15.1 C
Ranchi
Thursday, February 29, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

जेएसएससी के अभ्यर्थी ने किया आत्मदाह का प्रयास, नियुक्ति परीक्षा नहीं होने से नाराज युवाओं ने किया प्रदर्शन

‘झारखंड स्टेट स्टूडेंटस यूनियन’ के देवेंद्र नाथ महतो ने आरोप लगाया कि जेएसएससी की नाकामी के कारण आठ साल बाद भी स्नातक योग्यताधारी परीक्षा का आयोजन नहीं हो पाया है. पिछले दिनों स्थगित स्नातक योग्यताधारी परीक्षा वर्ष 2016 की वेकेंसी है, जो कई बार रद्द हो चुकी है.

JSSC Aspirants Protest in Ranchi|राज्य भर से पहुंचे सैकड़ों युवाओं ने नौ सूत्री मांगों को लेकर शुक्रवार को नामकुम स्थित झारखंड कर्मचारी चयन आयोग (जेएसएससी) के मुख्यालय का घेराव करते हुए विरोध-प्रदर्शन किया. ये युवा ‘स्नातक सामान्य योग्यताधारी संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा’ स्थगित किये जाने से बेहद नाराज थे. जेएसएससी मुख्यालय के सामने मैदान में बैठे ये युवा दिन भर ‘जेएसएससी हाय-हाय…’ के नारे लगाते रहे. इसी दौरान प्लास्टिक की बोतल में पेट्रोल लेकर पहुंचा एक युवक आत्मदाह की धमकी देने लगा. हालांकि, यहां पहले से तैनात पुलिस के जवानों ने तत्परता दिखाते हुए उस युवक को हिरासत में ले लिया. सैकड़ों की संख्या में राज्य के विभिन्न जिलों से आये युवक-युवतियां सुबह 10:00 बजे से ही जेएसएससी मुख्यालय के सामने जुटने लगे थे. देखते ही देखते पूरा मैदान भर गया. इधर, बड़ी संख्या में युवाओं के जुटान की सूचना पर जेएसएससी के समक्ष अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती कर दी गयी थी. साथ ही अग्निशमन की गाड़ी भी मौके पर माैजूद थी. प्रदर्शनकारी युवाओं ने बताया कि जेएसएससी स्नातक सामान्य योग्यताधारी (सीजीएल) परीक्षा 16 एवं 17 दिसंबर को होनी थी, जिसे अचानक स्थगित कर दिया गया. अब आयोग 21 और 28 जनवरी को परीक्षा लेने की बात कह रहा है. प्रदर्शनकारी युवक-युवतियां ‘उत्पाद सिपाही प्रतियोगिता परीक्षा’ का आयोजन जनवरी में कराने और जेएसएससी की परीक्षाओं में स्थानीय भाषाओं को प्राथमिकता देने सहित नाै सूत्री मांगों को पूरा करने की मांग कर रहे थे. साथ ही ये लोग जेएसएससी अध्यक्ष से वार्ता कराने की जिद पर मांग पर अड़े थे. बाद में मौके पर पहुंचे नामकुम सीओ अमित भगत ने प्रदर्शनकारी युवाओं को अध्यक्ष से वार्ता कराने का आश्वासन दिया, जिसके बाद हंगामा शांत हो गया.

  • पुलिस के जवानों ने दिखायी तत्परता, आत्मदाह का प्रयास कर रहे युवक को हिरासत में लिया

  • जेएसएससी अध्यक्ष से वार्ता कराने का आश्वासन मिलने के बाद युवाओं ने प्रदर्शन स्थगित कर दिया

बार-बार परीक्षा की तिथि बदलने से नाराज थे अभ्यर्थी

‘झारखंड स्टेट स्टूडेंटस यूनियन’ के देवेंद्र नाथ महतो ने आरोप लगाया कि जेएसएससी की नाकामी के कारण आठ साल बाद भी स्नातक योग्यताधारी परीक्षा का आयोजन नहीं हो पाया है. पिछले दिनों स्थगित स्नातक योग्यताधारी परीक्षा वर्ष 2016 की वेकेंसी है, जो कई बार रद्द हो चुकी है. इसकी परीक्षा 16-17 दिसंबर को होनेवाली थी, जिसे आयोग ने परीक्षा लेने में असमर्थतता जताते हुए स्थगित कर दिया. परीक्षा आयोजन की तिथि अब तक तीन बार बदल चुकी है. बार-बार परीक्षा की तिथि स्थगित कर नयी तारीखों की घोषणा की जा रही है. इसका असर अभ्यर्थियों की तैयारी पर पड़ रहा है.

Also Read: जेएसएससी: अब 21 व 28 जनवरी 2024 को होगी सामान्य स्नातक योग्यताधारी प्रतियोगिता परीक्षा

नहीं निभाया वादा नौकरी देने में विफल रही सरकार

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि हेमंत सोरेन ने 2019 के विधानसभा चुनाव से पहले झारखंड के युवाओं को दो वर्ष के अंदर पांच लाख नौकरी देने का वादा किया था. वर्ष 2021 को नियुक्ति वर्ष घोषित किया गया, लेकिन सरकार नियुक्ति देने में विफल रही. नौकरी नहीं मिलने से छात्रों का भविष्य अंधकारमय होता जा रहा है. प्रदर्शनकारियों में राजेश ओझा, विशाल पाल, प्रकाश पोद्दार, काजल मंडल, कुणाल प्रताप, सत्यनारायण शुक्ला, विनय मेहता, अरुण अग्रवाल, भारती कुशवाहा, अनुज शंकर, इमाम सफी, अनिल मिश्र, संजय तिवारी, सहित विभिन्न जिलों से आये सैकड़ों अभ्यर्थी शामिल थे.

21 जनवरी की परीक्षा पर संशय, उसी दिन सीटेट भी

प्रदर्शनकारी अभ्यर्थियों की वार्ता जेएसएससी की प्रभारी सचिव मधुमिता कुमारी से करायी गयी. अभ्यर्थियों की बात सुनने के बाद उन्होंने आश्वासन दिया कि 21 जनवरी 2024 को घोषित स्नातक सामान्य योग्यताधारी प्रतियोगिता परीक्षा की तिथि पर आयोग विचार करेगा, लेकिन 28 जनवरी की परीक्षा आयोजित की जायेगी. अभ्यर्थियों ने बताया कि 21 जनवरी 2024 को जेपीएससी की बैकलॉग परीक्षा व सीटेट पहले से निर्धारित है. इसलिए उस तिथि को आहूत परीक्षा की तिथि बदली जाये. यह भी कहा गया कि इसके बाद उक्त प्रतियोगिता परीक्षा की तिथि किसी भी परिस्थिति में आगे नहीं बढ़नी चाहिए.

Also Read: VIDEO: झारखंड हाईकोर्ट ने 26001 शिक्षक नियुक्ति पर लगाई रोक, जेएसएससी को भेजा नोटिस

जेएसएससी अधिकारियों से वार्ता में अभ्यर्थियों को मिला आश्वासन

प्रदर्शनकारियों और जेएसएससी अधिकारियों के बीच हुई वार्ता में सकारात्मक आश्वासन दिया गया. सामान्य स्नातक योग्यताधारी संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा की निर्धारित तिथि 21 जनवरी और 28 जनवरी है. 28 जनवरी की परीक्षा का दिन निश्चित है, लेकिन 21 जनवरी को अन्य परीक्षा होने के कारण आयोग इसमें बदलाव पर विचार कर सकता है. पीजीटी परीक्षा की शिकायतों की जांच के बाद ही डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन किया जायेगा. नगरपालिका सेवा संवर्ग परीक्षा में लगे आरोपों की जांच होगी. कनीय अभियंता परीक्षा का फाइनल रिजल्ट जनवरी में प्रकाशित किया जायेगा. जिला पुलिस (6000 पद), सचिवालय टेक्निकल, एलडीसी का नियुक्ति विज्ञापन यथाशीघ्र प्रकाशित करने का आश्वासन दिया गया. ‘दौड़ चयन परीक्षा’ के लिए उत्पाद सिपाही नियुक्ति के सभी आवेदकों की सूची गृह विभाग को भेज दी गयी है. ओएमआर शीट की कार्बन कॉपी उपलब्ध करायी जायेगी.

Also Read: JSSC CGL 2023: जेएसएससी सीजीएल 2023 के लिए जल्दी करें आवेदन, ये है लास्ट डेट, जानें कहां कितने पद खाली

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें