27.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

5 हजार लीटर से अधिक पानी का किया उपयोग, तो देना होगा पूरा बिल, सूडा ने रांची नगर निगम को दिया निर्देश

अब निगम के टैक्स कलेक्टर घर-घर जाकर लोगों से कह रहे हैं कि अगर आपने पांच हजार लीटर तक पानी का उपयोग किया है, तो वह फ्री है. लेकिन इससे अधिक अगर एक लीटर पानी का उपयोग किया, तो पूरे पानी के बिल का भुगतान करना होगा.

Ranchi News: अगर आप रांची शहर में रहते हैं और आपके घर में वाटर कनेक्शन है, तो महीना में पांच हजार लीटर से एक लीटर भी अधिक पानी का उपयोग आपने किया है, तो आपको पूरे पानी के बिल का भुगतान करना पड़ेगा. नगर विकास विभाग के सूडा द्वारा इस संबंध में रांची नगर निगम को दिशा-निर्देश जारी गया है. विभाग के इस आदेश के आलोक में निगम के टैक्स कलेक्टर अब नये सिरे से टैक्स की वसूली करने में लगे हुए हैं.

पहले 5000 लीटर पानी मुफ्त देने का किया गया था वादा

वर्ष 2022 में राज्य सरकार द्वारा जारी नोटिफिकेशन को आधार बनाते हुए निगम के अधिकारियों ने कहा था कि हर परिवार को पांच हजार लीटर पानी मुफ्त दिया जायेगा. पांच हजार लीटर पानी से अधिक उपयोग किये जाने पर बाकी पानी के लिए पैसे देने होंगे. लेकिन अब निगम के टैक्स कलेक्टर घर-घर जाकर लोगों से कह रहे हैं कि अगर आपने पांच हजार लीटर तक पानी का उपयोग किया है, तो वह फ्री है. लेकिन इससे अधिक अगर एक लीटर पानी का उपयोग किया, तो पूरे पानी के बिल का भुगतान करना होगा.

कनेक्शन दे दिया, लेकिन अब रिकॉर्ड में नाम ही नहीं

हर घर को नि:शुल्क वाटर कनेक्शन देने के लिए जुडको द्वारा शहर के सभी मोहल्लों में जोर-शोर से पाइपलाइन बिछाकर वाटर कनेक्शन दिया जा रहा है. लेकिन इसमें भी मनमानी चरम पर है. कनेक्शन लेने वाले लोगों के अनुसार उन्हें कनेक्शन देते समय सारे पेपर लिए गये, लेकिन हमारा रिकॉर्ड में कहीं नाम ही नहीं है. ऐसे में अगर कभी हमारे घर की जांच होगी, तो हमारे कनेक्शन को अवैध बताते हुए जुर्माना भी हो सकता है. इसलिए निगम ऐसे लोगों की सूची को अपडेट करे. अगर किसी का कागजात जमा नहीं हुआ है, तो निगम ऐसे लोगों से कागजात लेकर उनका नाम रिकॉर्ड में दर्ज कराये.

रेगुलर मीटर रीडिंग करने नहीं आते कर्मी

पानी के बिल को लेकर नयी व्यवस्था यह की गयी है कि हर माह निगमकर्मी आकर मीटर रीडिंग करेंगे. लेकिन कर्मी तीन-चार माह में आकर मीटर रीडिंग कर रहे हैं. इससे वे पानी के बड़े उपभोक्ताओं में शामिल हो जा रहे हैं. इन्हें ऊपरी स्लैब के अनुसार बिल का भुगतान करना पड़ रहा है.

पांच हजार लीटर तक पानी का उपयोग मुफ्त है. इससे ज्यादा की खपत पर पूरे पानी के बिल का भुगतान करना पड़ेगा. हर माह नियमित रूप से पानी का बिल लोगों के घर तक पहुंचे, इसके लिए टैक्स कलेक्शन एजेंसी को दिशा-निर्देश दिया जा चुका है.

-कुंवर सिंह पाहन, अपर नगर आयुक्त

Also Read: झारखंड के सरकारी विभागों में 2 लाख से अधिक पद हैं खाली, जानें किस विभाग में कितनी सीटें

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें