1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. mgnrega scam in jharkhand ias pooja singhal again appeared in front of ed was questioned for 9 hours yesterday srn

Jharkhand News: IAS अधिकारी पूजा सिंघल आज फिर पहुंची ईडी कार्यालय, कल हुई थी 9 घंटे तक पूछताछ

आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल आज फिर रांची के ईडी कार्यालय पहुंची हैं. ईडी की टीम अभी लगातार पूजा सिंघल और उनके पति से पूछताछ कर रही है. इसके अलावा सीए सुमन कुमार से भी पूछताछ जारी है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
ईडी ऑफिस पहुंची पूजा सिंघल ।
ईडी ऑफिस पहुंची पूजा सिंघल ।
Prabhat Khabar

रांची: आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल आज फिर रांची के ईडी कार्यालय पहुंची हैं. ईडी की टीम उनसे पूछताछ कर रही है. कल भी पूजा सिंघल और उनके पति से पूछताछ की गयी थी. इडी ने मंगलवार को उनसे उनकी आमदनी के स्रोतों, मनरेगा घोटाले में उनकी भूमिका और उनके बैंक खाते में जमा नकद राशि से संबंधित सवाल पूछे थे. वह झारखंड की पहली आइएएस अधिकारी हैं, जिनके ठिकानों पर इडी ने मनी लाउंड्रिंग के आरोप में छापा मारा और पूछताछ के लिए समन जारी किया.

पूजा सिंघल उनके पति अभिषेक झा के अलावा उनके सीए सुमन कुमार से भी ईडी की पूछताछ जारी है. कल 9 घंटे तक उनलोगों से पूछताछ की गयी थी. पूजा सिंघल से कल जब बैंक खाते में जमा नकदी के बारे में पूछा गया था तो उन्होंने तत्काल कुछ बताने में असमर्थतता जतायी. ईडी ने मनरेगा घोटाले की जांच के दौरान यह पाया था कि पूजा सिंघल के नाम पर आइसीआइसी बैंक में खोले गये खाते में कई चरणों में नकद एक करोड़ रुपये जमा कराये गये थे.

पल्स अस्पताल से जुड़े वित्तीय पहलुओं पर ईडी ने ली थी जानकारी

ईडी के अधिकारियों ने अभिषेक झा से कल पल्स अस्पताल और पल्स डॉयग्नोस्टिक सेंटर के वित्तीय पहलुओं से जुड़े सवाल पूछे थे सीए से पूजा सिंघल और अभिषेक से उसके संबंधों और लेन-देन से संबंधित सवाल पूछे थे. इसके बाद उसके घर से जब्त रुपये से संबंधी सवाल पूछे गये.

पल्स अस्पताल की जमीन की जांच रिपोर्ट गायब

ईडी की छापेमारी के बाद अब पल्स अस्पताल की जमीन की जांच रिपोर्ट तलाशी जा रही है. दो दिनों से रांची अपर समाहर्ता कार्यालय में इसकी खोजबीन की जा रही है, लेकिन रिपोर्ट नहीं मिल रही है. अंदेशा जताया जा रहा है कि जांच रिपोर्ट गायब हो गयी है. अस्पताल की जमीन की जांच दो साल पहले तत्कालीन अपर समाहर्ता और बड़गाईं सीओ ने की थी. शिकायत थी कि यह जमीन भूईंहरी प्रकृति की है, खरीद-बिक्री संभव नहीं है.

Posted By: Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें