1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. happy republic day governor ramesh bais at morhabadi maidan in ranchi cm hemant soren flagged off in dumka smj

दुमका से सीएम हेमंत सोरेन ने गरीबों के लिए पेट्रोल सब्सिडी योजना की शुरुआत की

73वें गणतंत्र दिवस के मौके पर राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान में राज्यपाल रमेश बैस ने झंडोत्तोलन किया. वहीं, दुमका के पुलिस लाइन ग्राउंड में सीएम हेमंत सोरेन ने झंडोत्तोलन किया. prabhatkhabar.com से जुड़कर आप भी उस ऐतिहासिक पल का गवाह बनें.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Jharkhand news: दुमका से सीएम ने पेट्रोल सब्सिडी योजना की शुरुआत की. लाभुकों को दिया चेक.
Jharkhand news: दुमका से सीएम ने पेट्रोल सब्सिडी योजना की शुरुआत की. लाभुकों को दिया चेक.
प्रभात खबर.

- राज्य में फसल उत्पादन एवं उत्पादकता को बढ़ाने एवं उन्नत कृषि प्रौद्योगिकी को प्रदर्शित करने के लिए राजकीय कृषि प्रक्षेत्रों की भूमि में कृषक पाठशाला को शुरू करने एवं इसकी परिधि में अवस्थित ग्रामों को बिरसा ग्राम के रूप में विकसित करने के लिए 61 करोड़ रुपये की लागत से समेकित बिरसा ग्राम विकास योजना सह कृषक पाठशाला योजना शुरू की गयी है.

- वहीं, दूसरी ओर रांची के मोरहाबादी मैदान में झंडोत्तोलन के बाद राज्य को संबोधित करते हुए राज्यपाल रमेश बैस ने कहा कि पिछले दो साल के कार्यकाल में राज्य सरकार ने जन-कल्याण के अनेक कार्यों को संपन्न कराया है. सभी क्षेत्रों और वर्गों, विशेष कर गरीबों, कमजाेरों, पिछड़ों, अल्पसंख्यकों, महिलाओं की जरूरतों को ध्यान में रखकर ही सरकार द्वारा जन-कल्याण एवं विकास के कार्य किये जा रहे हैं.

सांकेतिक तौर पर पांच लाभुकों को दिया गया चेक

सीएम हेमंत सोरेन ने सीएम सपोर्ट योजना के तहत पेट्रोल सब्सिडी योजना का शुभारंभ किया और पांच लाभुकों को सांकेतिक तौर पर सब्सिडी का चेक प्रदान किया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि सरकार की दूसरी वर्षगांठ के अवसर पर जो वादा किया था कि गरीब एवं जरुरतमंद दो-पहिया वाहन धारकों को महंगाई से राहत देने के लिए 26 जनवरी से 25 रुपये प्रति लीटर की दर से पेट्रोल पर अनुदान दिया जायेगा. इसकी शुरुआत आज से हो रही है.

- झारखंड राज्य पत्रकार स्वास्थ्य बीमा योजना नियमावली, 2021 का गठन किया. इसके माध्यम से बीमा धारक मीडिया प्रतिनिधि सहित उनके पति/पत्नी एवं 21 वर्ष तक की आयु के दो अविवाहित एवं संतान को ग्रुप मेडिक्लेम के रूप में कुल 5 लाख रुपये तक की चिकित्सा खर्च की सुविधा प्राप्त हो सकेगी.

आपके अधिकार, आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के दौरान राज्य में कुल 6727 शिविरों का आयोजन हुआ. इसमें 35 लाख से अधिक आवेदन प्राप्त हुए हैं.

राज्य में न्याय और कानून व्यवस्था मजबूत हुई

राज्य में न्याय और कानून व्यवस्था सुदृढ़ करने के लिए हमारी सरकार प्रभावी कदम उठा रही है. इस दिशा में कदम बढ़ाते हुए सरकार ने भीड़ हिंसा रोकथाम और मॉब लिंचिंग विधेयक, 2021 पारित किया है. प्रदेश में फैले विभिन्न माफियाओं और अवैधानिक गतिविधियों में लिप्त अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है. सरकार के इन प्रयासों से आमजनों में कानून व्यवस्था के प्रति विश्वास पैदा हुआ है.

झारखंड औद्योगिक निवेश एवं प्रोत्साहन नीति-2021 लागू हुई

सीएम श्री सोरेन ने कहा कि हमारे राज्य में औद्योगिक निवेश को आकर्षित करने एवं स्थापित इकाइयों को प्रोत्साहित करने के लिए नई झारखंड औद्योगिक निवेश एवं प्रोत्साहन नीति-2021 लागू की गई है. प्रदेश में निवेश को बढ़ावा देने के लिए खाद्य प्रसंस्करण, नवीकरणीय ऊर्जा, लॉजिस्टिक्स, खनिज तथा वस्त्र आधारित उद्योगों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है.

HCL कंपनी के साथ MoU हुआ

युवाओं को प्रशिक्षण देकर निजी क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध कराने के लिए हमारी सरकार ने HCL कंपनी के साथ MoU किया है. इसके तहत 12वीं पास छात्र एवं छात्राओं को IT सेक्टर में रोजगार देने के Pass Placement Linked Training Programme (TECHBEE) से जोड़ा जायेगा. TECHBEE HCL में योग्य छात्र/छात्राओं का चयन कर उन्हें एक वर्ष की ट्रेनिंग दी जायेगी. ट्रेनिंग के उपरांत प्रशिक्षित युवाओं को HCL में ही नौकरी मिल सकेगी.

4142 रिक्त पदों पर जल्द होगी नियुक्ति

झारखंड राज्य की आरक्षण नीति से आच्छादित अभ्यर्थियों के मामले में इस प्रावधान को शिथिल किया गया है, ताकि राज्य के आरक्षण नीति से आच्छादित होने वाले छात्रों का सरकार के अधीन नियोजन में दावा सुरक्षित रह सके. सेवा शर्त नियमावलियों के गठन एवं संशोधन के उपरांत अब तक 4,142 रिक्त पदों पर नियुक्ति संबंधी आग्रह झारखंड कर्मचारी चयन आयोग को भेज दी गयी है.

नियुक्ति प्रक्रिया में तेजी

राज्य सरकार द्वारा वर्षों से लंबित रहे रिक्त पदों पर नियुक्ति की प्रक्रिया को गति प्रदान करने हेतु विभिन्न नियुक्ति नियमावलियों एवं परीक्षा संचालन नियमावलियों के गठन/संशोधन की कार्रवाई की गयी है. राज्य के युवाओं को सरकारी नौकरी में अधिक से अधिक अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से विभिन्न नियुक्ति/परीक्षा संचालन नियमावली अंतर्गत अनिवार्य शैक्षणिक योग्यता के रूप में अभ्यर्थियों का मैट्रिक/10वीं कक्षा तथा इंटरमीडिएट/10+2 कक्षा झारखंड राज्य में अवस्थित मान्यता प्राप्त शैक्षणिक संस्थान से उत्तीर्ण होना अनिवार्य किया गया है. अभ्यर्थियों को स्थानीय रीति-रिवाज, भाषा एवं परिवेश का ज्ञान होना भी अनिवार्य किया गया है.

सर्वजन पेंशन योजना शुरू

हमने सर्वजन पेंशन योजना की शुरुआत की है, जो सरकार के कल्याणकारी दायित्वों के निर्वहन में एक महत्वपूर्ण कदम है. क्षेत्र भ्रमण के क्रम में मुझे यह जानकारी मिलती थी कि सीमित लक्ष्य के कारण लाखों की संख्या में जरूरतमंद वृद्धजनों को इस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा. यह देखकर मुझे पीड़ा होती थी और मैंने दो वर्ष पूर्व यह संकल्प लिया था कि अगर हमारी पार्टी की सरकार बनेगी, तो हम इसका स्थायी निदान करेंगे, अब हमने यह निर्णय लिया है कि Tax-Net की श्रेणी में आने वालों को छोड़कर शेष सभी वृद्धजन इस योजना का लाभ पाने के पात्र होंगे.

असंगठित श्रमिकों के लिए ई-श्रम पोर्टल लॉन्च

असंगठित श्रमिकों का रजिस्ट्रेशन कराने के लिए ई-श्रम पोर्टल लॉन्च किया गया है. इस पोर्टल पर झारखंड के कुल 80 लाख से अधिक श्रमिकों का रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है. इसके तहत निर्माण कार्य करने वाले श्रमिक, घरेलू मजदूर, कृषि श्रमिक, रेहड़ी-पटरी वाले एवं अन्य सभी असंगठित क्षेत्र के मजदूर सम्मिलित हो सकेंगे.

प्रवासी श्रमिकों के लिए कार्यक्रम

झारखंड के प्रवासी श्रमिकों के सुरक्षित प्रवास एवं प्रवासन के लिए Safe and Responsible Migration Initiative कार्यक्रम शुरू किया जा रहा है. यह कार्यक्रम पायलट प्रोजेक्ट के रूप में दुमका, गुमला एवं पश्चिमी सिंहभूम में चलाया जायेगा. इसके माध्यम से अगले 18 माह के अंदर झारखंड से मजदूरों के प्रवास से जुड़ी सभी समस्याओं का अध्ययन करके एक 'समग्र प्रवासन नीति' तैयार की जायेगी, जिससे भविष्य में प्रवासी श्रमिकों की समस्याओं का निदान करने में सुविधा होगी.

250 स्कूलों को मातृभाषा आधारित शिक्षण व्यवस्था लागू करने की योजना

राज्य के विभिन्न क्षेत्रों की भाषाओं को ध्यान में रखते हुए मातृभाषा आधारित बहुभाषी शिक्षण व्यवस्था हेतु सामग्रियों को विकसित किया गया है. हमने विभिन्न जिलों के 250 विद्यालयों को विशेष रूप से चिह्नित करते हुए प्रायोगिक तौर पर मातृभाषा आधारित शिक्षण व्यवस्था लागू करने की योजना तैयार की है. इस योजना के फलाफल के आधार पर अन्य विद्यालयों में भी इस व्यवस्था को लागू किया जायेगा. इसका सीधा लाभ हमारे राज्य के उन बच्चों को मिलेगा जो मातृभाषा में पढ़ाई नहीं होने के कारण विद्यालय जाना छोड़ देते थे.

कोरोना काल में भी विद्यार्थियों ने बेहतरीन उपलब्धि हासिल किया

सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्य में माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक बोर्ड परीक्षा का परिणाम उत्साहवर्द्धक रहा है. मैट्रिक बोर्ड में 96 प्रतिशत छात्रों ने सफलता प्राप्त की है, जबकिसंताल परगना प्रमंडल में कुल 95 प्रतिशत छात्रों ने सफलता हासिल की है. महामारी की कठिन घड़ी में मैं इस बेहतरीन उपलब्धि के लिए राज्य के शिक्षकों तथा विद्यार्थियों को बधाई देता हूं.

कोरोना के कारण स्कूलों को बंद करने को बाध्य होना पड़ा

विगत दो साल से कोविड-19 महामारी के प्रकोप के कारण हमें विद्यालयों को बंद रखने हेतु बाध्य होना पड़ा है. महामारी में कमी होने की स्थिति में कक्षा 06 से 12 के विद्यालय खोले गये थे, लेकिन महामारी बढ़ने के कारण विद्यालयों को पुन: बंद करना पड़ा है. महामारी की इस घड़ी में भी हमने अपने विद्यार्थियों के लिए ऑन-लाईन शिक्षा की व्यवस्था डीजी-साथ कार्यक्रम के तहत की है.

73वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का अभिभाषण

दुमका में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि संथाल परगना प्रमण्डल में 20 उत्कृष्ट विद्यालयों के निर्माण के लिए लगभग 72 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की गई है. इन विद्यालयों में सभी आवश्यक मूलभूत संरचनाओं के विकास के साथ-साथ पर्याप्त शिक्षकों की व्यवस्था भी की जायेगी.

Jharkhand news: रांची के मोरहाबादी मैदान में झंडोत्तोलन करते राज्यपाल रमेश बैस.
Jharkhand news: रांची के मोरहाबादी मैदान में झंडोत्तोलन करते राज्यपाल रमेश बैस.
सोशल मीडिया.

राज्यपाल ने किया झंडोत्तोलन

रांची के मोरहाबादी मैदान में राज्यपाल रमेश बैस ने किया झंडोत्तोलन. इस मौके पर राज्यपाल ने परेड की सलामी ली. वहीं, आकर्षक झांकी भी निकाली जा रही है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें