25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

सीएम आवास घेरने निकली आंगनबाड़ी सेविकाओं पर चली लाठी, कई हुईं घायल

रांची : मुख्यमंत्री आवास का घेराव करने जा रही आंगनबाड़ी सेविकाओं पर पुलिस ने लाठी चार्ज कर दिया. इसमें कई घायल हो गयीं हैं, जबकि एक का हाथ टूट गया है. घटना मंगलवार दोपहर तीन बजे मछली घर चौराहा में लगायी गयी बैरिकेडिंग के पास हुई. सेविकाओं का आरोप है कि वे शांतिपूर्ण ढंग से […]

रांची : मुख्यमंत्री आवास का घेराव करने जा रही आंगनबाड़ी सेविकाओं पर पुलिस ने लाठी चार्ज कर दिया. इसमें कई घायल हो गयीं हैं, जबकि एक का हाथ टूट गया है. घटना मंगलवार दोपहर तीन बजे मछली घर चौराहा में लगायी गयी बैरिकेडिंग के पास हुई. सेविकाओं का आरोप है कि वे शांतिपूर्ण ढंग से आंदोलन कर रही थीं, तभी पुलिसवालों ने उन्हें दौड़ा-दौड़ा कर पीटना शुरू कर दिया. पुलिस की पिटाई से घायल आंगनबाड़ी सेविकाएं वहीं धरने पर ही बैठ गयीं.

गौरतलब है कि झारखंड प्रदेश आंगनबाड़ी वर्कर्स यूनियन के बैनर तले 16 अगस्त से ही आंगनबाड़ी सेविकाएं आंदोलन कर रही हैं. इसके तहत सेविकाओं को 1400 रुपये की जगह 5000 रुपये मानदेय देने, लघु आंगनबाड़ी सेविकाओं को 700 रुपये की जगह 2500 रुपये देने और सभी को स्वास्थ्य बीमा के लाभ से जोड़ने की मांग की जा रही है.
पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत मंगलवार को सभी आंगनबाड़ी सेविकाओं का जयपाल सिंह स्टेडियम में महाजुटान हुआ. यहां से निकल कर सभी रेडियम रोड होते हुए मुख्यमंत्री आवास का घेराव करने जा रही थीं.
रेडियम रोड में लगाये गये बैरिकेडिंग के पास पुलिस ने आंगनबाड़ी सेविकाओं को रोक दिया. इसे लेकर सेविकाओं और पुलिस के बीच झड़प हो गयी, जिसके बाद पुलिस ने लाठी चार्ज कर दिया. जिस आंगनबाड़ी सेविका का हाथ टूटा है, उसने बताया कि एक पुलिसवाला उसे धमकी दे रहा था : ज्यादा हंगामा करोगी, तो हाथ-पैर तोड़कर यहीं बैठा देंगे.
आज राजभवन मार्च होगा
झारखंड राज्य आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका संघ ने लाठी चार्ज की निंदा की है. संघ की शिल्पी गोस्वामी, मीरा देवी व सुशीला हांसदा ने लाठी चार्ज करनेवाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग की है. ऐसा नहीं करने पर आंदोलन तेज करने की चेतावनी दी है. इस मुद्दे पर बुधवार को राजभवन मार्च होगा. एक बजे आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मोरहाबादी मैदान में जुटेंगी.
अनशन स्थल पर लौटी सेविकाएं
रात आठ बजे आंगनबाड़ी सेविकाओं की वार्ता सदर एसडीओ के साथ हुई. सदर एसडीओ ने कहा कि मांगों से सरकार को अवगत करा दिया जायेगा. एसडीओ से वार्ता के बाद मछली घर चौराहे के पास बैठी आंगनबाड़ी सेविकाएं राजभवन के पास लौट गयी. वहीं आंगनबाड़ी सेविकाएं क्रमवार अनशन कर रही हैं.
राजभवन के पास नहीं करें प्रदर्शन
एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा के बैनर तले बुधवार को मुख्यमंत्री आवास के समक्ष धरना-प्रदर्शन किया जायेगा. एसडीओ लोकेश मिश्रा ने कहा है कि मुख्यमंत्री आवास व राजभवन के समीप धरना- प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जा सकती़ फिर भी प्रदर्शन होता है, तो प्रदर्शनकारियों पर कानूनी कार्रवाई की जायेगी.
सरकार को भुगतना होगा खमियाजा
जयपाल सिंह स्टेडियम में आयोजित सभा में अराजपत्रित कर्मचारी संघ के अध्यक्ष बालमुकुंद सिन्हा ने कहा कि आंगनबाड़ी सेविकाओं को सरकार हल्के में ले रही है. इसका खमियाजा भुगतना होगा. आंगनबाड़ी सेविकाओं के संघ की अध्यक्ष वीणा सिन्हा ने कहा : सरकार लिखित समझौता लागू नहीं करके हमारी भावनाओं से खिलवाड़ कर रही है.
आज राजभवन मार्च होगा
झारखंड राज्य आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका संघ ने लाठी चार्ज की निंदा की है. संघ की शिल्पी गोस्वामी, मीरा देवी व सुशीला हांसदा ने लाठी चार्ज करनेवाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग की है. ऐसा नहीं करने पर आंदोलन तेज करने की चेतावनी दी है. इस मुद्दे पर बुधवार को राजभवन मार्च होगा. एक बजे आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मोरहाबादी मैदान में जुटेंगी.
लाठीचार्ज की निंदा
दोषी पुलिसकर्मियों को बर्खास्त करे सरकार : हेमंत
नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने कहा कि आखिर किसके आदेश पर तानाशाह सरकार अपना हक मांगती बहनों पर लाठियां बरसा रही है. ऐसी कायरतापूर्ण हरकत करने से पहले सरकार को शर्म से डूब मरना चाहिए. सरकार में थोड़ी भी शर्म बची है, तो तुरंत दोषी पुलिसकर्मियों को बर्खास्त करे.
राजनीतिक दलों व विभिन्न संगठन लाठी चार्ज पर भड़के
प्रदेश कांग्रेस कमेटी की प्रवक्ता आभा सिन्हा ने लाठी चार्ज करनेवाले पुलिसकर्मी को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने की मांग की है. झाविमो नेता प्रेम शाही मुंडा ने कहा कि सरकार लाठी चार्ज कर अपनी नाकामी छुपाने की कोशिश कर रही है़ आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक जयशंकर चौधरी ने कहा कि सरकार महिलाओं व बेटियों को पुलिस से पिटवा रही है.
माले के पूर्व विधायक विनोद सिंह ने कहा कि भाजपा सरकार तानाशाह हो गयी है, वह विरोध की न्यूनतम आवाजों को भी सह नहीं पा रही है. झारखंड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के महासचिव सुनील कुमार साह ने कहा कि राज्य सरकार कर्मचारियों की जायज मांगों को लागू करने के पक्ष में नहीं दिखती है. इसी कारण कर्मचारियों का दमन किया जा रहा है.
लाठीचार्ज पर बोले थानेदार – मजबूरी में चलानी पड़ी लाठी
कोतवाली थाना प्रभारी एसएन मंडल ने कहा कि आंगनबाड़ी सेविकाओं को मुख्यमंत्री आवास जाने से रोकने के लिए बल प्रयोग किया जा रहा था़ लेकिन उनलोगों ने पुलिस पर वार कर दिया. अंतत: मजबूरी में लाठी चार्ज करना पड़ा़ इसके पूर्व सेविकाओं ने राजभवन के समीप लगे बैरियर को तोड़ दिया था, इसलिए उन पर बल प्रयोग किया था़ उनलोगों ने मुझ पर व डीएसपी के बॉडीगार्ड पर हमला कर दिया था़

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें