रांची : यात्री सुविधाओं पर ध्यान दें, कार्य के प्रति हमेशा सजग रहें : डीआरएम

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
साफ-सफाई समेत अन्य सुविधाओं को दुरुस्त करने का दिया निर्देश
रांची : डीआरएम नीरज अंबष्ठ ने शुक्रवार को हटिया-ओरगा सेक्शन का विंडो ट्रेलिंग निरीक्षण किया. निरीक्षण की शुरुआत ओरगा स्टेशन व ओरगा रेलवे कॉलोनी से की गयी. इसके बाद टाटी और कनरवां स्टेशन के बीच पुल संख्या 574, कनरवां-बानो स्टेशन के बीच पुल संख्या 566, बानो स्टेशन, केबिन, प्वाइंट्स एवं बानो रेलवे कॉलोनी का निरीक्षण किया गया.
इसके बाद बानो और महाबुआंग रेलवे स्टेशन के बीच पुल एवं कर्व संख्या 36, पकरा और पोकला स्टेशन के बीच समपार फाटक संख्या एचबी 36, पोकला-बकसपुर के बीच पुल संख्या 489, गोविंदपुर स्टेशन, गोविंदपुर स्टेशन में स्थित समपार फाटक संख्या एचबी 24 तथा गोविंदपुर रेलवे कॉलोनी का निरीक्षण किया.
निरीक्षण के दौरान उन्होंने संबंधित विभाग के अधिकारियों से साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने, समपार फाटक के गेट मैन का काउंसेलिंग करने, सेफ्टी इक्यूपमेंट का सही से रखरखाव करने, स्टेशन की सुंदरता के लिए बगीचा को ठीक करने, यात्रियों के लिए पानी और बैठने की समुचित व्यवस्था करने का निर्देश दिया. वहीं कर्मचारियों को कार्य के प्रति हमेशा सजग एवं समर्पित रहने के लिए प्रोत्साहित किया. डीआरएम ने कहा कि 17 को जीएम का निरीक्षण है. इसलिए इस सेक्शन पर निरीक्षण किया जा रहा है.
निरीक्षण के दौरान एडीआरएम एमएम पंडित, मुख्य चिकित्सा अधिकारी जीसी हेम्ब्रम, वरिष्ठ मंडल अभियंता समन्वय अमित कंचन, वरिष्ठ मंडल विद्युत अभियंता एआर दास, वरिष्ठ मंडल सिग्नल एवं दूरसंचार अभियंता एस उरांव, वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक सह मुख्य जनसंपर्क अधिकारी नीरज कुमार, वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक अवनीश, वरिष्ठ मंडल संरक्षा अधिकारी चैतन्य सिंह, वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त महेश्वर सिंह, वरिष्ठ मंडल विद्युत अभियंता कुलदीप कुमार, मंडल वित्त प्रबंधक इंचार्ज नीरज कुमार सिंह, मंडल कार्मिक पदाधिकारी इंचार्ज एस श्रीनिवास आदि मौजूद थे.
फार्मासिस्ट के भरोसे चल रहा बानो रेल अस्पताल : बानो रेल अस्पताल में चिकित्सक नहीं होने से रेलवे कर्मियों व यात्रियों को परेशानी होती है. इस अस्पताल में एक फार्मासिस्ट की नियुक्ति की गयी है, जिनके भरोसे अस्पताल चल रहा है. पिछले दिनों एक रेल यात्री की तबीयत खराब हो गयी थी. अस्पताल में चिकित्सक नहीं हाेने के कारण यात्री को समय पर इलाज मुहैया नहीं कराया गया था. इस कारण उसकी मौत हो गयी थी.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें