1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. chief minister hemant soren announced land of martyrs family at will

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने की घोषणा : शहीदों के परिजन को मनचाही जगह जमीन

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
शहीदों के परिजन को मनचाही जगह जमीन
शहीदों के परिजन को मनचाही जगह जमीन
Prabhat Khabar

रांची : लद्दाख की गलवान घाटी में शहीद हुए पूर्वी सिंहभूम के बहरागोड़ा प्रखंड के कोषफलिया गांव के शहीद गणेश हांसदा का पार्थि‌व शरीर सेना के विशेष विमान से गुरुवार की देर शाम रांची एयरपोर्ट लाया गया. इस मौके पर एयरपोर्ट टर्मिनल बिल्डिंग में रखे शहीद के पार्थि‌व शरीर को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने श्रद्धांजलि दी. इसके बाद पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि सीमा पर शहीद हुए जवानों के परिजनों को राज्य में मनचाही जगह पर सरकार भूखंड देगी.

शहीदों की कुर्बानी व्यर्थ नहीं जायेगी. शहीद का परिवार सिर उठाकर जी सके, इसके लिए उन्हें पेट्रोल पंप दिलाने की भी अनुशंसा पेट्रोलियम मंत्रालय से की जायेगी. श्री सोरेन ने साहिबगंज के शहीद जवान कुंदन ओझा को भी श्रद्धांजलि दी.

वहीं राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने शहीद को श्रद्धासुमन अर्पित िकये. सेना की ओर से कमांडिंग अफसर मुदस्सर इकबाल के नेतृत्व में श्रद्धांजलि सभा हुई. इसके बाद मेजर जनरल जीएस गोरेया, ब्रिगेडियर आइएमएस परमार, पूर्व ब्रिगेडियर विवेक पाठक व अन्य ने सलामी दी.

इस मौके पर शहीद के परिवार का कोई सदस्य एयरपोर्ट नहीं पहुंच सका था. शाम 7:03 बजे शहीद का पार्थिव शरीर नामकुम स्थित सेना के मॉर्चरी ले जाया गया. शुक्रवार की सुबह हेलीकॉप्टर से पार्थि‌व शरीर को बहरागोड़ा के कोषाफलिया गांव ले जाया जायेगा. वहीं अंतिम संस्कार होगा.

इन्होंने दी श्रद्धांजलि : श्रद्धांजलि देनेवालों में केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा,स्पीकर रविंद्रनाथ महतो, मंत्री रामेश्वर उरांव, बन्ना गुप्ता, बादल पत्रलेख, बाबूलाल मरांडी, पूर्व सीएम रघुवर दास, सांसद संजय सेठ, विधायक सुदेश महतो व अंबा प्रसाद सहित अन्य शामिल थे.

साहिबगंज में आज होगी शहीद कुंदन की अंत्येष्टि : साहिबगंज. गलवान घाटी में शहीद हुए कुंदन कुमार ओझा का पार्थिव शरीर गुरुवार की शाम पटना एयरपोर्ट पहुंचा. जहां सभी शहीदों को श्रद्धांजलि व सलामी दी गयी. इसके बाद सड़क मार्ग से देर शाम शहीद का पार्थिव शरीर साहिबगंज के लिए रवाना किया गया. आज पैतृक गांव डिहारी में शहीद का अंतिम संस्कार होगा.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें