1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. omicron in jharkhand health department have trouble to making strategy coronavirus in ranchi prt

Omicron Jharkhand: झारखंड में ओमिक्रोन को लेकर संशय, स्वास्थ्य विभाग को रणनीति बनाने में हो रही परेशानी

राजीव पांडेय, रांचीः देश में एक ओर नये वैरिएंट ओमिक्रोन को लेकर दिशानिर्देश जारी हो रहे हैं, वहीं झारखंड में स्वास्थ्य विभाग इसे लेकर अभी तक संशय की स्थिति में है, क्योंकि अब तक यहां ओमिक्रोन की आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पायी है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Coronavirus, Omicron in Jharkhand
Coronavirus, Omicron in Jharkhand
Twitter

Omicron Jharkhand: राजीव पांडेय, रांचीः देश में एक ओर नये वैरिएंट ओमिक्रोन को लेकर दिशानिर्देश जारी हो रहे हैं, वहीं झारखंड में स्वास्थ्य विभाग इसे लेकर अभी तक संशय की स्थिति में है, क्योंकि अब तक यहां ओमिक्रोन की आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पायी है. हालांकि राज्य में जिस तरह संक्रमण फैल रहा है, उससे विशेषज्ञ मान रहे हैं कि यह ओमिक्रोन हो सकता है.

संशय की स्थिति होने से ओमिक्रोन पर स्वास्थ्य मंत्रालय के आदेश और गाइडलाइन को जारी नहीं किया जा पा रहा है. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि ओमिक्रोन की पुष्टि हो जाती, तो उसके हिसाब से ठोस रणनीति बनाने में मदद मिलती. नये वैरिएंट को लेकर कंटेनमेंट जोन, माइक्रो कंटेनमेंट जोन और अन्य एहतियात उसी हिसाब से बरते जाते.

पड़ोसी राज्यों में नये वैरिएंट का फैलाव तेज: इधर पड़ोसी राज्यों से झारखंड में लोगों का आवागमन जारी है और वहां नये वैरिएंट का फैलाव तेजी से हो रहा है. पड़ोसी राज्य ओड़िशा में ओमिक्रोन के 60 संक्रमित मिले हैं. वहीं पश्चिम बंगाल में 27, उत्तरप्रदेश में 31 और छत्तीसगढ़ में तीन ओमिक्रोन से संक्रमित लोगों की पुष्टि हो चुकी है. इधर,अपर मुख्य सचिव ने जीनोम सिक्वेंसिंग की जांच के लिए एम्स भुवनेश्वर और एनआइबीएम कोलकाता को अनुमति देने का आग्रह किया है.

  • देश में जारी हो रही ओमिक्रोन को लेकर गाइडलाइन, लेकिन झारखंड में ऐसा नहीं हो पा रहा है

  • जीनोम सिक्वेंसिंग मशीन नहीं होने से आइएलएस भुवनेश्वर पर निर्भर है झारखंड

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

कोरोना के फैलाव की गति से ओमिक्रोन का अनुमान ही लगाया जा रहा है. केंद्र सरकार की गाइडलाइन जारी हो गयी है. ओमिक्रोन में भी इलाज और बचाव वही है, इसलिए उसी का पालन करना है. नये वैरिएंट की पुष्टि हो या नहीं, लेकिन गाइडलाइन का पालन सभी स्तर पर होना चाहिए.

डॉ प्रदीप भट्टाचार्या, क्रिटिकल केयर विशेषज्ञ, रिम्स

जैक ने इस माह होनेवाली छात्रवृत्ति परीक्षा स्थगित की: कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के कारण इस माह होनेवाली दो छात्रवृत्ति परीक्षा की तिथि आगे बढ़ायी जायेगी. जैक ने परीक्षा स्थगित करने का निर्णय लिया है. जैक जल्द ही इसका आधिकारिक पत्र जारी करेगा. राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा 16 जनवरी और राष्ट्रीय साधन सह मेधा छात्रवृत्ति परीक्षा 23 जनवरी को होनी थी. राष्ट्रीय प्रतिभा खोज की प्रथम चरण की परीक्षा झारखंड एकेडमिक काउंसिल द्वारा ली जाती है, जबकि मुख्य परीक्षा एनसीइआरटी द्वारा आयोजित की जाती है.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें