25.1 C
Ranchi
Monday, February 26, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

नोट गिनते-गिनते थककर बंद हो गई मशीन, झारखंड के कांग्रेस सांसद धीरज साहू से है कनेक्शन

झारखंड के कांग्रेस नेता से जुड़े इस मामले में आयकर विभाग की छापेमारी तीसरे दिन भी जारी है. छापेमारी का शुक्रवार (8 दिसंबर) को तीसरा दिन है. रेड के अभी दो दिन और जारी रहने की संभावना है. इस बीच, हैदराबाद से सीनियर ऑफिसर ओडिशा पहुंच चुके हैं.

झारखंड के राज्यसभा सांसद धीरज साहू से जुड़ी कंपनियों के यहां पड़ी रेड में इतने नोट मिले हैं कि मशीन से भी गिनती पूरी नहीं हो पा रही है. नोट गिनने वाली मशीन नोट गिनते-गिनते थककर बंद हो गई. जी हां. यह सच है. देश में अब तक मिला कैश (नकदी) का यह सबसे बड़ा जखीरा है. झारखंड की राजधानी रांची में भ्रष्टाचार के आरोप में निलंबित आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल के करीबी के ठिकाने से 20 करोड़ रुपए नकदी मिली, तो पूरे देश में इसकी चर्चा हुई. बाद में पश्चिम बंगाल के पूर्व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी के यहां केंद्रीय जांच एजेंसियां पहुंचीं, तो एक फ्लैट से 50 करोड़ रुपए बरामद हुए. और अब धीरज साहू के करीबियों के ठिकाने से 300 करोड़ रुपए नकद मिले हैं. जी हां. सही सुना आपने. 300 करोड़ रुपए से अधिक कैश मिल चुके हैं. यह बरामदगी सिर्फ ओडिशा से हुई है. बौध डिस्टिलरी प्राइवेट लिमिटेड और बलदेव साहू एंड ग्रुप ऑफ कंपनी से. ओडिशा के सुंदरगढ़ जिले के दो बड़े शराब कारोबियों के यहां लगातार दो दिन तक चली छापेमारी के बाद इनकम टैक्स की टीम ने यह रकम बरामद की. 30 आलमारियों में रखे नोटों की गिनती के लिए बड़ी मशीनें मंगवानी पड़ी. ये मशीनें भी नोट नहीं गिन पाई. नोट गिनते-गिनते मशीन बंद हो गई. हालांकि, आयकर विभाग की ओर से अब तक यह सूचना नहीं दी गई है कि कुल कितने रुपए की बरामदगी हुई है, लेकिन विभागीय सूत्रों ने बताया है कि 300 करोड़ रुपए की गिनती हो चुकी है.

बौध डिस्टिलरी और बलदेव साहू एंड ग्रुप में चल रही जांच

झारखंड के कांग्रेस नेता से जुड़े इस मामले में आयकर विभाग की छापेमारी तीसरे दिन भी जारी है. छापेमारी का शुक्रवार (8 दिसंबर) को तीसरा दिन है. रेड के अभी दो दिन और जारी रहने की संभावना है. इस बीच, हैदराबाद से सीनियर ऑफिसर ओडिशा पहुंच चुके हैं. बौध डिस्टिलरी प्राइवेट लिमिटेड और बलदेव साहू एंड ग्रुप ऑफ कंपनी के खिलाफ टैक्स चोरी की जांच इनकम टैक्स विभाग ने शुरू की थी. जांच के दौरान इतने कैश मिले कि आयकर विभाग के अधिकारी भी दंग रहे गए. विभागीय सूत्रों की मानें, तो करीब 300 करोड़ रुपए बरामद हुए हैं. इसमें अभी और वृद्धि होने की संभावना है. इस मामले ने पूरे ओडिशा को झकझोर दिया है. आयकर के इतिहास में इतनी बड़ी रकम की बरामदगी कभी नहीं हुई थी. आयकर विभाग ने ओडिशा के बलांगीर, बौद्ध, संबलपुर, टिटलागढ़, सुंदरगढ़, राउरकेला सहित आधा दर्जनों में जिलों में एक साथ छापेमारी की है. इसके अलावा झारखंड के रांची, लोहरदगा और कोलकाता में भी छापेमारी चल रही है.

Also Read: झारखंड के सांसद धीरज साहू के करीबी के ठिकानों पर आईटी की रेड जारी, करीब 50 करोड़ कैश मिलने की सूचना

तीन दिन से चल रही है छापेमारी

राउरकेला में कामेश्वर तिवारी तथा सुंदरगढ़ में राजकिशोर जायसवाल के घर पर छापा: गुरुवार को सिविल टाउनशिप में ओ-29 पर छापेमारी जारी रही. बुधवार से ही यहां छापेमारी चल रही थी. विभागीय सूत्रों के अनुसार यह घर राउरकेला के बड़े शराब कारोबारी कामेश्वर तिवारी का है. यहां पांच सदस्यीय टीम लगातार छापेमारी कर तथ्य जुटा रही है. इसी तरह सुंदरगढ़ में रानीबगीचा स्थित राजकिशोर जायसवाल के घर पर सात सदस्यीय विभागीय टीम का छापा लगातार दूसरे दिन जारी रहा है. बुधवार से ही टीम यहां पर है. लगातार अधिकारियों का आना-जाना लगा है. आयकर विभाग के सूत्रों के अनुसार ना केवल घर बल्कि अन्य ठिकानों पर भी छापेमारी चल रही है. इनमें कार्यालय से लेकर होटल सबकुछ शामिल है. अभी यह छापेमारी अगले और कुछ दिनों तक भी चल सकती है.

नोट गिनते-गिनते बंद पड़ गयी मशीन

बलांगीर से बरामद नकदी पांच-पांच सौ रुपये के नोट के बंडल थे जिन्हें गिनने के लिए आयकर विभाग की ओर से मशीन मंगायी गयी थी. आयकर विभाग के सूत्रों के अनुसार नोट क गिनते-गिनते मशीन बंद हो गयी थी. पहले दिन जहां छापेमारी में 100 करोड़ रुपये से अधिक के नकदी बरामदगी की बात आ रही थी वहीं अब यह आंकड़ा तीन सौ करोड़ को पार कर जाने की सूचना है. अभी छापेमारी जारी है यानी आयकर विभाग के पास और भी तथ्य मौजूद हैं जिनके आधार पर हर एक पहलू को खंगाला जा रहा है.

Also Read: सुप्रीम कोर्ट से राज्यसभा सांसद धीरज साहू को मिली बड़ी राहत, निर्वाचन को चुनौती देने वाली याचिका हुई खारिज

शीर्ष अधिकारियों की बनी है नजर

आयकर विभाग के शीर्ष अधिकारियों का भी इस सिलसिले में ओडिशा आना शुरु हो चुका है. यह ओडिशा के इतिहास में सबसे बड़ी छापेमारी मानी जा रही है. छापेमारी पूरी होने तक यह शीर्ष अधिकारी ओडिशा में ही रहेंगे और जांच के विभिन्न पहलूओं का निरीक्षण करेंगे.

चुनाव की सरगर्मी के पहले बड़ी छापेमारी से हड़कंप

लोकसभा और विधानसभा चुनाव से पहले ओडिशा में हुई इस बड़ी छापेमारी से राजनीतिक हलकों में भी चर्चा तेज हो गयी है. इतनी बड़ी रकम का इस्तेमाल क्या चुनावों में भी हो सकता है इसकी भी जांच चल रही है. फिलहाल आयकर विभाग छापेमारी कर रही है लेकिन आगामी दिनों में अन्य जांच एजेंसियों के भी शामिल होने की संभावना है.

कोईड़ा में भी चल रही जांच

आयकर विभाग के सूत्रों के अनुसार, जांच कोईड़ा में भी चल रही है. यहां के कुछ व्यवसायियों का भी बौद्ध डिस्टिलरी लि. से संपर्क होने की बात बात सामने आ रही है जिसके बाद जांच के दायरे को लगातार विस्तार दिया जा रहा है. बताया जा रहा है कि आयकर विभाग की कार्रवाई पूरी होने के बाद आधिकारिक रूप से विस्तृत जानकारी साझा की जाएगी.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें

नोट गिनते-गिनते थककर बंद हो गई मशीन, झारखंड के कांग्रेस सांसद धीरज साहू से है कनेक्शन

झारखंड के कांग्रेस नेता से जुड़े इस मामले में आयकर विभाग की छापेमारी तीसरे दिन भी जारी है. छापेमारी का शुक्रवार (8 दिसंबर) को तीसरा दिन है. रेड के अभी दो दिन और जारी रहने की संभावना है. इस बीच, हैदराबाद से सीनियर ऑफिसर ओडिशा पहुंच चुके हैं.

झारखंड के राज्यसभा सांसद धीरज साहू से जुड़ी कंपनियों के यहां पड़ी रेड में इतने नोट मिले हैं कि मशीन से भी गिनती पूरी नहीं हो पा रही है. नोट गिनने वाली मशीन नोट गिनते-गिनते थककर बंद हो गई. जी हां. यह सच है. देश में अब तक मिला कैश (नकदी) का यह सबसे बड़ा जखीरा है. झारखंड की राजधानी रांची में भ्रष्टाचार के आरोप में निलंबित आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल के करीबी के ठिकाने से 20 करोड़ रुपए नकदी मिली, तो पूरे देश में इसकी चर्चा हुई. बाद में पश्चिम बंगाल के पूर्व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी के यहां केंद्रीय जांच एजेंसियां पहुंचीं, तो एक फ्लैट से 50 करोड़ रुपए बरामद हुए. और अब धीरज साहू के करीबियों के ठिकाने से 300 करोड़ रुपए नकद मिले हैं. जी हां. सही सुना आपने. 300 करोड़ रुपए से अधिक कैश मिल चुके हैं. यह बरामदगी सिर्फ ओडिशा से हुई है. बौध डिस्टिलरी प्राइवेट लिमिटेड और बलदेव साहू एंड ग्रुप ऑफ कंपनी से. ओडिशा के सुंदरगढ़ जिले के दो बड़े शराब कारोबियों के यहां लगातार दो दिन तक चली छापेमारी के बाद इनकम टैक्स की टीम ने यह रकम बरामद की. 30 आलमारियों में रखे नोटों की गिनती के लिए बड़ी मशीनें मंगवानी पड़ी. ये मशीनें भी नोट नहीं गिन पाई. नोट गिनते-गिनते मशीन बंद हो गई. हालांकि, आयकर विभाग की ओर से अब तक यह सूचना नहीं दी गई है कि कुल कितने रुपए की बरामदगी हुई है, लेकिन विभागीय सूत्रों ने बताया है कि 300 करोड़ रुपए की गिनती हो चुकी है.

बौध डिस्टिलरी और बलदेव साहू एंड ग्रुप में चल रही जांच

झारखंड के कांग्रेस नेता से जुड़े इस मामले में आयकर विभाग की छापेमारी तीसरे दिन भी जारी है. छापेमारी का शुक्रवार (8 दिसंबर) को तीसरा दिन है. रेड के अभी दो दिन और जारी रहने की संभावना है. इस बीच, हैदराबाद से सीनियर ऑफिसर ओडिशा पहुंच चुके हैं. बौध डिस्टिलरी प्राइवेट लिमिटेड और बलदेव साहू एंड ग्रुप ऑफ कंपनी के खिलाफ टैक्स चोरी की जांच इनकम टैक्स विभाग ने शुरू की थी. जांच के दौरान इतने कैश मिले कि आयकर विभाग के अधिकारी भी दंग रहे गए. विभागीय सूत्रों की मानें, तो करीब 300 करोड़ रुपए बरामद हुए हैं. इसमें अभी और वृद्धि होने की संभावना है. इस मामले ने पूरे ओडिशा को झकझोर दिया है. आयकर के इतिहास में इतनी बड़ी रकम की बरामदगी कभी नहीं हुई थी. आयकर विभाग ने ओडिशा के बलांगीर, बौद्ध, संबलपुर, टिटलागढ़, सुंदरगढ़, राउरकेला सहित आधा दर्जनों में जिलों में एक साथ छापेमारी की है. इसके अलावा झारखंड के रांची, लोहरदगा और कोलकाता में भी छापेमारी चल रही है.

Also Read: झारखंड के सांसद धीरज साहू के करीबी के ठिकानों पर आईटी की रेड जारी, करीब 50 करोड़ कैश मिलने की सूचना

तीन दिन से चल रही है छापेमारी

राउरकेला में कामेश्वर तिवारी तथा सुंदरगढ़ में राजकिशोर जायसवाल के घर पर छापा: गुरुवार को सिविल टाउनशिप में ओ-29 पर छापेमारी जारी रही. बुधवार से ही यहां छापेमारी चल रही थी. विभागीय सूत्रों के अनुसार यह घर राउरकेला के बड़े शराब कारोबारी कामेश्वर तिवारी का है. यहां पांच सदस्यीय टीम लगातार छापेमारी कर तथ्य जुटा रही है. इसी तरह सुंदरगढ़ में रानीबगीचा स्थित राजकिशोर जायसवाल के घर पर सात सदस्यीय विभागीय टीम का छापा लगातार दूसरे दिन जारी रहा है. बुधवार से ही टीम यहां पर है. लगातार अधिकारियों का आना-जाना लगा है. आयकर विभाग के सूत्रों के अनुसार ना केवल घर बल्कि अन्य ठिकानों पर भी छापेमारी चल रही है. इनमें कार्यालय से लेकर होटल सबकुछ शामिल है. अभी यह छापेमारी अगले और कुछ दिनों तक भी चल सकती है.

नोट गिनते-गिनते बंद पड़ गयी मशीन

बलांगीर से बरामद नकदी पांच-पांच सौ रुपये के नोट के बंडल थे जिन्हें गिनने के लिए आयकर विभाग की ओर से मशीन मंगायी गयी थी. आयकर विभाग के सूत्रों के अनुसार नोट क गिनते-गिनते मशीन बंद हो गयी थी. पहले दिन जहां छापेमारी में 100 करोड़ रुपये से अधिक के नकदी बरामदगी की बात आ रही थी वहीं अब यह आंकड़ा तीन सौ करोड़ को पार कर जाने की सूचना है. अभी छापेमारी जारी है यानी आयकर विभाग के पास और भी तथ्य मौजूद हैं जिनके आधार पर हर एक पहलू को खंगाला जा रहा है.

Also Read: सुप्रीम कोर्ट से राज्यसभा सांसद धीरज साहू को मिली बड़ी राहत, निर्वाचन को चुनौती देने वाली याचिका हुई खारिज

शीर्ष अधिकारियों की बनी है नजर

आयकर विभाग के शीर्ष अधिकारियों का भी इस सिलसिले में ओडिशा आना शुरु हो चुका है. यह ओडिशा के इतिहास में सबसे बड़ी छापेमारी मानी जा रही है. छापेमारी पूरी होने तक यह शीर्ष अधिकारी ओडिशा में ही रहेंगे और जांच के विभिन्न पहलूओं का निरीक्षण करेंगे.

चुनाव की सरगर्मी के पहले बड़ी छापेमारी से हड़कंप

लोकसभा और विधानसभा चुनाव से पहले ओडिशा में हुई इस बड़ी छापेमारी से राजनीतिक हलकों में भी चर्चा तेज हो गयी है. इतनी बड़ी रकम का इस्तेमाल क्या चुनावों में भी हो सकता है इसकी भी जांच चल रही है. फिलहाल आयकर विभाग छापेमारी कर रही है लेकिन आगामी दिनों में अन्य जांच एजेंसियों के भी शामिल होने की संभावना है.

कोईड़ा में भी चल रही जांच

आयकर विभाग के सूत्रों के अनुसार, जांच कोईड़ा में भी चल रही है. यहां के कुछ व्यवसायियों का भी बौद्ध डिस्टिलरी लि. से संपर्क होने की बात बात सामने आ रही है जिसके बाद जांच के दायरे को लगातार विस्तार दिया जा रहा है. बताया जा रहा है कि आयकर विभाग की कार्रवाई पूरी होने के बाद आधिकारिक रूप से विस्तृत जानकारी साझा की जाएगी.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें