1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. women will join self employment in gumla are building their own mini market in sisai road

गुमला में स्वरोजगार से जुड़ेंगी महिलाएं, सिसई रोड में बना रही हैं खुद का मिनी मार्केट

गुमला जिला में शहर से लेकर गांवों तक रोजगार का अभाव है. इसके बावजूद यहां कई लोग ऐसे भी हैं, जो बेरोजगारी की समस्या को खुद से दूर करने के प्रयास में लगे हुए हैं. ऐसे ही लोगों में गुमला शहर की 100 से भी अधिक महिलाएं हैं.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Jharkhand News : गुमला में स्वरोजगार से जुड़ेंगी महिलाएं
Jharkhand News : गुमला में स्वरोजगार से जुड़ेंगी महिलाएं
Prabhat Khabar

गुमला जिला में शहर से लेकर गांवों तक रोजगार का अभाव है. इसके बावजूद यहां कई लोग ऐसे भी हैं, जो बेरोजगारी की समस्या को खुद से दूर करने के प्रयास में लगे हुए हैं. ऐसे ही लोगों में गुमला शहर की 100 से भी अधिक महिलाएं हैं. सभी महिलाएं मेरी क्षेत्रीय संघ डुमरटोली (वार्ड नंबर 03) गुमला की हैं. संघ के नौ ग्रुप हैं. सभी ग्रुप में 12-13 महिलाएं हैं. सभी ग्रुप अपने उत्पादों यथा सब्जी, आचार, पेपर पैकेट (ठोंगा), फूलों की माला, घर की सजावट में उपयोग होने वाली सामग्रियों सहित श्रृंगार सामग्री आदि की बिक्री के लिए सिसई रोड (डुमरटोली मोड़ के समीप) गुमला में अपना एक-एक दुकान संचालित करेंगी.

इसके लिए महिलाओं ने रविवार को साफ सफाई की. संघ की अध्यक्ष एलिजाबेथ तिग्गा, सचिव जोसफिन लकड़ा, कोषाध्यक्ष मधु लकड़ा व लेखापाल सेकुंदा लकड़ा ने बताया कि मेरी क्षेत्रीय संघ के नौ ग्रुपों के माध्यम से 100 से भी अधिक महिलाएं जुड़ी हुई हैं. ग्रुप की महिलाएं खेतीबारी करती हैं. विभिन्न प्रकार की सब्जियां उगाती हैं. फूलों की खेती करती हैं.

फूल तैयार होने के बाद फूल एवं उसका माला बनाकर बिक्री करती हैं. महिलाएं सिलाई-कढ़ाई में भी निपुण हैं. कई महिलाएं पेपर पैकेट भी बनाती हैं. संघ की महिलाओं का अपना कई प्रकार का उत्पाद है. जिसे बिक्री करने के लिए शहर ले जाना पड़ता है. परंतु अब इसके लिए शहर जाने की जरूरत नहीं. अपने उत्पादों को बिक्री करने और रोजगार से जुड़ने के लिए सिसई रोड में खुद का मिनी मार्केट बना रही हैं.

मार्केट में नौ ग्रुप का नौ दुकान होगा. सभी दुकानों में महिलाएं अपने उत्पादित सामग्रियों की बिक्री करेंगी. उन्होंने बताया कि इसके लिए नगर परिषद की ओर से प्रत्येक ग्रुप को 10-10 हजार रुपये मुहैया कराया जा रहा है. ताकि महिलाएं स्वरोजगार से जुड़ सकें.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें