1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jharkhand illegal mining action on officers hemant soren government plan to crack down on mafia grj

झारखंड में अवैध खनन हुआ तो अफसरों की खैर नहीं, माफियाओं पर नकेल कसने का हेमंत सोरेन सरकार का ये है प्लान

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने धनबाद, हजारीबाग आदि कोल माइनिंग वाले जिलों एवं पाकुड़, चाईबासा, लातेहार, रांची आदि पत्थर माइनिंग वाले जिलों में पदस्थापित अधिकारियों को कड़ी हिदायत देते हुए अवैध खनन एक्टिविटी पर लगाम लगाने का निर्देश दिया है. अवैध खनन हुआ तो अब अफसरों की खैर नहीं है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand News: अधिकारियों के साथ बैठक करते सीएम हेमंत सोरेन
Jharkhand News: अधिकारियों के साथ बैठक करते सीएम हेमंत सोरेन
प्रभात खबर

Jharkhand News: झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रांची के कांके रोड स्थित मुख्यमंत्री आवासीय कार्यालय में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सभी जिलों के उपायुक्तों एवं पुलिस अधीक्षकों के साथ समीक्षा बैठक की. इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से कहा कि अवैध खनन किसी भी हाल में स्वीकार नहीं किया जायेगा. किसी भी प्रकार के अवैध खनन पर हर हाल में रोक लगनी चाहिए. अवैध खनन में संलिप्त लोगों या माफियाओं के खिलाफ तत्काल सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करें. अवैध माइनिंग रोकने के लिए प्रभावी मैकेनिज्म तैयार करें. कुछ खनन माफियाओं द्वारा जानबूझकर अवैध माइनिंग को अंजाम दिया जा रहा है ताकि वर्तमान सरकार की छवि खराब की जा सके. अवैध खनन रोकने को लेकर राज्य स्तर पर भी विशेष टीम का गठन किया जायेगा. हर स्तर पर राज्य सरकार पैनी नजर रखेगी.

अवैध खनन हुआ तो अब अफसरों की खैर नहीं

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने धनबाद, हजारीबाग आदि कोल माइनिंग वाले जिलों एवं पाकुड़, चाईबासा, लातेहार, रांची आदि पत्थर माइनिंग वाले जिलों में पदस्थापित अधिकारियों को विशेष तौर पर कड़ी हिदायत देते हुए अवैध खनन एक्टिविटी पर लगाम लगाने का निर्देश दिया है. अवैध खनन हुआ तो अब अफसरों की खैर नहीं है. इस मामले में सख्त कार्रवाई का निर्देश राज्य सरकार ने दिया है. अवैध खनन को रोकने को लेकर राज्य सरकार एक्शन मोड में दिख रही है.

अवैध माइनिंग कतई बर्दाश्त नहीं

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि राज्य के किसी भी हिस्से में अवैध खनन कतई बर्दाश्त नहीं की जायेगी. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि मेजर मिनरल हो या माइनर मिनरल. अवैध खनन रोकना आप सभी की जिम्मेदारी है. अवैध खनन रोकने के मामले में जो अधिकारी लापरवाही बरतेंगे, उन पर ठोस कार्रवाई की जाएगी. अवैध खनन रोकने को लेकर राज्य स्तर में भी विशेष टीम का गठन किया जायेगा. हर स्तर पर राज्य सरकार पैनी नजर रखेगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि अवैध खनन की शिकायतों को जिलों में पदस्थापित अधिकारी गंभीरता से लें. अवैध खनन की शिकायतों पर तत्काल कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित करें. मुख्यमंत्री ने कहा कि अवैध खनन से संबंधित शिकायतों को रिसीव करने के लिए टोल फ्री नंबर जारी करें. किसी भी माध्यम से आपके पास अवैध खनन को लेकर शिकायतें आती हैं तो उन शिकायतों पर माइनिंग रूल्स के तहत कार्रवाई सुनिश्चित करें.

कोयला चोरी पर लगायें रोक

मुख्यमंत्री ने कहा कि अवैध खनन से दुर्घटनाओं की आशंका बढ़ती है. कई बार ऐसी सूचनाएं मिलती हैं कि अवैध खनन क्षेत्रों में सुरंगों के अंदर लोग दब कर मर रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि वैसे माइनिंग साइड जहां दुर्घटना की आशंका हो, उसे चिन्हित कर डोजरिंग कर ध्वस्त करने का काम करें. मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसी शिकायतें प्राप्त हो रही हैं कि कुछ लोग ट्रांसपोर्ट के जरिए भी कोयले की चोरी करते हैं. सड़क मार्ग तथा रेल मार्ग में जगह-जगह पर कोयला गिराया जा रहा है. कहीं-कहीं चेन पुलिंग इत्यादि कर कोयले की चोरी की जा रही है. झारखंड पुलिस तथा आरपीएफ आपसी समन्वय बनाकर इस प्रकार की कोयला चोरी को रोकने का कार्य करें.

1 जून से 15 जून 2022 तक चलाएं स्पेशल ड्राइव

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि सभी जिलों के उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक आगामी 1 जून से 15 जून 2022 तक स्पेशल अभियान चलाकर अवैध माइनिंग करने वालों पर कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित करें. खनन वाले क्षेत्रों पर सुविधा अनुसार प्रभावी मैकेनिज्म तैयार कर अवैध खनन से जुड़े लोगों तथा माफियाओं पर कठोरतम कार्रवाई की जाए. 15 जून के बाद अवैध खनन से संबंधित उच्चस्तरीय बैठक आयोजित की जायेगी. मुख्यमंत्री ने सभी जिलों के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे अवैध खनन रोकने को लेकर जिला प्रशासन द्वारा किए जा रहे एक्टिविटीज जानकारी सप्ताह में एक बार मीडिया के समक्ष रखें.

माइनिंग क्षेत्र एवं चेकपोस्ट में सीसीटीवी कैमरा लगाएं

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि खनन वाले क्षेत्र एवं जिलों में स्थित चेकपोस्ट में सीसीटीवी कैमरा लगाना सुनिश्चित करें. खनन करने वाली सरकारी अथवा गैर सरकारी कंपनियों को निगरानी के लिए माइनिंग साइड तथा कार्यालयों में सीसीटीवी कैमरा लगाने के लिए निर्देशित करें. मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसी शिकायतें मिली हैं कि नदियों में बालू की अवैध खनन हो रही है. नदियों में हो रहे अवैध खनन को हर हाल में रोकें. वाटर रिसोर्स को भी बचाना आवश्यक है. नदियों में अवैध खनन होने से पर्यावरण पर विपरीत प्रभाव देखने को मिलता है. बैठक में मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, डीजीपी नीरज सिन्हा, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, मुख्यमंत्री के सचिव विनय कुमार चौबे, एडीजी सीआईडी प्रशांत सिंह, आईजी स्पेशल ब्रांच प्रभात कुमार, माइंस कमिश्नर जितेंद्र कुमार सिंह, माइंस डायरेक्टर अमित कुमार समेत अन्य उपस्थित थे.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें