सीमेंट फैक्टरी से कोयला कारोबार के खिलाफ धरना-प्रदर्शन...ओके

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
-पंद्रह दिन में कोयला कारोबार बंद नहीं हुआ, तो उग्र आंदोलन : तेजी किस्पोट्ट-फैक्टरी प्रबंधन को छह सूत्री मांग पत्र सौंपाखलारी. खलारी सीमेंट फैक्टरी से हो रहे कोयला कारोबार के खिलाफ बुधवार को फैक्टरी गेट के समक्ष धरना-प्रदर्शन किया गया. धरना का नेतृत्व खलारी पंचायत की मुखिया तेजी किस्पोट्टा व जिप सदस्य शुक्रमणि देवी कर रही थीं. इससे पूर्व खलारी पंचायत परिसर से सैकड़ों लोग जुलूस की शक्ल में फैक्टरी गेट पहुंचे. धरना को संबोधित करते हुए जिप सदस्य शुक्रमणि देवी ने कहा कि गलत तरीके से सीमेंट फैक्टरी परिसर से हो रहे कोयले के कारोबार के कारण आसपास के लोगों का रहना मुश्किल हो गया है. तेजी किस्पोट्टा ने कहा कि पंद्रह दिन के अंदर अगर प्रबंधन ने कोयले का कारोबार बंद नहीं किया, तो उग्र आंदोलन किया जायेगा. टीएमसी नेता अब्दुल्ला अंसारी ने कहा कि खलारी की पहचान खलारी सीमेंट फैक्टरी से है. फैक्टरी परिसर से हो रहे कोयले के कारोबार के कारण नदी प्रदूषित हो रही है. धरना के बाद फैक्टरी प्रबंधन को छह सूत्री मांग पत्र सौंपा गया. इस अवसर पर मुखिया समेसर राम, रंथू उरांव, सुरेंद्र उरांव, सरस्वती देवी, अरुण उरांव, किरण देवी, विजय रजक, सुनील सिंह, सोनू पांडेय, चंद्रमोहन मिस्त्री, गुलाम मोहम्मद, मनोज यादव, गुंजन देवी, करमा गंझू, सीमा देवी, कॉस्टीन खलखो, अनिमा देवी, छोटू मूंडा, आरती कुमारी, विक्रम राम, गौतम दास, शंभु दास, विजय गोप आदि उपस्थित थे.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें