1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. plfi naxalites threatened to kill lady mukhia for levy of rs 5 lakh in ranchi district of jharkhand

पीएलएफआई ने मुखिया के घर में घुसकर की मारपीट, 5 लाख रुपये नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
मुखिया झामको मुंडा को आयी है अंदरूनी चोटें.
मुखिया झामको मुंडा को आयी है अंदरूनी चोटें.
Prabhat Khabar

चान्हो (तौफीक आलम) : झारखंड की राजधानी रांची के चान्हो थाना क्षेत्र में बलसोकरा पंचायत की मुखिया झामको मुंडा को पीएलएफआई के उग्रवादियों ने घर में घुसकर पीट दिया. शनिवार की रात लेवी की मांग को लेकर पीएलएफआई के उग्रवादियों ने मुखिया के साथ मारपीट की. लात-घूंसों से उन्हें मारा. पांच लाख रुपये की मांग करते हुए उग्रवादियों ने महिला मुखिया को जान से मारने की धमकी दी है.

पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएलएफआई) के उग्रवादियों ने झामको मुंडा से कहा कि संगठन चलाने के लिए पैसों की जरूरत है. जल्दी ही उन्हें (उग्रवादियों को) पैसे नहीं मिले, तो उनकी (मुखिया झामको मुंडा की) हत्या कर दी जायेगी.

बताया जा रहा है कि शनिवार की रात को करीब साढ़े सात बजे बलसोकरा के पहानटोली स्थित मुखिया झामको मुंडा के आवास में तीन हथियारबंद लोग गांव में होटल चलाने वाले उसके भाई को लेकर पहुंचे थे. घर में घुसते ही हथियारबंद लोगों में से एक ने कहा, ‘मैं ही कृष्णा यादव हूं. मैं यहां के पूर्व मुखिया भोला उरांव को मार चुका हूं. मुझे संगठन चलाने के लिए पांच लाख रुपये दो, नहीं तो तुम्हें भी हम मुखिया के पास पहुंचा देंगे.’

इसके बाद तीनों ने मुखिया को लात-घूसों से पीटना शुरू कर दिया. कहा, ‘तुम पुलिस को सूचना देती हो. देखते हैं तुम्हें पुलिस कब तक बचाती है. समय पर पांच लाख रुपये नहीं मिले, तो तुम्हें जान से मार दिया जायेगा.’ मुखिया के परिजनों का कहना है कि जब दो-तीन लोग अंदर मारपीट कर रहे थे, तब पांच-छह हथियारबंद लोग घर के बाहर भी खड़े थे. बाद में सभी लोग वहां से हथियार लहराते हुए चले गये.

नक्सलियों की पिटाई से मुखिया झामको मुंडा को अंदरूनी चोटें आयी हैं. मुखिया का रविवार को चान्हो सीएचसी में इलाज किया गया. इससे पहले भी 27 जुलाई को पांच-छह हथियारबंद लोगों ने झामको मुंडा के घर आकर उनसे पीएलएफआई के नाम पर लेवी मांगी थी. उनके घर के बाहर लेवी की मांग से संबंधित पर्चा छोड़कर गये थे. मुखिया से मारपीट की घटना के बाद से क्षेत्र में दहशत का माहौल है.

नक्सली कृष्णा के खिलाफ दर्ज हैं करीब तीन दर्जन मामले

चान्हो थाना क्षेत्र के बलसोकरा के करमटोली निवासी पीएलएफआई से जुड़े कृष्णा यादव उर्फ कृष्णा गोप का नाम पहली बार बलसोकरा पंचायत के मुखिया भोला उरांव की हत्या के बाद सुर्खियों में आया था. 23 मार्च, 2013 को भोला उरांव की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी.

भोला उरांव की हत्या के मामले में कृष्णा गोप जेल गया था. कुछ ही दिन बाद वह जेल से छूट गया. इसके बाद पीएलएफआई से जुड़ा और लोगों से लेवी वसूलने लगा. वर्तमान में उसके खिलाफ कुड़ू थाना में 15, खलारी में 6, चान्हो में 7, बुढ़मू में 7 मामले दर्ज हैं.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें