28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

कांग्रेस सांसद गीता कोड़ा संगठन से दूर, प्रभारी की बैठक में भी नहीं हुईं शामिल, क्या थामेगी भाजपा का दामन ?

स्थानीय नेताओं के साथ समन्वय कर लोकसभा व विधानसभा चुनाव के लिए संगठन को मजबूत करने की जिम्मेवारी है. लेकिन कार्यकारी अध्यक्ष रूप में श्रीमती कोड़ा जिला का दौरा नहीं कर पा रही हैं.

रांची : पश्चिमी सिंहभूम से सांसद और प्रदेश कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष गीता कोड़ा की दूरियां संगठन से बढ़ रही है. वह हाल के दिनों में पार्टी के कार्यक्रम से दूर रह रही हैं. प्रभारी अविनाश पांडेय झारखंड प्रवास में पहुंचे, तो भी सांसद किसी बैठक में शामिल नहीं हुईं. पार्टी के नेताओं ने सांसद से संपर्क किया, तो जानकारी मिली कि वह बाहर हैं. प्रदेश अध्यक्ष ने भी संगठन को लेकर कई बैठकें, लेकिन वह अनुपस्थित रहीं. कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में श्रीमती कोड़ा को छह जिलों की सांगठनिक जवाबदेही दी गयी है. रांची, बोकारो, धनबाद, लातेहार, पूर्वी सिंहभूम और जामताड़ा में संगठन को मजबूत करने का जिम्मा है.

स्थानीय नेताओं के साथ समन्वय कर लोकसभा व विधानसभा चुनाव के लिए संगठन को मजबूत करने की जिम्मेवारी है. लेकिन कार्यकारी अध्यक्ष रूप में श्रीमती कोड़ा जिला का दौरा नहीं कर पा रही हैं. इधर प्रदेश की राजनीति में श्रीमती कोड़ा के पाला बदलने की चर्चा भी राजनीतिक गलियारे में है. कांग्रेस के कई आला नेता भी राजनीति के इस बयार को भांप रहे हैं. सूचना है कि सांसद श्रीमती कोड़ा आनेवाले चुनाव में भाजपा से भाग्य आजमा सकती हैं. पश्चिमी सिंहभूम से श्रीमती कोड़ा ने भाजपा का दामन थामा, तो कांग्रेस को भी अपनी रणनीति बदलनी होगी. हालांकि सांसद श्रीमती कोड़ा ने इस प्रकरण पर अब तक आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं कहा है. कांग्रेस के पास इस सीट पर भी कोई दूसरा मजबूत दावेदार नहीं है. वहीं झामुमो भी इस सीट पर अपनी दावेदारी कर रहा है. इस सीट पर झामुमो के कई दावेदार हैं. सांसद गीता कोड़ा के पाला बदलने की सूरत में कोल्हान की राजनीति में उलटफेर होना तय है. बदली हुई परिस्थिति में कांग्रेस पश्चिमी सिंहभूम से शिफ्ट होकर जमशेदपुर के लिए अपनी दावेदारी कर सकती है.

Also Read: लोकसभा चुनाव 2024: गीता कोड़ा के फैसले पर टिकी राजनीति, तैयार हो सकता है नया प्लॉट

प्रभारी ने सांगठनिक कामकाज की ली है रिपोर्ट

पिछले दिनों प्रभारी अविनाश पांडेय झारखंड दौरा के क्रम पार्टी नेताओं के साथ बैठक की थी. इसमें पार्टी नेताओं के सांगठनिक कार्योें की समीक्षा भी हुई. प्रभार वाले जिला में संगठन के कार्यों की समीक्षा की गयी. प्रखंड व बूथ स्तर पर संगठन के काम को तेज करने निर्देश दिया था. कार्यकारी अध्यक्षों से भी जिलावार रिपोर्ट लिया गया था. वहीं संगठन की बैठक में सांसद गीता कोड़ा को लेकर भी चर्चा हुई थी.

किस कार्यकारी अध्यक्ष को किस जिले का प्रभार

गीता कोड़ा : रांची, धनबाद, बोकारो, पूर्वी सिंहभूम, लातेहार, जामताड़ा

बंधु तिर्की : गुमला, लोहरदगा, सिमडेगा, खूंटी, पश्चिमी सिंहभूम, दुमका

जलेश्वर महतो : रामगढ़, हजारीबाग, सरायकेला, देवघर, साहिबगंज, गोड्डा

शहजादा अनवर : पलामू, गढ़वा, चतरा, गिरिडीह, पाकुड़, कोडरमा

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें