1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. jharkhand news permission to cut only 8 trees found in rajadera of gumla wood mafia cut hundreds of trees investigation revealed smj

गुमला के राजाडेरा में मात्र 8 पेड़ काटने का मिला परमिशन, लकड़ी माफिया ने काटे सैकड़ों पेड़,जांच में हुआ खुलासा

गुमला के राजाडेरा में सैकड़ों सखुआ पेड़ काटे जाने के मामले का खुलासा हुआ है. मात्र 8 पेड़ काटे जाने का परमिशन मिला था, लेकिन लकड़ी माफिया ने क्षेत्र के सैकड़ों सखुआ पेड़ को काट डाले. फिलहाल पेड़ का कटा बोटा प्रशासन की निगरानी में है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
लकड़ी माफिया ने गुमला के राजाडेरा में सैकड़ों सखुआ पेड़ को काट डाला.
लकड़ी माफिया ने गुमला के राजाडेरा में सैकड़ों सखुआ पेड़ को काट डाला.
प्रभात खबर.

Jharkhand News (गुमला) : झारखंड के गुमला जिला अंतर्गत चैनपुर प्रखंड के राजाडेरा में सखुआ पेड काटने के मामले की जांच करने मंगलवार को सीओ सह बीडीओ डॉ शिशिर कुमार सिंह पहुंचे. साथ में चैनपुर थाना प्रभारी अमित कुमार चौधरी थे. गांव में जिस स्थान पर लकड़ी का बोटा काटकर रखा गया है. अधिकारी वहां पहुंचे.

जांच के बाद सीओ श्री सिंह ने कहा कि 8 सखुआ के पेड़ काटने का परमिशन दिया गया था, लेकिन यहां तो सैंकड़ों पेड़ काटकर रखा गया है. यह मामला गंभीर है. एक बार दोबारा इसकी जांच अंचल निरीक्षक व वन विभाग के अधिकारी से करायी जायेगी. इसके बाद ही काट कर रखे गये लकड़ी के बोटा को हटा दिया जायेगा. फिलहाल में ये सभी लकड़ी का बोटा प्रशासन की निगरानी में रहेगा.

सीओ श्री सिंह ने कहा कि समाचार पत्र के माध्यम से जानकारी मिलने पर उसके सत्यापन के लिए थानेदार अमित कुमार चौधरी के साथ दुर्गम उग्रवाद प्रभावित गांव राजाडेरा पहुंचे. जहां के जंगलों में सैकड़ों की संख्या में सखुवा पेड़ का बोटा काट कर रखा गया था. उसे देखा.

उन्होंने कहा कि वन विभाग की जानकारी के अनुसार, 8 पेड़ों का परमिशन काटने को दिया गया था. यहां तो सैकड़ों की संख्या में पेड कटे पड़े हैं जो की जांच का विषय है. गांव के लोगों ने अधिकारियों को बताया कि राहुल जायसवाल द्वारा बहुत दिनों से पेड़ों की कटाई एवं ढुलाई का कार्य इस क्षेत्र से किया जा रहा है.

बता दें कि नेतरहाट फील्ड फायरिंग रेंज व झारखंड जनाधिकार महासभा के लोगों ने राजाडेरा गांव के दौरा के क्रम में जंगल से पेड़ काटकर गांव में रखे जाने का खुलासा किया था. इसकी शिकायत सीएम तक की गयी. इसके बाद प्रशासन हरकत में आया है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें