1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. cheating in ranchi in the name of getting job in mnrega case registered against 7 including mastermind of bihar smj

मनरेगा में नौकरी दिलाने के नाम पर रांची में ठगी, बिहार के मास्टरमाइंड समेत 7 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज

रांची के पॉस इलाका अशोक नगर में मनरेगा में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी का मामला सामने आया है. सीनियर अधिकारियों के निर्देश पर अरगोड़ा सीओ ने कार्रवाई करते हुए मनरेगा मजदूर विकास संगठन के ऑफिस को सील किया. वहीं, महिला सहित 7 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
रांची में मनरेगा में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी. महिला सहित 7 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज.
रांची में मनरेगा में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी. महिला सहित 7 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज.
फाइल फोटो.

Jharkhand Crime News (रांची) : झारखंड की राजधानी रांची के पॉस इलाका अशोक नगर में मनरेगा में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी का मामला सामने आया है. सीनियर अधिकारियों के निर्देश पर अरगोड़ा सीओ ने कार्रवाई करते हुए रांची के अरगोड़ा स्थित मनरेगा मजदूर विकास संगठन के ऑफिस को सील किया. इस मामले में बिहार के मास्टरमाइंड समेत 7 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

क्या है मामला

रांची स्थित अरगोड़ा थाना क्षेत्र के अशोक नगर रोड नंबर-1 में मनरेगा के नाम पर बेरोजगार युवाओं को नौकरी दिलाने का फर्जीवाड़ा की जा रही थी. सीनियर अधिकारियों के निर्देश पर अरगोड़ा सीओ अरविंद कुमार ओझा ने मनरेगा मजदूर विकास संगठन के ऑफिस की जांच की. तलाशी के दौरान ऑफिस में कई कागजात मिले. जिसे जब्त कर लिया गया.

जांच के दौरान 43 आवेदन पत्रों में से कुछ आवेदकों से जब सीओ ने फोन कर संपर्क किया, तो फर्जीवाड़े का खुलासा हो गया. इस दौरान गिरिडीह निवासी रामप्रवेश कुमार देव ने बताया कि संगठन द्वारा उन्हें प्रखंड प्रभारी के पद पर 11,575 रुपये सैलरी के अलावा भत्ता और मोबाइल खर्च देने का वादा कर किट उपलब्ध कराने के नाम पर 6150 रुपये की मांग की.

इसके अलावा संगठन ने धर्मेंद्र कुमार से नियुक्ति के नाम पर 7000 रुपये लिये थे. जांच के दौरान कई और लोगों से रुपये लेने की बात सामने आयी. इसके बाद ऑफिस को सील कर दिया गया. वहीं, जांच के दौरान सीओ ने पाया कि नामजद आरोपियों ने मनरेगा शब्द का प्रयोग करते हुए राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम के नाम पर युवकों को नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी की है.

अरगोड़ा सीओ अरविंद कुमार ओझा की लिखित शिकायत के आधार पर पुलिस ने बिहार के वैशाली जिला निवासी सुगंध कुमार, अभय कुमार, असीत सिंह, अभिषेक कुमार और मुजफ्फरपुर निवासी संजू देवी और प्रिंस कुमार के अलावा राजेश कुमार को नामजद आरोपी बनाया गया है. ये सभी मनरेगा मजदूर विकास संगठन के सदस्य बताये जाते हैं.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें