1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jharkhand jobs 2021 cm hemant soren gave recruitment letters to two thousand people made this appeal to industrial houses srn

सीएम हेमंत सोरेन ने दिया दो हजार लोगों को नियुक्ति पत्र, 80% महिलाएं हैं शामिल, औद्योगिक घरानों से की ये अपील

सीएम हेमंत सोरेन ने कल 2000 लोगों को नियुक्ति पत्र सौंपा है, जिसमें से 80 प्रतिशत वैसी महिलाएं शामिल हैं जो दूसरे प्रदेश में जाकर काम करती थी. साथ ही साथ ओरमांझी में चार टेक्सटाइल कंपनियों का उद्घाटन भी किया.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
मंत सोरेन ने दी दो हजार लोगों को नियुक्ति पत्र
मंत सोरेन ने दी दो हजार लोगों को नियुक्ति पत्र
File Photo

रांची : नियुक्ति वर्ष के दौरान मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सोमवार को ओरमांझी स्थित कुल्ही में नौ टेक्सटाइल कंपनियों में काम करने के लिए दो हजार लोगों को नियुक्ति पत्र सौंपा. इनमें 80 प्रतिशत वैसी महिलाएं शामिल हैं जो दूसरे प्रदेश में जाकर काम करती थी. वहीं दूसरी ओर ओरमांझी के कुल्ही में चार टेक्सटाइल कंपनियों का उद्घाटन भी किया.

इनमें किशोर एक्सपोर्ट्स, द वेस्ट बैंड, श्री गणपति क्रिएशन और वैलेंसिया अप्पेरल की यूनिट के नाम शामिल हैं. इससे पूर्व बोकारो के बालीडीह में डालमिया सीमेंट प्लांट की दूसरी इकाई का भी शिलान्यास किया. उन्होंने ओरमांझी स्थित किशोर एक्सपोर्ट्स यूनिट का परिभ्रमण भी किया तथा वहां कार्यरत कर्मियों से उनका हाल-चाल जाना और उत्पादन से संबंधित जानकारी भी ली.

लॉकडाउन हटते ही तेज किया विकास कार्य :

ओरमांझी और बोकारो में उद्घाटन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि संक्रमण काल में जब लोग अपने-अपने घरों में बंद थे, तब राज्य सरकार लगातार चिंतन और मंथन में लगी थी. लॉकडाउन रूपी बादल जैसे-जैसे छंटने लगे, वैसे ही हमारी सरकार ने गतिविधियों में तेजी लाने का निरंतर प्रयास किया. आज यहां एक मंच से दो हजार लोगों को रोजगार से जोड़ा जा रहा है. यह संक्रमण काल में की गयी तैयारियों का उदाहरण है.

राज्य सरकार की यह प्राथमिकता रही थी कि जैसे ही लॉकडाउन खत्म हो, अधिक से अधिक लोगों को कैसे रोजगार से जोड़ा जाये. इसे लेकर बेहतर रूपरेखा बननी चाहिए, ताकि लोगों को रोजगार मुहैया कराया जा सके.

अगर जमीन दी है, तो उद्योग लगायें

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर औद्योगिक घरानों को सरकार जमीन देती है, तो वह इसका इस्तेमाल उद्योग लगाने में करें. इसे खाली या अतिक्रमित नहीं होने दें, क्योंकि बहुत ही उम्मीदों के साथ यहां के रैयतों, गरीबों किसानों और जरूरतमंदों ने अपनी जमीन दी है, ताकि उन्हें रोजगार के साथ सशक्त होने का अवसर मिल सके.

बोकारो इस्पात कारखाना की पुरानी प्रतिष्ठा लौटेगी

मुख्यमंत्री में कहा कि बोकारो इस्पात कारखाना एक समय एशिया का सबसे बड़ा कारखाना हुआ करता था, लेकिन, आज हालात थोड़े विपरीत हैं. हालांकि, यह सार्वजनिक उपक्रम है, लेकिन इसकी पुरानी प्रतिष्ठा फिर से वापस हो, इसके लिए हमारी सरकार हरसंभव सहयोग करने को तैयार है.

युवाओं के हुनर को सम्मान दे रही सरकार

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार की सोच है कि राज्य के युवाओं के हुनर का उपयोग कर उन्हें रोजगार से जोड़ें तथा उनके हुनर को सम्मान दें. राज्य सरकार की पॉलिसी है कि झारखंड में कार्यरत विभिन्न औद्योगिक संस्थाओं में 75 प्रतिशत मानव बल राज्य के हों और यह सुनिश्चित किया जाये.

झारखंड में ज्यादा से ज्यादा पूंजीनिवेश हो

बोकारो में सीएम ने कहा कि राज्य में ज्यादा से ज्यादा पूंजी निवेश हो, यह सरकार की विशेष प्राथमिकता है. इसके लिए एक बेहतर और उम्दा झारखंड औद्योगिक एवं निवेश प्रोत्साहन नीति-2021 बनायी गयी है. औद्योगिक घराने इस राज्य में उद्योग लगाने के लिए आगे आयें, सरकार उन्हें पूरा सहयोग करेगी.

संयंत्र की दूसरी इकाई पर खर्च होंगे 567 करोड़

राज्य सरकार ने बोकारो जिले के बालीडीह इंडस्ट्रियल एरिया में डालमिया भारत सीमेंट संयंत्र विस्तारीकरण परियोजना के लिए 16 एकड़ जमीन दी है. यहां पहले से स्थापित डालमिया भारत सीमेंट संयंत्र की उत्पादन क्षमता 3.7 मिलियन टन प्रति वर्ष है. नयी इकाई के चालू होने पर वार्षिक उत्पादन क्षमता बढ़कर 6.2 मिलियन टन हो जायेगी. इसके लिए कंपनी 567 करोड़ रुपये का निवेश करेगी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें