1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. naxalites attack after blowing up kurumgarh police station new building no casualties grj

Jharkhand News: कुरुमगढ़ थाना का नया भवन उड़ाने के बाद नक्सलियों ने फिर बोला हमला, मुठभेड़ में कोई हताहत नहीं

पुलिस-नक्सली मुठभेड़ के बाद गुमला पुलिस भाकपा माओवादियों की धरपकड़ के लिए सर्च अभियान चला रही है. इसमें कोई हताहत नहीं हुआ है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand News: कुरुमगढ़ थाना
Jharkhand News: कुरुमगढ़ थाना
प्रभात खबर

Jharkhand News: झारखंड के गुमला जिले के चैनपुर प्रखंड के कुरुमगढ़ थाना क्षेत्र में पुलिस व नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई है. नक्सली संगठन भाकपा माओवादी ने हमला कर एक बार फिर पुलिस को कड़ी चुनौती दी है. पुलिस-नक्सली मुठभेड़ के बाद भाकपा माओवादियों की धरपकड़ के लिए पुलिस सर्च अभियान चला रही है. इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. गुमला एसपी ने इसकी पुष्टि की है. आपको बता दें कि पिछले 25 नवंबर की रात गुमला जिले के चैनपुर प्रखंड स्थित कुरूमगढ़ थाना के नये भवन को नक्सलियों ने विस्फोट कर उड़ा दिया था.

झारखंड के गुमला जिले के चैनपुर प्रखंड के कुरुमगढ़ थाना के नये भवन को पिछले 25 नवंबर को विस्फोट कर उड़ाने के बाद एक बार फिर नक्सलियों ने हमला बोला है. इस दौरान पुलिस ने जवाबी फायरिंग की. पुलिस-नक्सली के बीच चली मुठभेड़ के बाद नक्सली भाग निकले. इस मुठभेड़ में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. गुमला एसपी ने इस मुठभेड़ की पुष्टि की है. बताया जा रहा है कि पुलिस व नक्सलियों के बीच झारखंड के गुमला जिले के चैनपुर प्रखंड के कुरुमगढ़ में लंबी मुठभेड़ चली है. जानकारी के अनुसार इसमें किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है. पुलिस गोलीबारी की घटना के बाद भाकपा माओवादियों की धरपकड़ के लिए सर्च अभियान चला रही है.

आपको बता दें कि पिछले 25 नवंबर की रात गुमला जिले के चैनपुर प्रखंड स्थित कुरूमगढ़ थाना के नये भवन को नक्सलियों ने विस्फोट कर उड़ा दिया था. इस मामले में पुलिस मुख्यालय ने लापरवाही बरतने के आरोप में गुमला एसपी डॉ एहतेशाम वकारिब को शो-कॉज किया है. जवाब मिलने के बाद पुलिस मुख्यालय इसकी समीक्षा कर निर्णय लेगा. पुलिस मुख्यालय को जानकारी मिली थी कि रविवार की रात 12.30 बजे नक्सलियों ने नये थाना भवन को विस्फोट कर उड़ाया था. गुमला एसपी को घटना की जानकारी दूसरे दिन सोमवार की सुबह 6.30 बजे मिली थी. उन्होंने इस घटना की जानकारी तत्काल वरीय पदाधिकारियों को न देकर दो घंटे बाद करीब 8.30 बजे दी थी. वहीं दूसरी ओर पुलिस मुख्यालय की ओर से नक्सली बंद को देखते हुए नक्सल प्रभावित थाना व पुलिस पिकेट की सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त करने का निर्देश दिया गया था. इसके बावजूद कुरूमगढ़ के नये थाना भवन की सुरक्षा की कोई व्यवस्था नहीं की गयी थी.

रिपोर्ट : दुर्जय पासवान

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें