1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jharkhand crime news fraud with businessman of 950 lakh rupees in the name of cnf accused from delhi patna and lucknow srn

रांची के व्यवसायी से सीएनएफ दिलाने के नाम पर 9.50 लाख की ठगी, आरोपी दिल्ली, पटना और लखनऊ के

रांची के व्यवसायी राज किशोर से सीएनएफ दिलाने के नाम पर 9.50 लाख की ठगी हुई सभी आरोपी दिल्ली, पटना और लखनऊ के रहने वाले हैं.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Jharkhand News : रांची के व्यवसायी से सीएनएफ दिलाने के नाम पर 9.50 लाख की ठगी
Jharkhand News : रांची के व्यवसायी से सीएनएफ दिलाने के नाम पर 9.50 लाख की ठगी
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Jharkhand Crime News, Ranchi Crime News रांची : चुटिया थाना क्षेत्र के अमरावती कॉलोनी निवासी व्यवसायी राज किशोर से सीएनएफ दिलाने के नाम पर 9.50 लाख रुपये ठगी का मामला सामने आया है. इसको लेकर चुटिया थाना में केस दर्ज किया गया है, जिसमें ठगी का आरोप दिल्ली निवासी नवीन बजाज, प्रिंस बजाज, दानापुर पटना निवासी सुभाष कुमार ठाकुर और लखनऊ निवासी वेद प्रकाश तिवारी पर लगाया है.

जानकारी के अनुसार, राज किशोर इलेक्ट्रॉनिक गुड्स का व्यवसाय करते है. उन्हें व्यवसाय के सिलसिले में एक फाइनेंस कंपनी के एरिया सेल्स मैनेजर सुभाष कुमार ठाकुर ने फोन किया था. सीएनएफ दिलाने के लिए सुभाष ठाकुर ने राज किशोर की फोन पर बात एक कंपनी के सीइओ नवीन बजाज व प्रिंस बजाज से करायी. नवीन बजाज ने शिकायतकर्ता को कंपनी के एकाउंट में 10 से 12 लाख रुपये ट्रांसफर करने को कहा.

रुपये ट्रांसफर होने के बाद सामान भेजने का आश्वासन दिया गया. कागजी प्रक्रिया पूरी करने के बाद राज किशोर कुमार ने उनके दिये एकाउंट नंबर में 11.50 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिये. लेकिन रुपये ट्रांसफर होने के बावजूद उन्हें कोई सामान नहीं भेजा गया. इसके बाद राज किशोर ने कंपनी के हेड प्रकाश तिवारी से फोन और ई-मेल पर बात की, लेकिन कोई लाभ नहीं हुआ. इसके बाद शिकायतकर्ता ने लीगल नोटिस भेजा, जिसके बाद कंपनी ने दो लाख रुपये वापस किये. फिर वह अपने बकाये पैसे के लिए कंपनी के दिल्ली स्थित ऑफिस भी गये, लेकिन कोई लाभ नहीं हुआ.

क्यूआर कोड से 1.81 लाख निकाल लिये

रांची . कांके रोड के साकेत नगर निवासी मानसी कानोडिया के गुगल पे, फोन पे का क्यू आर कोड स्कैन कर 1़ 81 लाख की ठगी कर ली गयी है़ इस संबंध में मानसी कानोडिया ने गोंदा थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी है़ मानसी ने बताया है कि वह 13 सितंबर को हैंडीक्राफ्ट आइटम बेचने के लिए फेसबुक पर पोस्ट डाली थी. साथ में एक फोन नंबर भी डाला था़ उनके फोन पर एक कॉल आया और कहा गया कि वह उनका हैंडीक्राफ्ट आइटम खरीदना चाहता है. उसके बाद उनसे गुगल पे, फोन पे का क्यू आर कोड भेजने को कहा. इसके बाद पांच-छह बार में 1़ 81 लाख रुपये निकाल लिये गये.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें