1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. search operation of gumla police and crpf against naxalites sp said if you want to avoid bullet surrender

नक्सलियों के खिलाफ गुमला पुलिस और सीआरपीएफ का सर्च ऑपरेशन, एसपी ने कहा- गोली से बचना है, तो करें सरेंडर

गुमला पुलिस (Gumla Police) व सीआरपीएफ- 218 बटालियन (CRPF- 218 Battalion) ने संयुक्त रूप से प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के खिलाफ सर्च ऑपरेशन चलाया. इसका नेतृत्व गुमला एसपी हृदीप पी जनार्दनन ने किया. सर्च ऑपरेशन के दौरान पुलिस नक्सलियों की मांद में घुसे.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
गुमला पुलिस और सीआरपीएफ के अधिकारियों ने ग्रामीण महिलाओं के बीच साड़ी और कंबल का वितरण किया.
गुमला पुलिस और सीआरपीएफ के अधिकारियों ने ग्रामीण महिलाओं के बीच साड़ी और कंबल का वितरण किया.
फोटो : प्रभात खबर.

गुमला : गुमला पुलिस (Gumla Police) व सीआरपीएफ- 218 बटालियन (CRPF- 218 Battalion) ने संयुक्त रूप से प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के खिलाफ सर्च ऑपरेशन चलाया. इसका नेतृत्व गुमला एसपी हृदीप पी जनार्दनन ने किया. सर्च ऑपरेशन के दौरान पुलिस नक्सलियों की मांद में घुसे. इस दौरान गुमला एसपी श्री जनार्दनन ने नक्सलियों से सरेंडर कर मुख्यधारा में लौटने की अपील करते हुए कहा कि गोली से बचना है, तो सरेंडर करे.

नक्सलियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन में गुमला पुलिस और सीआरपीएफ के जवान जंगल, झाड़, खेत व पहाड़ों में पैदल चलें. आधा दर्जन गांवों का भी भ्रमण किये. अधिकारियों ने कुकरुंजा, बरडीह, उरु, सिविल, कुरुमगढ़ के अलावा आसपास के गांवों में ग्रामीणों की समस्याओं से रूबरू हुए. इस दौरान महिलाओं को साड़ी, बुजुर्गो को धोती, लुंगी, बच्चों को खाने- पीने की सामग्री, खिलौने व युवाओं को खेल सामग्री दिये. ग्रामीणों नेपुलिया, सड़क, बिजली, स्वास्थ्य सुविधा सहित अन्य समस्याओं से पुलिस अधिकारियों को अवगत कराया.

सर्च अभियान के दौरान गांव की बच्चियों को कंबल देते पुलिस अधिकारी व जवान.
सर्च अभियान के दौरान गांव की बच्चियों को कंबल देते पुलिस अधिकारी व जवान.
फोटो : प्रभात खबर.

एसपी ने कहा कि पुल, पुलिया, सड़क सहित अन्य विकास कार्यों को जल्द पूरा कराया जायेगा. गांवों में धीरे-धीरे बदलाव आ रहा है. विकास भी हो रहा है. हालांकि, कुछ कमियां भी है. उन कमियों को दूर किया जायेगा. उन्होंने युवाओं से कहा कि आप अपनी ऊर्जा का उपयोग समाज की बेहतरी में करें. आप के बूते समाज को प्रगति के पथ पर ले जाना है. आप युवा पढ़ें. अपनी रुचि के अनुसार करियर बनायें.

आप युवा में ही कोई कल का पुलिस, सैनिक, इंजीनियर, डॉक्टर, शिक्षक या अन्य सरकारी नौकरी में जा सकते हैं. इसलिए समय का सदुपयोग करें. जितना हो आप अच्छे कामों में अपना समय दें. उन्होंने मुख्यधारा से भटके लोगों को सरेंडर करने के लिए कहा है, ताकि पुलिस की गोली का शिकार होने से बच सके और मुख्यधारा से जुड़कर अच्छी जिंदगी जी सके. उन्होंने माता- पिता से अपील किया कि आप अपने बच्चों को अच्छे संस्कार व शिक्षा दें, ताकि वे आगे चल कर न अपने गांव बल्कि जिला, राज्य व देश का नाम रोशन कर सकें.

बुजुर्गों को धोती-लुंगी देते गुमला पुलिस और सीआरपीएफ के अधिकारी.
बुजुर्गों को धोती-लुंगी देते गुमला पुलिस और सीआरपीएफ के अधिकारी.
फोटो : प्रभात खबर.

गांवों में मिले अधूरे पुल, ग्रामीणों ने सुनाया दुखड़ा

कई गांवों में प्रवेश करने के लिए पुलिस को अधूरे पुल से सामना करना पड़ा. गांवों में रास्ते नहीं थे. पगडंडी से होकर गुजरे. गांवों में पहुंचने पर ग्रामीणों ने अपने दुखड़े सुनाये. एसपी भी गांव के लोगों से घुल- मिलकर बात किये. गांवों की समस्याओं से रूबरू हुए.

यहां बता दें कि बरसात से पहले नक्सलियों को घेरने के इरादे से पुलिस व सीआरपीएफ जंगलों में घुसी थी. चैनपुर प्रखंड के दूरस्थ इलाकों में सर्च ऑपरेशन चलाये. हथियार टांगे अधिकारी व जवान कुकरुंजा, बरडीह, उरु, सिविल, कुरुमगढ़ सहित आसपास के कई गांवों व जंगलों में नक्सलियों को खोजते हुए नजर आये. लेकिन, कोई नक्सली नहीं मिला. इस अभियान में एसपी श्री जनार्दनन के साथ सीआरपीएफ कमांडेंट एच रंजीत, एएसपी बृजेंद्र कुमार मिश्रा, चैनपुर एसडीपीओ कुलदीप कुमार सहित थाना प्रभारी व पुलिस जवान शामिल थे.

Posted By : Samir ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें