29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

पांच दशक पुराना खपरैल से बना थाना भवन क्षतिग्रस्त

धनवार थाना में लगभग पांच दशक पुराना खपरैल थाना भवन पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है. इस क्षतिग्रस्त भवन से दुर्घटना की आशंका भी बढ़ गयी है. बताया जाता है कि उक्त भवन का निर्माण लगभग 45 वर्ष पहले अविभाजित बिहार सरकार के कार्यकाल में हुआ था.

धनवार थाना प्रभारी ने सीओ को आवेदन देकर क्षतिग्रस्त खपरैल थाना भवन को हटाने की मांग की

राजधनवार. धनवार थाना में लगभग पांच दशक पुराना खपरैल थाना भवन पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है. इस क्षतिग्रस्त भवन से दुर्घटना की आशंका भी बढ़ गई है. बताया जाता है कि उक्त भवन का निर्माण लगभग 45 वर्ष पहले अविभाजित बिहार सरकार के कार्यकाल में हुआ था.

इस खपरैल भवन से धनवार प्रखंड के 39 पंचायतों के अपराध नियंत्रण और शांति व्यवस्था कायम रखने की जिम्मेदारी निभाई जाती थी. आबादी बढ़ने के साथ इसी थाना क्षेत्र में परसन ओपी का निर्माण किया गया. ओपी का संचालन भी परसन के एक खपरैल मकान में आरंभ की गई. वर्ष 2022 में झारखंड सरकार के कार्यकाल में परसन ओपी के लिए एक नया व पक्के का मकान का निर्माण कराया गया. धनवार थाना क्षेत्र में फिर से वर्ष 2018 में घोरथम्बा ओपी बनाया गया. फिलहाल यह एक पुस्तकालय के लिए बने भवन में संचालित किया जा रहा है. धनवार थाना परिसर में वर्ष 2015 में इसी खपरैल मकान के पीछे एक पक्का ढलाई भवन बनाकर उसमें शिफ्ट कर दिया गया. अब थाना का संचालन इसी पक्के भवन में किया जा रहा है. तबसे रख-रखाव व मरम्मति के अभाव में खपरैल भवन क्षतिग्रस्त होता चला गया. दरवाजे, खिड़कियां, खपड़ा, लकड़ी आदि क्षतिग्रस्त हो जाने से खपड़ा टूट कर गिरने लगा है. आने वाले बरसात में बरसात का पानी से दीवाल ढह जाने की आशंका है. समय रहते इसपर ध्यान नहीं दिया गया तो यह कभी भी धारासायी हो सकता है. इस बाबत शुक्रवार को धनवार थाना प्रभारी नंदू कुमार पाल ने धनवार सीओ गुलजार अंजुम को आवेदन देकर क्षतिग्रस्त खपरैल थाना भवन को हटाने की मांग की है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें