1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. dhanbad
  5. dhanbad weakened due to lockdown air quality index of other areas except coal area came in green zone

लॉकडाउन से धनबाद की आबोहवा हुई सेहतमंद, कोल एरिया को छोड़ अन्य क्षेत्रों का एयर क्वालिटी इंडेक्स आया ग्रीन जोन में

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
 प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रभात खबर

अशोक कुमार, धनबाद : ग्रीन पीस इंडिया और अमेरिका की शिकागो यूनिवर्सिटी के अधीन काम करने वाली एनर्जी पॉलिसी इंस्टीट्यूट ऑफ शिकागो ने इस वर्ष फरवरी माह में धनबाद में वायु प्रदूषण को लेकर डराने वाले खुलासे किये थे. ग्रीन पीस ने न सिर्फ झरिया और धनबाद को देश का सबसे प्रदूषित शहर बताया था, बल्कि मानव जीवन के लिए भी खतरनाक बताया था. रिपोर्ट के अनुसार धनबाद की खराब एयर क्वालिटी लाइफ इंडेक्स की वजह से यहां रहने वाले 4.4 वर्ष कम जी रहे हैं.

इस रिपोर्ट की खूब चर्चा हुई थी, लेकिन एक महीने के बाद वैश्विक महामारी कोविड-19 से निबटने के लिए देश भर में लगाये गया लॉकडाउन धनबाद की आबो हवा के लिए वरदान साबित हुआ है. पिछले तीन महीने में धनबाद व झरिया के साथ जिले के आबादी वाले क्षेत्रों के एयर क्वालिटी इंडेक्स में काफी सुधार हुआ़ हालांकि कोलियरी क्षेत्रों में अब भी यह इंडेक्स रेड जोन में है, लेकिन अन्य क्षेत्रों में पिछले तीन माह से एक्यूआइ ग्रीन जोन में बना हुआ है.

अनलॉक-1 में स्थिति और सुधरी : एक जून से अनलॉक-1 की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है. अनलॉक के साथ ही शहर की आर्थिक गतिविधियां काफी बढ़ गयी हैं. सड़कों पर वाहन लौट आये हैं, लेकिन इसके बाद भी प्रदूषण का स्तर सामान्य है. कई जगहों पर हवा में मौजूद प्रदूषक तत्व लॉकडाउन के समय से भी कम हो गये हैं. एक अप्रैल से 31 मई तक एक्यूआइ का स्तर 148 से 95 के बीच था, जो अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होने के 24 दिनों के बाद घटकर 49 हो गया है. हालांकि झरिया में 95 और निरसा में 126 एक्यूआइ बुधवार को बना हुआ है. शेष सभी जगहों पर एक्यूआइ का स्तर 49 पर था.

35 प्रतिशत तक कम पीएम 10 का स्तर : धनबाद में प्रदूषण का सबसे बड़ा स्रोत पीएम 10 है. अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होने के बाद से अब धनबाद के वातावरण में पीएम 10 का स्तर 35 प्रतिशत कम हो गया है. 31 मई को जामाडोबा स्थित झारखंड प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा स्थापित रियल टाइम एयर क्वालिटी मॉनीटरिंग स्टेशन के आंकड़ों के अनुसार बुधवार की शाम सात बजे पीएम 10 का स्तर 66.4 था. जबकि 31 मई को यह स्तर 102.4 माइक्रो ग्राम प्रति घन मीटर था. हालांकि अनलॉक-1 के शुरुआती दिनों में पीएम 10 के स्तर में उछाल देखा गया था, लेकिन 11 जून से इसका स्तर 100 माइक्रो ग्राम प्रति घन मीटर से नीचे बना हुआ है.

क्या होता है एक्यूआइ

एयर क्वालिटी इंडेक्स किसी स्थान विशेष की वायु की गुणवत्ता को बताता है. यह बताता है कि वायु में नाइट्रोजन डाइऑक्साइड, कार्बन मोनोऑक्साइड और सल्फर डाइऑक्साइड की मात्रा विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा तय किये गये मापदंड से अधिक है या नहीं.

दिन एक्यूआइ पीएम 10

11 जून 94 98.4

12 जून 92 98.2

13 जून 89 94.4

14 जून 86 92.6

15 जून 82 88.6

16 जून 81 86.8

17 जून 81 88.4

18 जून 82 87.6

दिन एक्यूआइ पीएम 10

19 जून 78 85.2

20 जून 70 81.6

21 जून 64 78.6

22 जून 58 72.6

23 जून 53 70.2

24 जून 49 66.4

पिछले तीन महीने के दौरान धनबाद में प्रदूषण के स्तर में निश्चित तौर पर कमी आयी है. यह आप खुद महसूस कर सकते हैं. वातावरण में विजिब्लिटी काफी साफ हो गयी है. इसकी मुख्य वजह सड़कों पर अब भी वाहन सामान्य दिनों जैसे नहीं आ रहे हैं. दूसरी मौसम है. यहां प्रतिदिन थोड़ी बहुत बारिश हो रही है. बारिश की वजह से धूल कण लंबे समय तक हवा में नहीं रह पाते हैं.

प्रो (डॉ) गुरदीप सिंह, पर्यावरणविद

posted by : Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें