1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamshedpur
  5. green ration card news jamshedpur in jharkhand had a target of more than 1 lakh only green ration cards of so many families have been approved grj

Jharkhand Green Ration Card News: झारखंड के जमशेदपुर में 1 लाख से अधिक का था लक्ष्य, महज इतने परिवारों के ग्रीन राशन कार्ड को ही मिल सकी है स्वीकृति

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand Green Ration Card News : जमशेदपुर में 1 लाख से अधिक का था लक्ष्य
Jharkhand Green Ration Card News : जमशेदपुर में 1 लाख से अधिक का था लक्ष्य
फाइल फोटो

Jharkhand Green Ration Card Scheme News, Jharkhand News, जमशेदपुर न्यूज (कुमार आनंद) : झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले में ही नहीं बल्कि सूबे में अब भी ग्रीन राशन कार्ड बनाने की तैयारी पूरी नहीं होने का मामला प्रकाश में आया है. इस वजह से कार्ड बनाकर कार्डधारी को देने और उक्त कार्ड के आधार पर राशन वितरण शुरु करने में देरी होना तय हो गया है. सूत्रों के मुताबिक पूर्वी सिंहभूम जिले में 15 जनवरी तक अबतक मात्र 4,376 परिवारों को ही ग्रीन राशन (उसमें 9997 सदस्य या यूनिट) देने की स्वीकृति दी गयी है, जबकि जिले में ग्रीन राशन कार्ड के लिए 1,04, 307 लोगों के राशन कार्ड बनाने का लक्ष्य दिया गया था, इसमें शहरी क्षेत्र (अनुभाजन) में 57 हजार लोग शामिल हैं.

Jharkhand Green Ration Card Yojana: यहां बता दें कि हेमंत सरकार की घोषणा के मुताबिक जनवरी माह से ग्रीन राशन कार्ड से गरीब परिवारों का राशन दिया जाना था, लेकिन 15 जनवरी तक न 1.04 लाख परिवार के लिए खाद्यान्न का ना आवंटन और न खाद्यान्न की आपूर्ति हो सकी है, जबकि झारखंड राज्य खाद्य सुरक्षा योजना के तहत ग्रीन राशन कार्ड देने के लिए पीडीएस दुकान के स्तर शिक्षकों से एक-एक आवेदन की जांच करके 1,44,230 लोगों की प्राथमिक सूची काफी पूर्व में तैयार की जा चुकी है. झारखंड में ग्रीन राशन कार्ड बनाने से जुड़ी हर News in Hindi से अपडेट रहने के लिए बने रहें हमारे साथ.

jharkhand ration card status: पीएच से ग्रीन राशन में ट्रांसफर करने पर बड़ी संख्या में आवेदन अटके हैं. जिले में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम से बन रहे पीएच श्रेणी में राशन कार्ड के लिए जमा किये गये फॉर्मों को ही झारखंड राज्य सुरक्षा योजना से बनने वाले ग्रीन राशन कार्ड ट्रांसफर कर देने के कारण बड़ी संख्या में आवेदन अटक गया है. ग्रीन राशन कार्ड बनाने में विधवा लाभुक को वर्षों पूर्व मृत्यु हुए का प्रमाण पत्र बनाने, जाति प्रमाण पत्र बनाने के लिए, दिव्यांग का प्रमाण पत्र बनाने, आय प्रमाण पत्र बनाने समेत अन्य जरूरी प्रमाण पत्र व कागजी औपचारिकता को पूरा करने की अनिवार्य शर्त को पूरा करना पड़ रहा है, जबकि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत यह प्रमाण पत्र की कोई जरूरत नहीं पड़ती थी.

पूर्वी सिंहभूम के जिला आपूर्ति पदाधिकारी राजीव रंजन ने बताया कि 15 जनवरी तक जिले में 4,376 परिवारों का ग्रीन राशन कार्ड बनाने की नियमानुसार अंतिम स्वीकृति ऑनलाइन प्रदान की गयी है. इसमें उन राशन कार्ड में 9997 सदस्य शामिल है.

15 जनवरी 2021 तक सूबे में जिलावार जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने अंतिम स्वीकृति प्रदान की

जिला -कार्ड- परिवार

पूर्वी सिंहभूम -4370 -9997

सरायकेला खरसावां-3038-5386

पश्चिम सिंहभूम-2522-5119

गढ़वा-3551-8803

चतरा-779-2214

कोडरमा-3855-11130

गिरिडीह-2660-8555

देवघर-4687-13140

गोड्डा-5353-13350

साहेबगंज-482-1505

पाकुड़-3832-11404

धनबाद-15923-40033

बोकारो-0-0

लोहरदगा-1775-4652

पलामू-9064-22128

लातेहार-2365-4913

हजारीबाग-1749-4308

रामगढ़-2234-7346

दुमका-0-0

जामताड़ा-1159-3357

रांची-23380-4456

खुंटी-1578-3895

गुमला-2737-7083

सिमडेगा -1097-2733

कुल 98196-235207

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें