28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

World AIDS Day/HIV : झारखंड के इन छह जिलों में हैं सर्वाधिक एचआईवी पॉजिटिव, 20 हजार से अधिक मरीजों का चल रहा इलाज

World AIDS Day/HIV : रांची : झारखंड में 2002 से लेकर अब तक कुल 25757 एचआईवी पॉजिटिव मिल चुके हैं. इनमें 20919 का एआरटी सेंटर में इलाज चल रहा है. अन्य या तो बाहर या दूसरे राज्य में चले गये हैं या अपना इलाज नहीं करा रहे हैं. झारखंड एड्स कंट्रोल सोसाइटी की रिपोर्ट के अनुसार राज्य के छह जिलों में सबसे अधिक एचआईवी पॉजिटिव मरीज हैं. इनमें रांची, हजारीबाग, धनबाद, पूर्वी सिंहभूम, गिरिडीह और कोडरमा शामिल हैं. झारखंड में एचआईवी पॉजिटिव मरीजों के इलाज के लिए 12 एंटीरिट्रोवायरल थेरापी (एआरटी) सेंटर बने हुए हैं. इस समय 20919 मरीज एआरटी सेंटर में निबंधित हैं और अपना इलाज करा रहे हैं.

World AIDS Day/HIV : रांची : झारखंड में 2002 से लेकर अब तक कुल 25757 एचआईवी पॉजिटिव मिल चुके हैं. इनमें 20919 का एआरटी सेंटर में इलाज चल रहा है. अन्य या तो बाहर या दूसरे राज्य में चले गये हैं या अपना इलाज नहीं करा रहे हैं. झारखंड एड्स कंट्रोल सोसाइटी की रिपोर्ट के अनुसार राज्य के छह जिलों में सबसे अधिक एचआईवी पॉजिटिव मरीज हैं. इनमें रांची, हजारीबाग, धनबाद, पूर्वी सिंहभूम, गिरिडीह और कोडरमा शामिल हैं. झारखंड में एचआईवी पॉजिटिव मरीजों के इलाज के लिए 12 एंटीरिट्रोवायरल थेरापी (एआरटी) सेंटर बने हुए हैं. इस समय 20919 मरीज एआरटी सेंटर में निबंधित हैं और अपना इलाज करा रहे हैं.

झारखंड में एचआईवी पॉजिटिव मरीजों को दवा लेने के लिए आने-जाने को लेकर प्रतिमाह एक हजार रुपये दिये जाते हैं. यह राज्य सुरक्षा पेंशन योजना के तहत दिया जाता है. इस समय 3500 एचआईवी पॉजिटिव इस योजना का लाभ ले रहे हैं. एचआईवी पॉजिटिव मरीजों की देखभाल व सहायता के लिए पांच केयर एंड सपोर्ट सेंटर भी रांची, जमशेदपुर, धनबाद, हजारीबाग और गिरिडीह में संचालित हैं.

Also Read: बेल ऑर्डर पर जिला जज के साइन नहीं, फिर भी आरोपी जेल से आया बाहर, ऐसे हुआ खुलासा

झारखंड के 23 जिलों में हाई रिस्क ग्रुप के बीच जागरूकता फैलाने के लिए 19 एनजीओ कार्यरत हैं. ये एनजीओ फीमेल सेक्स वर्कर, ट्रकर और प्रवासियों के बीच काम करते हैं. वहां इनके बीच एचआईवी से बचाव की जानकारी दी जाती है. वहीं इंजेक्शन के माध्यम से ड्रग लेने वालों के इलाज के लिए भी दो ओएसटी सेंटर कार्यरत हैं. एक पीएमसीएच धनबाद व दूसरा जमशेदपुर सदर अस्पताल में है. इसके अलावा समय-समय पर जेल में भी झारखंड राज्य एड्स कंट्रोल सोसाइटी द्वारा एचआईवी और टीबी को लेकर जागरूक करने का काम किया जाता है. कैदियों का एचआईवी टेस्ट भी कराया जाता है.

Also Read: झारखंड के मैट्रिक व इंटर के विद्यार्थी इस एप से पढ़ेंगे ऑनलाइन, सीएम हेमंत सोरेन करेंगे लॉन्च

झारखंड के सभी 24 सदर अस्पताल और तीन मेडिकल कॉलजे में नि:शुल्क एचआइवी जांच की सुविधा उपलब्ध है.

जिलेवार एचआईवी पॉजिटिव

जिला संख्या

बोकारो 587

चतरा 167

देवघर 555

धनबाद 1902

दुमका 415

गढ़वा 129

गिरिडीह 1726

गोड्डा 272

गुमला 214

हजारीबाग 5495

जामताड़ा 360

कोडरमा 1220

जिला संख्या

लोहरदगा 141

पाकुड़ 305

पलामू 1196

प. सिंहभूम 476

जमशेदपुर 3961

रामगढ़ 120

रांची 5286

साहिबगंज 617

सरायकेला 239

सिमडेगा 155

लातेहार 61

खूंटी 152

Also Read: स्वीमिंग चैंपियनशिप में 16 गोल्ड व सिल्वर जीतनेवाले गौरव का सपना आज भी क्यों है अधूरा, पढ़िए ये रिपोर्ट

रिम्स रांची, एमजीएम जमशेदपुर, पीएमसीएच धनबाद, हजारीबाग सदर अस्पताल, देवघर सदर अस्पताल, मेदिनीनगर सदर अस्पताल, गिरिडीह सदर अस्पताल, कोडरमा, दुमका, बोकारो, चाईबासा और साहिबगंज के सदर अस्पताल में एआरटी सेंटर है.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें