19.7 C
Ranchi
Sunday, March 3, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

झारखंड: आदिम जनजाति महिला से संवाद कर बोले पीएम नरेंद्र मोदी, सरकारी पैसे पर आपका हक, बिचौलिए को नहीं दें

पीएम नरेंद्र मोदी से बात करते हुए शशिकिरण बृजिया ने सरकार से मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि मेरे परिवार में सात सदस्य हैं. महिला समूह से जुड़कर खेतीबारी करती हूं. फोटोकॉपी मशीन खरीदी है. सिलाई मशीन भी है. स्वरोजगार से जुड़कर काम कर रही हूं.

गुमला के बिशुनपुर की आदिम जनजाति महिला से बात करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि नमस्कार. जोहार. राम-राम. आज पूरा देश उत्सव मना रहा है. अयोध्या में दीपावली का माहौल है. आज देश के एक लाख अति पिछड़े जनजातीय परिवार को घर बनाने के लिए पैसा उनके खाते में ट्रांसफर किया जा रहा है. घरों का निर्माण कार्य जल्द शुरू हो और जनजातीय परिवार के लोग इस साल की दीपावली अपने नये पक्के मकान में मनाएं. उन्होंने कहा कि 10 साल में चार करोड़ गरीबों को पक्का मकान दिया गया है. अंतिम व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुंचे. यह सरकार की प्राथमिकता है. आज से दो माह पहले बिरसा मुंडा की जयंती पर खूंटी से जनमन महाअभियान की शुरुआत की गयी थी. इसके तहत सरकार विभिन्न योजनाओं में 23000 करोड़ से ज्यादा खर्च करने जा रही है. सरकार का मानना है कि विकास तभी संभव है. जब कोई व्यक्ति छूटे नहीं. अंतिम व्यक्ति तक लाभ मिले. उन्होंने कहा कि मोदी की गारंटी मतलब गारंटी के पूरा होने की गारंटी. जनजाति परिवार के लोगों को एक-एक घर बनाने के लिए 2.5 लाख रुपए दिया जाएगा. इसके अलावा सभी अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ उठाएं. केंद्र सरकार आपको अपने घर बनाने के लिए ढाई लाख रुपए भेज रही है. उसमें अगर कोई हिस्सा मांगे तो आप एक रुपए भी किसी को मत देना. इस पैसे पर आप का हक है. कोई बिचौलिए का नहीं है. कार्यक्रम में सांसद सुदर्शन भगत, राज्यसभा सांसद समीर उरांव, भाजपा की राष्ट्रीय मंत्री आशा लकड़ा, उपायुक्त कर्ण सत्यार्थी, एसपी हरविंदर सिंह, डीडीसी हेमंत सती सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे.

मुझे सरकारी योजना का लाभ मिला है : बृजिया

पीएम नरेंद्र मोदी से बात करते हुए शशिकिरण बृजिया ने सरकार से मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि मेरे परिवार में सात सदस्य हैं. महिला समूह से जुड़कर खेतीबारी करती हूं. फोटोकॉपी मशीन खरीदी है. सिलाई मशीन भी है. स्वरोजगार से जुड़कर काम कर रही हूं. गांव तक पहुंच के लिए सड़क बन रही है. नल जल योजना के तहत पानी मिलता है. पिता को खेतीबीरी के लिए पीएम किसान योजना के तहत पैसा मिला है. प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत हुआ है. कृषि लोन का लाभ मिल रहा है. प्रधानमंत्री ने कई बिंदुओं पर महिला से बातचीत की. उसने आगे कहा कि दोना पत्तल और आचार बनाने की योजना है. जिसके लिए ट्रेनिंग लेगी. पहाड़ी क्षेत्र तक योजनाओं का लाभ पहुंचा है. इसके लिए संपूर्ण गुमला जिले की तरफ से महिला ने प्रधानमंत्री का धन्यवाद किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि 10 वर्षों से लगातार कोशिश हो रही है कि हर इलाके में हर जरूरतमंद तक योजनाओं का लाभ पहुंचे.

Also Read: पीएम नरेंद्र मोदी ने झारखंड की आदिम जनजाति महिला से की बात, बोले-इस बार पक्के घर में मनेगी दीपावली

केंद्रीय मंत्री ने परिसंपत्तियों का किया वितरण

जनजातीय मामले सह कृषि विभाग की केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने कार्यक्रम में लाभुको के बीच एक करोड़ 64 लाख 73 हजार रुपये की परिसंपत्ति का वितरण किया. अर्जुन मुंडा ने कहा कि 75 पीवीटीजी जाति के 39 लाख आबादी तक सरकार की योजनाओं का लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से यह कार्यक्रम आयोजित है. दो माह पूर्व महाअभियान की शुरुआत हुई और 8000 से अधिक गांव में कैंप लगाये गये. आजादी के 75 साल तक कोई लाभ नहीं मिला था. लेकिन प्रधानमंत्री के लक्ष्य निर्धारण का परिणाम है कि आज गांव गांव तक योजनाओं का लाभ पहुंच रहा है. केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, सांसद सुदर्शन भगत, राज्यसभा सांसद समीर उरांव सहित अन्य अतिथियों ने संयुक्त रूप से कार्यक्रम स्थल में विभिन्न विभागों द्वारा लगाये गये स्टॉल का निरीक्षण किया. इसके उपरांत मेडिकल यूनिट वैन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. मेडिकल यूनिट वैन गांव गांव पहुंच कर ग्रामीणों का निशुल्क उपचार करेगी. वहीं स्टॉल का निरीक्षण करने के उपरांत मीडिया से मुखातिब हुए.

Also Read: Ayodhya Ram Mandir: झारखंड के गोड्डा की बहू माधवी मधुकर झा 19 जनवरी को अयोध्या में पेश करेंगी भजन

पीएम की अपील : 22 जनवरी तक सभी मंदिरों की सफाई करें

कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि आगामी 22 जनवरी को अयोध्या में रामलला अपने दिव्य मंदिर में दर्शन देंगे. उक्त अवसर पर प्राण प्रतिष्ठा हेतु मुझे भी आमंत्रण मिला है. मैं 11 दिन व्रत अनुष्ठान कर रहा हूं. मकर संक्रांति से लेकर 22 जनवरी तक सभी मंदिरों में विशेष सफाई अभियान चलाएं. पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत प्रधानमंत्री से चार आदिम जनजाति की महिलाओं से बात करना तय हुआ था. परंतु, समय के अभाव के कारण पीएम ने एक ही महिला से बात कर सरकार द्वारा मिल रही योजनाओं की स्थिति की जानकारी ली. वहीं मौके पर सैंकड़ों आदिम जनजाति के लोग मौजूद थे. सभी पारंपरिक वेश भूषा व नये कपड़े पहने हुए थे. यह पहला अवसर था. जब पीएम ने आदिम जनजाति महिला से बात की. जिस कारण लोगों में खुशी थी.

Also Read: झारखंड: कॉमरेड महेंद्र सिंह के शहादत दिवस की पूर्व संध्या पर निकला मशाल जुलूस, लाल झंडे से पटा इलाका

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें