावजूद भी डॉक्टर व नर्स सुरक्षित हैं. टास्क फोर्स की पूरी टीम प्रतिदिन ड्यूटी देती है. दूसरी आेर, रिम्स के 42 डॉक्टर व नौ नर्स कोरोना पॉजिटिव हो गयी हैं.

ऐसे में रिम्स की व्यवस्था पर सवाल उठने लगे हैं. विशेषज्ञों की मानें, तो कोविड अस्पताल में कार्यरत सभी स्टाफ मास्क व ग्लब्स लगाते हैं. मरीज को भी मास्क दिया जाता है. डॉक्टर व नर्स पीपीइ किट पहनती हैं. सफाई कर्मचारी पीपीइ किट पहन कर संक्रमित के बेड तक जाकर सफाई करते हैं. वहीं, रिम्स के अन्य वार्ड में सुरक्षा मानकों का सही से पालन नहीं किया जा रहा है.

हमारे पास इलाज के लिए डॉक्टरों की कमी होती जा रही है. अगर ऐसे ही हमारे डॉक्टर व नर्स संक्रमित हो जायेंगे, तो कोविड-19 अस्पताल में इलाज प्रभावित होने लगेगा. जिला प्रशासन को पीएचसी व सीएचसी से डॉक्टर की व्यवस्था करनी चाहिए और उनको रिम्स में तैनात करना चाहिए.

-डॉ प्रभात कुमार, नोडल ऑफिसर

इनका रखें ख्याल

प्रत्येक मरीज को मास्क दिया जाये

वार्ड में भर्ती मरीज काे नर्स सैनिटाइजर का उपयोग करायें

मरीज के पास सिर्फ एक परिजन को आने का आदेश हो

डॉक्टर संभव हो, तो पीपीइ किट पहन कर ही मरीज के संपर्क में जायें

Post by : Prabhat Khabar

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें