1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. pakur
  5. cyber criminal made thumb clone for the first time in jharkhand 12 lakhs were fired from accounts smj

झारखंड में साइबर क्रिमिनल ने पहली बार बनाये अंगूठे का क्लोन, खातों से उड़ाये 12 लाख

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : 12 पीस अंगूठे का क्लोन समेत बरामद अन्य सामानों के साथ गिरफ्तार साइबर क्रिमिनल के अनोखे कारनामे के बारे में जानकारी देते एसपी मणिलाल मंडल.
Jharkhand news : 12 पीस अंगूठे का क्लोन समेत बरामद अन्य सामानों के साथ गिरफ्तार साइबर क्रिमिनल के अनोखे कारनामे के बारे में जानकारी देते एसपी मणिलाल मंडल.
प्रभात खबर.

Cyber Crime News, Pakur news : पाकुड़ (रमेश भगत) : साइबर क्रिमिनल का एक अनोखा कारनामा सामने आया है. पाकुड़ जिले में एक ऐसे ही गिरोह का पुलिस ने भंडाफोड़ किया है. ये साइबर क्रिमिनल लोगों के अंगूठे के निशान का क्लोन बनाकर उसके खाते से राशि की निकासी किया करता था. इस गिरोह में 8 सदस्य हैं, जो अब तक 30 लोगों से 12 लाख रुपये की ठगी कर चुका है. महेशपुर थाना क्षेत्र में सक्रिय ऐसे ही गिरोह के एक सदस्य को पुलिस गिरफ्तार करने में सफलता पायी है. इस बात की जानकारी एसपी मणिलाल मंडल ने मंगलवार को पत्रकारों को दी.

एसपी ने कहा कि पुलिस ने महेशपुर थाना क्षेत्र के छोटा केंदुआ निवासी अब्दुल राशिद को साइबर ठगी करने के आरोप में गिरफ्तार किया है. उसकी जानकारी पर पुलिस ने उसके पास से अंगूठे का क्लोन, लैपटॉप, खाताधारकों का पासबुक, डेबिट कार्ड, आधार कार्ड, सीम कार्ड, मोबाइल एवं अन्य सामान बरामद किया है.

श्री मंडल ने बताया कि इस तरह की साइबर ठगी करने का राज्य में यह पहला मामला है. घटना की जानकारी मिलने पर महेशपुर थाना प्रभारी दिनेश प्रसाद चौरसिया के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया था. जिसने इलाहाबाद बैंक के सीएसपी संचालक अब्दुल राशिद को गिरफ्तार किया.

Jharkhand news : साइबर क्रिमिनल द्वारा ठगी के लिए तैयार किया गया खाताधारकों के अंगूठे का क्लोन.
Jharkhand news : साइबर क्रिमिनल द्वारा ठगी के लिए तैयार किया गया खाताधारकों के अंगूठे का क्लोन.
प्रभात खबर.

साइबर क्रिमिनल खाताधारकों के अंगूठे का ऐसे बनाता था क्लोन

साइबर क्रिमिनल अब्दुल राशिद गिरोह के अपने अन्य साथियों के साथ लोगों का केवाईसी अपडेट करने के नाम पर आधार कार्ड लिया करता था. साथ ही कागज पर उसके अंगूठे का निशान लेता था. कागज पर मोम पिघला कर उस पर खाताधारक के अंगूठे का निशान लेता था. मोम में उठे निशान के ऊपर बाद में फेविकोल या फिक्सइट डाल देता था. फिक्सइट को सूखने में लगभग 24 घंटे लग जाते थे. इसके बाद खाताधारक के अंगूठे के निशान का क्लोन बन जाता है. ऐसे में सीएसपी संचालक अपने सीएसपी से खाताधारक के अंगूठे का क्लोन मोरफो में लगाकर एवं उसका आधार नंबर डालकर उसके खाते से अवैध रूप से पैसे की निकासी किया करता था.

एसपी श्री मंडल ने बताया कि इस गिरोह में कुल 8 साइबर क्रिमिनल है, जो अब तक 30 लोगों को अपनी ठगी का शिकार बना चुका है. ठगी के शिकार हुए खाताधारकों के खातों से लगभग 12 लाख रुपये की ठगी हुआ है. उन्होंने बताया कि इस घटना में शामिल अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है. पुलिस उन्हें भी जल्द गिरफ्तार कर लेगी. इस दौरान डीएसपी मुख्यालय बीएन प्रसाद, एसडीपीओ पाकुड़ अजीत कुमार बिमल, एसडीपीओ महेशपुर नवनीत हेम्ब्रम, इंस्पेक्टर महेशपुर सुरेंद्र रविदास, महेशपुर थाना प्रभारी दिनेश प्रसाद चौरसिया मौजूद थे.

12 पीस अंगूठे का क्लोन समेत कई सामान बरामद

पुलिस ने गिरफ्तार साइबर क्रिमिनल के पास से 12 पीस अंगूठे का क्लाेन बरामद किया है, जिसके सहारे इस गिरोह के सदस्य खाताधारकों से ठगी किया करता था. इसके अलावा इलाहाबाद बैंक के खाताधारियों का 140 पासबुक, एसबीआई बैंक के खाताधारी का 6 पासबुक, वनांचल बैक के खाताधारी का एक पासबुक, अलग- अलग बैंक का 7 चेकबुक, 16 एटीएम कार्ड, 3 स्टेट बैंक का डेबिट कार्ड, 43 फिनो बैंक का डेबिट कार्ड, 4 माेबाइल, 3 लैपटॉप, इलाहाबाद बैंक का 80 पीस सादा पासबुक, 15 सिम कार्ड और 18 आधार कार्ड की बरामदगी हुई है.

साइबर क्रिमिनल गिरोह में कौन- कौन है शामिल

पुलिस ने इस तरह की साइबर ठगी के मामले में 8 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. महेशपुर थाना प्रभारी दिनेश प्रसाद चौरसिया के बयान पर कांड संख्या 179/20 दर्ज किया गया है. जिसमें छोटा केंदुआ निवासी अब्दुल राशिद, छकुधाड़ा निवासी अजमतुल्ला अंसारी, सुबोध राय, आलम अंसारी, शिवा राय, बुलबुल अंसारी, टुडुवा अंसारी और रोलाग्राम निवासी आबु ताहिर अंसारी शामिल है. इनमें से पुलिस ने अब्दुल राशिद को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

साइबर ठगी को लेकर हाल में 6 मामले दर्ज

महेशपुर प्रखंड में हाल के दिनों में पीएम आवास के लाभुकों के खाते से साइबर ठगी को लेकर 6 प्राथमिकी दर्ज की जा चुकी है. साइबर ठगी को लेकर महेशपुर थाना में कांड संख्या 152/20, कांड संख्या 165/20, कांड संख्या 168/20, कांड संख्या 169/20, कांड संख्या 170/20 और कांड संख्या 173/20 दर्ज किया गया है. जिसमें साइबर ठगों ने 25 लोगों के खातों से पीएम आवास के आये पैसे की निकासी किया था. इस तरह की घटना बढ़ने से इलाके में दहशत का माहौल बन गया था.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें