18.1 C
Ranchi
Friday, March 1, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

काले धन का पहाड़ : झारखंड के कांग्रेस नेता धीरज साहू के ठिकानों पर नोटों की गिनती जारी, सांसद ने साधी चुप्पी

अनुमान है कि 300 करोड़ से ज्यादा नकदी है. नोटों को भरकर ले जाने में आयकर को 156 बड़े बैग और बोरियों का इस्तेमाल करना पड़ा. कंपनी के कुछ कर्मचारियों से आयकर की टीम पूछताछ भी कर रही है. पहले दिन 30 आलमारियों में भरे नोट मिले थे.

IT Raids at Locations of Jharkhand Congress MP Dhiraj Sahu|‘बलदेव साहू एंड ग्रुप ऑफ कंपनीज’ के ठिकानों पर छापेमारी के बाद तीसरे दिन शुक्रवार को आयकर विभाग ओडिशा के अधिकारियों के अनुरोध पर नोट गिननेवाली बड़ी मशीनें हैदराबाद और भुनेश्वर से बलांगीर सहित उन ठिकानों पर पहुंच गयी हैं, जहां नोटों से भरी अलमारियां हैं. हैदराबाद जोन के डीजी इंवेस्टिगेशिन संजय बहादुर छापेमारी और नोटों की गिनती पर नजर बनाये हुए हैं. विभागीय सूत्रों के अनुसार, समाचार लिखे जाने तक 260 करोड़ रुपये की गिनती पूरी हो चुकी थी. अनुमान है कि 300 करोड़ से ज्यादा नकदी है. नोटों को भरकर ले जाने में आयकर को 156 बड़े बैग और बोरियों का इस्तेमाल करना पड़ा. कंपनी के कुछ कर्मचारियों से आयकर की टीम पूछताछ भी कर रही है. पहले दिन 30 आलमारियों में भरे नोट मिले थे. दूसरे दिन भी नोटों से भरे कई बैग मिले हैं. अभी लॉकरों को नहीं खोला जा सका है. इधर, आयकर की इस छापेमारी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ‘एक्स’ अकाउंट पर कहा है : देशवासी इन नोटों के ढेर को देखें और फिर इनके नेताओं की ईमानदारी के भाषणों को सुनें. जनता से जो लूटा है, उसकी पाई-पाई लौटानी पड़ेगी. यह मोदी की गारंटी है.

कार्रवाई की जाएगी

बौध डिस्टिलरी प्राइवेट लिमिट भुवनेश्वर से करीब 200 किमी दूर स्थित बौध जिले में है और 40 एकड़ क्षेत्र में फैली हुई है. इस ग्रुप के निदेशकों में अमित साहू, रितेश साहू और उदय शंकर प्रसाद का नाम है. विभागीय सूत्रों के अनुसार, नोटों की गिनती पूरी होने के बाद कंपनी समूह के लोगों से इस सिलसिले में पूछताछ की जायेगी. साथ ही इतनी भारी नकदी अपने पास रखने के कारणों की जानकारी ली जायेगी. इसके बाद कंपनी द्वारा नकद रखने की क्षमता के अतिरिक्त नोटों को जब्त कर आयकर अधिनियम में निहित प्रावधानों के तहत कार्रवाई की जायेगी.

खास बातें

  • पहले दिन 30 आलमारियों में भरे नोट मिले थे, दूसरे दिन नोटों से भरे कई बैग भी मिले, लॉकरों को खोला जाना बाकी

  • हैदराबाद और भुवनेश्वर से नोट गिनने की बड़ी मशीनें पहुंचीं, हैदराबाद जोन के डीजी इन्वेस्टिगेशन कर रहे हैं निगरानी

  • कांग्रेस के राज्यसभा सांसद धीरज साहू और परिवार की है कंपनी ‘बलदेव साहू एंड ग्रुप’

  • इसके निदेशकों में अमित साहू, रितेश साहू व उदय शंकर प्रसाद का नाम शामिल

उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी झारखंड में चुनाव के दौरान साहू परिवार से संबंधित एक कर्मचारी के पास से नकद राशि पकड़ी गयी थी. इसके बाद रांची आयकर विभाग ने रांची स्थित ठिकानों पर छापा मारा था. छापामारी के दौरान करीब आठ करोड़ रुपये नकद मिले थे, लेकिन उनके बुक्स ऑफ अकाउंट में इसका प्रावधान होने की वजह से आयकर विभाग ने छापेमारी के दौरान मिली नकद राशि को जब्त नहीं किया था.

Also Read: नोट गिनते-गिनते थककर बंद हो गई मशीन, झारखंड के कांग्रेस सांसद धीरज साहू से है कनेक्शन

धीरज साहू ने अब तक नहीं दी है प्रतिक्रिया

आयकर विभाग ने संबलपुर, बलांगीर, टिटिलागढ़, बौध, सुंदरगढ़, राउरकेला और भुवनेश्वर में छापेमारी की है. यह शराब बनाने और बिक्री करनेवाली देश की सबसे बड़ी कंपनियों में शुमार है. कांग्रेस के राज्यसभा सांसद धीरज साहू या शराब का कारोबार करनेवाली इस कंपनी ने अब तक छापे को लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. वहीं, इस सिलसिले में अब तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है.

अब तक इन प्रमुख जगहों पर छापेमारी

  • सुंदरगढ़ शहर के सरगीपाली में कुछ घरों, कार्यालयों और शराब उत्पादन इकाई

  • भुवनेश्वर के पलासापल्ली में बौध शराब प्राइवेट लिमिटेड के कॉर्पोरेट कार्यालय

  • कंपनी के कुछ अधिकारियों के घरों, बौध स्थित कंपनी के कारखाना और कार्यालय तथा रानीसती राइस मिल

Also Read: राज्यसभा सांसद धीरज साहू के ओड़िशा और झारखंड के ठिकानों पर आयकर का छापा, जानें पूरा मामला

50 करोड़ की ही पहले दिन हो पाई थी गिनती

बौध डिस्टिलरी के ठिकानों पर शुरू हुई आयकर की छापेमारी शुक्रवार तीसरे दिन भी जारी रही. छापेमारी के दौरान नोटों से भरी 30 अलमारियां मिली हैं. छापेमारी के पहले दिन बलांगीर एसबीआइ के अधिकारियों ने नोटों की गिनती शुरू की. हालांकि, 50 करोड़ रुपये की गिनती के बाद छोटी मशीनों से नोटों की गिनती जारी रखना संभव नहीं होने की वजह से गिनती बंद कर दी गयी. इसके बाद स्थानीय अधिकारियों ने भुनेश्वर और हैदराबाद से नोट गिननेवाली बड़ी मशीनें मंगाने का अनुरोध किया. इसके बाद भुनेश्वर से कुछ बड़ी मशीनें बलांगीर पहुंचीं.

हवाई जहाज से आईं नोट गिनने वाली बड़ी मशीनें

हवाई जहाज से हैदराबाद से भी नोट गिननेवाली बड़ी मशीनें तीसरे दिन ओड़िशा पहुंचीं. इन मशीनों को बलांगीर पहुंचाने में अधिकारियों के परेशानियों का सामना करना पड़ा, क्योंकि भुनेश्वर से बलांगीर की दूरी करीब 300 किलोमीटर से अधिक है. कुल 156 बैग में नोट मिले हैं. इनको गिननेवाली बड़ी मशीनों के पहुंचने के बाद नोटों की गिनती शुरू कर दी गयी है. वास्तविक आंकड़ा नोटों की गिनती पूरी होने के बाद ही सामने आयेगा. इस बीच सूचना है कि संबलपुर में भी नोटों से भरे 30 बैग मिले हैं. नोटों को बैंक लाया गया है. इसकी गिनती के लिए 14 लोग लगाये गये हैं.

Also Read: झारखंड: कांग्रेस सांसद धीरज साहू के खिलाफ FIR दर्ज कर हो पूछताछ, कैश बरामदगी मामले में बोले बाबूलाल मरांडी

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें