1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jharkhand corona vaccine update 240 lakh vaccines in state and 197 crores are needed know when 18 vaccination can be possible srn

Jharkhand Corona Vaccine Update : झारखंड में 2.40 लाख वैक्सीन, और 1.97 करोड़ की है जरूरत, जानें कब से संभव हो सकता है 18+ का टीकाकरण

By Sameer Oraon
Updated Date
corona vaccination
corona vaccination
pti

Ranchi News, Vaccination in jharkhand for 18+ रांची : राज्य में 18 साल से 44 साल तक के लोगों का वैक्सीनेशन 15 मई के बाद शुरू होने की संभावना है. फिलवक्त राज्य में इस उम्र के लोगों के लिए सिर्फ 2.40 लाख की वैक्सीन माैजूद है, जबकि 18 से 44 साल के 1.97 करोड़ लोगों को यह वैक्सीन दिया जाना है. यही वजह है कि फिलहाल इन लोगों को कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन देने की कवायद शुरू नहीं हो सकेगी.

उम्मीद है कि जरूरत के मुताबिक टीका एक सप्ताह में उपलब्ध हो जायेगा. तब 15 मई के आसपास वैक्सीनेशन अभियान शुरू किया जायेगा. स्वाथ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह के मुताबिक 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए रोज 20 से 25 हजार वैक्सीन चाहिए. वर्तमान में मौजूद वैक्सीन के जरिये वैक्सीनेशन शुरू करने पर अभियान बीच में प्रभावित होगा.

अस्पतालों में कर्मियों की कमी होगी दूर : अस्पतालों में कर्मियों की कमी दूर करने के लिए स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह ने प्रस्ताव तैयार कर विभागीय मंत्री बन्ना गुप्ता के अनुमोदन के लिए भेजा है. अनुमोदन मिल जाने के बाद अनुबंध पर कर्मी बहाल किये जायेंगे.

दिन-रात की मेहनत पर फिर जायेगा पानी

एक ओर लोगों को जीवन देने के लिए खूंटी में पांच दिनों में ऑक्सीजन प्लांट बनाया गया. वहीं दूसरी ओर बेपरवाह लोग खुलेआम खतरा मोल रहे हैं. सब्जी लेने के लिए दो गज की दूरी भी रखना मुनासिब नहीं समझते. ऐसे में हम कैसे कोरोना से जंग जीत पायेंगे. सब तैयारी धरी की धरी रह जायेगी.

खूंटी में पांच दिन में बना पहला ऑक्सीजन प्लांट

खूंटी के एमसीएच अस्पताल परिसर में जिले का पहला ऑक्सीजन प्लांट लगा है

प्लांट पांच दिनों में तैयार किया गया है, रविवार से उत्पादन शुरू

01 घंटे में पांच हजार लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन होगा

केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने ऑनलाइन उदघाटन किया

रेमडेसिविर का खाली वायल सुरक्षित रखना होगा निजी अस्पतालों को

रेमडेसिविर की कालाबाजारी पर रोक लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने भी कदम उठाया है. रविवार को अपर मुख्य सचिव ने सभी निजी अस्पतालों के लिए आदेश जारी किया है. इसके तहत अब अस्पतालों को रेमडेसिविर का खाली वायल सुरक्षित रखना अनिवार्य होगा. उन वायलों की जांच विभागीय अधिकारी करेंगे.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें