1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. agriculture department is slow in jharkhand 7 months of financial year passed no work on 29 schemes prt

Jharkhand News: कृषि विभाग सुस्त, गुजर गये वित्तीय वर्ष के सात महीने, 29 योजनाओं पर नहीं हुआ काम

राज्य में कृषि विभाग की योजनाओं की स्थिति खराब है. वित्तीय वर्ष के सात माह गुजरने पर भी खर्च की स्थिति अच्छी नहीं है. विभाग इस वर्ष राज्य और केंद्रीय योजनाओं को मिलाकर कुल 36 योजनाएं बनायी थी. इनमें सात योजनाओं पर ही अब तक कुछ राशि खर्च हो सकी है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
कृषि विभाग में 29 योजनाओं पर काम नहीं
कृषि विभाग में 29 योजनाओं पर काम नहीं
Prabhat Khabar

मनोज सिंह, रांची: राज्य में कृषि विभाग की योजनाओं की स्थिति खराब है. वित्तीय वर्ष के सात माह गुजरने पर भी खर्च की स्थिति अच्छी नहीं है. विभाग इस वर्ष राज्य और केंद्रीय योजनाओं को मिलाकर कुल 36 योजनाएं बनायी थी. इनमें सात योजनाओं पर ही अब तक कुछ राशि खर्च हो सकी है. शेष 29 योजनाओं पर काम तक शुरू नहीं हो सका है. विभाग का सबसे अधिक खर्च ऋण माफी योजना पर हुआ है. ऋण माफी के लिए सरकार ने 150 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है. इसमें करीब 108 करोड़ रुपये खर्च हो चुके हैं. इसके अतिरिक्त सॉयल हेल्थ किट एंड रिफिल योजना पर 2.29 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं. उद्यान विकास पर 34 लाख तथा कृषि मेला व प्रदर्शनी पर करीब 65 लाख रुपये खर्च हुए हैं.

छह नयी योजनाएं शुरू होनी थी, पर निर्णय लंबित : राज्य सरकार इस वर्ष छह नयी योजनाएं शुरू करना चाहती थी. इसमें समेकित बिरसा ग्राम विकास योजना सह कृषक पाठशाला की योजना 61 करोड़ रुपये की थी. इसके लिए गठित कमेटी ने अपनी रिपोर्ट दे दी है, लेकिन इस पर कोई निर्णय नहीं हो सका है. 45.83 करोड़ रुपये की किसान समृद्धि योजना थी.

इसके लिए गठित कमेटी ने अब तक रिपोर्ट तक नहीं दी है. 10 करोड़ का प्रावधान उद्यान प्रोमोशन सोसाइटी के गठन के लिए रखा गया है. इसके लिए गठित कमेटी ने भी रिपोर्ट नहीं दी है. यही हाल पोस्ट हार्वेस्ट एंड प्रिजर्वेशन इंफ्रास्ट्रक्चर की विकास योजना का है. यह योजना 31 करोड़ रुपये की है. विभाग की नौ केंद्रीय योजनाएं भी हैं. इसमें किसी भी योजना पर अब तक एक रुपया खर्च नहीं

विभाग में सबसे अधिक खर्च ऋण माफी योजना पर: ऋण माफी योजना में काफी अच्छी प्रगति है. इसके अलावा अन्य स्कीम भी जल्द गति पकड़ेगी. भारत सरकार की नयी अकाउंटिंग पॉलिसी आयी है. इससे कुछ परेशानी हुई है. यह समस्या भी दूर हो गयी है. जल्द स्थिति बदलेगी.

किस योजना पर कितना खर्च (राशि लाख रुपये में)

योजना बजट खर्च

कृषि विभाग की एजेंसियों का अनुदान 7120 00

मिट्टी जांच संबंधित भुगतान 440 00

आधारभूत संरचनाओं की स्थापना 825 00

गन्ना विकास की योजना 500 00

कृषक राहत कोष एवं हेल्प लाइन 500 00

इंट्रेस्ट सबवेंशन 200 00

आम्लिक मृदा सुधार एवं प्रबंधन 5 00

कृषक महिला स्वयं सहायता 7200 00

समूहों के लिए कृषि यंत्र

जल निधि 15000 00

बंजर भूमि व राइस फेलो 21000 00

गैर कार्यान्वित जिलों में राज्य 4000 00

बागवानी मिशन

मधुमक्खी पालन योजना 1000 00

योजना बजट खर्च

बीएयू को अनुदान 5294 00

जैविक प्रमाणीकरण एवं जैविक 5000 00

खाद प्रोत्साहन

बिरसा कृषक पाठशाला 6100 00

किसान समृद्धि योजना 4583 00

प्रोमोशन अॉफ अरबन फार्मिंग 200 00

झारखंड राज्य उद्यान प्रोत्साहन 1000 00

सोसाइटी की स्थापना

चेंबर ऑफ फार्मर 700 00

पोस्ट हार्वेस्ट एंड प्रिजर्वेशन 3100 00

इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना 12500 00

राष्ट्रीय बागवानी मिशन 10000 00

नेशनल प्रोजेक्ट ऑन मैनेजमेंट 1500 00

टरफा 14100 00

नेशनल मिशन ऑन एग्रीकल्चर 6100 00

एक्सटेंशन एंड टेक्नोलॉजी

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 18370 00

नेशनल मिशन फॉर सस्टेनेबल एग्रीकल्चर 1000 00

परंपरागत कृषि विकास योजना 6450 00

एस मैम 500 00

उद्यान विकास की योजना 15000 34.10

सॉयल हेल्थ किट एंड रिफिल 3015 229.59

एग्री क्लिनिक 318 28.86

कृषि प्रयोगशाला की स्थापना 200 9.58

बीज विनिमय वितरण 2500 321.37

कृषि मेला प्रदर्शनी 1000 65.49

कृषि ऋण माफी योजना 150000 108000.00

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें