1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. garhwa
  5. uproar during tender pouring in garhwa police took over the front ddc investigated smj

झारखंड के गढ़वा में टेंडर डालने के दौरान हंगामा, पुलिस ने संभाला मोर्चा, DDC ने की जांच

गढ़वा में ग्रामीण कार्य विभाग द्वारा सड़क योजना को लेकर डाले जा रहे टेंडर के दौरान जमकर हंगामा हुआ. हंगामें के बाद अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाना पड़ा. वहीं, डीसी के निर्देश पर डीडीसी को जांच का जिम्मा मिला.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news: टेंडर डालने के दौरान हंगामा. गढ़वा पुलिस की मौजूदगी में डाला गया टेंडर.
Jharkhand news: टेंडर डालने के दौरान हंगामा. गढ़वा पुलिस की मौजूदगी में डाला गया टेंडर.
प्रभात खबर.

Jharkhand news: चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था वाले गढ़वा समाहरणालय में सोमवार को ग्रामीण कार्य विभाग कार्य प्रमंडल, गढ़वा के ड्रॉप बॉक्स से टेंडर पेपर लूटने का मामला सामने आया है, जबकि कई लोगों को टेंडर पेपर डालने से रोकने का भी आरोप लगाया गया है. इस मामले को लेकर ठेकेदारों ने ग्रामीण कार्य विभाग के बाहर जमकर हंगामा किया. नौबत दो पक्षों के बीच मारपीट तक पहुंच गयी, लेकिन इसी बीच गढ़वा एसपी को इसकी सूचना मिली. जानकारी मिलते ही एसपी के निर्देश पर गढ़वा थाना प्रभारी मौक पर पहुंचे और ड्रॉप बॉक्स को अपनी सुरक्षा में लेते हुए कार्यालय के अंदर रखवाया.

पुलिस बल की उपस्थिति में डाला गया टेंडर

इधर, इस मामले की जांच के लिए डीसी की ओर से DDC राजेश कुमार राय को तत्काल ग्रामीण कार्य विभाग भेजा गया़ उन्होंने विभाग में जाकर पूरे मामले की जानकारी ली़ इसके बाद मामले को शांत कराया गया तथा निर्धारित समय शाम 3.30 बजे तक पुलिस बल की उपस्थिति में टेंडर डाली गयी़

क्या है पूरा मामला

जानकारी के अनुसार, ग्रामीण कार्य विभाग की ओर से जिला योजना अनाबद्ध निधि (Non-linked fund) से रंका, गढ़वा, चिनियां एवं मेराल प्रखंड में पीसीसी सड़क निर्माण की कुल 6 योजनाओं के लिए टेंडर निकाली गयी थी. इसका टेंडर सोमवार सुबह से डाली जा रही थी. इस दौरान टेंडर डालने के दौरान जमकर हंगामा हो गया. पीड़ित ठेकेदार गौरव कुमार दूबे ने बताया कि दोपहर दो बजे जब वे मेराल के रेजो गांव में 21 लाख रुपये की लागत से बननेवाले पीसीसी पथ निर्माण का टेंडर डालने गये, तो खुद को मंत्री का आदमी बताते हुए कुछ लोगों ने पहले तो उन्हें टेंडर डालने से रोका, लेकिन जब उन्होंने टेंडर के कागजात ड्रॉप बॉक्स में डाल दिया, तो पुलिस बल की उपस्थिति के बीच ही उनलोगों ने ड्रॉप बॉक्स को उलट कर उसमें से उनके टेंडर पेपर को निकाल लिया. वो टेंडर पेपर उन्हें अभी तक नहीं मिला है. इसी तरह इस मौके पर उपस्थित दूसरे ठेकेदार लक्ष्मीकांत दूबे ने बताया कि वे जब टेंडर डालने जा रहे थे, तो उन्हें डालने से जबरन रोक दिया गया.

प्राथमिकी का आवेदन लेने से इनकार करने का आरोप

टेंडर पेपर लूटे जाने के बाद ठेकेदार गौरव कुमार दूबे ने बताया कि उनका आवेदन लेने से गढ़वा थाना प्रभारी ने इनकार कर दिया़ उन्होंने आरोप लगाया कि थाना प्रभारी द्वारा कहा गया कि मंत्री का नाम हटाओ तभी आवेदन लेंगे़ श्री दूबे ने बताया कि वे आवेदन को अब थाना के वेबसाइट पर ऑनलाईन जमा कर रहे है़ं आवेदन में कहा है कि जब उनका टेंडर लूटा जा रहा था, तब लूटनेवाले लोग यह कह रहे थे कि वे मंत्री के कार्यकर्ता हैं. टेंडर केवल मंत्री के आदमी को ही मिलेगा़ आवेदन में उन्होंने दोषियों पर कारवाई करने के साथ-साथ एफडी एवं डीडी दिलवाने की भी मांग की है़

जांच के बाद ही कुछ कह सकते हैं : डीडीसी

इस संबंध में उपविकास आयुक्त राजेश कुमार राय ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि हंगामा हो रहा है. इसके बाद वे वहां गये और ड्रॉप बॉक्स को कार्यालय के अंदर रखवाया. वहां पुलिस बल की मौजूदगी में टेंडर डाली जा रही है. उन्होंने बताया कि टेंडर पेपर लूटे जाने का मामला जांच का विषय है. वे इसकी जांच करवायेंगे. वहीं, ग्रामीण कार्य विभाग के सहायक अभियंता अमरेंद्र कुमार ने बताया कि टेंडर पेपर लूटे जाने की जानकारी उन्हें नहीं है.

रिपोर्ट : पीयूष तिवारी, गढ़वा.

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें