1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. hemant sarkar sarna gift of diwali to tribals festive atmosphere on the streets of ranchi smj

हेमंत सरकार का सरना आदिवासियों को दीपावली का तोहफा, रांची की सड़कों पर जश्न का माहौल

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : झारखंड विधानसभा से सरना आदिवासी धर्म कोड पारित होने के बाद रांची की सड़कों पर जश्न मनाते आदिवासी समुदाय के लोग.
Jharkhand news : झारखंड विधानसभा से सरना आदिवासी धर्म कोड पारित होने के बाद रांची की सड़कों पर जश्न मनाते आदिवासी समुदाय के लोग.
सोशल मीडिया.

Jharkhand news, Ranchi news : रांची : झारखंड विधानसभा से बुधवार (11 नवंबर, 2020) को आंशिक संशोधन के बाद सरना आदिवासी धर्म कोड पारित हो गया. अब इस प्रस्ताव को केंद्र सरकार के पास भेजा जायेगा. विधानसभा से धर्म कोड के पारित होने बाद रांची की सड़कों पर जश्न का माहौल दिखा. सरना आदिवासी समुदाय से जुड़े लोगों ने जहां विजयी जुलूस निकाले, वहीं एक-दूसरे को मिठाई खिला कर बधाइयां भी दी.

बता दें कि बुधवार को हेमंत सोरेन सरकार ने सरना धर्म कोड को लेकर विशेष सत्र बुलाया था. इस सत्र में सत्ता पक्ष ने धर्म कोड को पारित करने संबंधी प्रस्ताव सदन में रखा. इस दौरान चर्चा के बाद इसमें आंशिक संशोधन किया गया और इसे सरना आदिवासी धर्म कोड के तौर पर प्रस्ताव को सदन से पारित कराया.

Jharkhand news : सरना आदिवासी धर्म कोड पारित होने की खुशी में एक-दूसरे को मिठाई खिला कर बधाई देते सरना आदिवासी समुदाय के लोग.
Jharkhand news : सरना आदिवासी धर्म कोड पारित होने की खुशी में एक-दूसरे को मिठाई खिला कर बधाई देते सरना आदिवासी समुदाय के लोग.
सोशल मीडिया.

इधर, सदन से प्रस्ताव पारित होने के बाद राजधानी रांची में जश्न का माहौल दिखा. इसको लेकर रांची के मेन रोड पर आदिवासी समुदाय के लोगों ने सरना विजय जुलूस निकाला. वहीं, सड़कों पर नाच- गाकर लोगों ने अपनी खुशी का इजहार किया. साथ ही और झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को सदन से प्रस्ताव पारित कराने पर धन्यवाद दिया. वहीं, केंद्रीय सरना समिति एवं अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद के सदस्यों ने नया टोली बरियातू सामुदायिक भवन में एक- दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशी का इजहार किया.

इस मौके पर केंद्रीय सरना समिति के केंद्रीय अध्यक्ष फूलचंद तिर्की ने कहा कि सरना आदिवासी समुदाय के लिए बुधवार का दिन ऐतिहासिक रहा. धर्म कोड विधानसभा से पास कर केंद्र को भेजना आदिवासियों के लिए हर्ष का विषय है. इसके लिए पूरा आदिवासी समाज मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सहित पूरे कैबिनेट का आभार व्यक्त करती है.

उन्होंने कहा कि बीजेपी विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा ने प्रस्ताव में आंशिक संशोधन करने पर जोर दिया. श्री मुंडा के प्रस्ताव को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी सहमति जताते हुए विधानसभा अध्यक्ष से प्रस्ताव को आंशिक संशोधन के साथ पारित करने का आग्रह किया गया. इसके बाद सदन से प्रस्ताव पारित होगा जो हर्ष का विषय है.

महासचिव सत्यनारायण लकड़ा ने कहा कि स्वर्गीय कार्तिक उरांव का सपना अब पूरा होता नजर आ रहा है. कहा कि सरना आदिवासियों का संघर्ष का परिणाम है कि आज झारखंड विधानसभा से प्रस्ताव पारित हुआ. अब केंद्र सरकार को भी जल्द इस प्रस्ताव को पारित कर देना चाहिए.

इस दौरान श्री लकड़ा ने कहा अगर केंद्र सरकार प्रस्ताव पारित करने में देर करती है, तो केंद्रीय सरना समिति, अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद एवं आदिवासी सेंगेल अभियान आगामी 6 दिसंबर, 2020 को राष्ट्रव्यापी रेल- रोड चक्का जाम करने को बाध्य होगी.

मौके पर केंद्रीय सरना समिति के संरक्षक भुनेश्वर लोहरा, महासचिव संजय तिर्की, रांची महानगर अध्यक्ष विनय उरांव, महिला शाखा अध्यक्ष नीरा टोप्पो, सुखवरो उरांव, ज्योत्सना भगत, सपना गाड़ी, सुषमा गाड़ी, सोनी हेमरोम, गीता तिर्की, गुड्डी लकड़ा, सुनीता भगत, पार्वती कच्छप, अनिता कुमारी समेत एवं उपस्थित थे.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें